Home » Latest » दिल्ली में भी हुईं किसानों के समर्थन में सभाएं
Meetings held in support of farmers in Delhi too

दिल्ली में भी हुईं किसानों के समर्थन में सभाएं

Meetings held in support of farmers in Delhi too

नई दिल्ली, 07 फरवरी 2021. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, दिल्ली राज्य परिषद के आवाहन पर पूरी दिल्ली में पुलिस पाबंदियों के बाद भी किसान संगठनों के तीन काले कृषि कानूनों के विरुद्ध चक्का जाम के पूर्ण समर्थन में रैली, मीटिंगों का आयोजन किया गया जिसमें एटक,अखिल भारतीय नौजवान सभा, अखिल भारतीय छात्र फेडरेशन, दिल्ली महिला फेडरेशन, दिल्ली राज्य  ने भी बढ़ चढ़ कर भाग लिया।

पूर्वी दिल्ली जिले मे शकरपुर में सीपीआई,एआईवाईएफ,दिल्ली महिला फेडरेशन (सम्बंधित एनएफआईडब्लू) व एआईएसएफ ने रैली निकाली जिसका नेतृत्व केहर सिंह सचिव, सीपीआई पूर्वी दिल्ली जिला, शशि कुमार सचिव दिल्ली राज्य नौजवान सभा, अलका श्रीवास्तव सचिव दिल्ली महिला फेडरेशन, प्रिया डे आदि ने किया।

पश्चिम दिल्ली के मंगोलपुरी एक आम सभा किसान चक्का जाम के समर्थन में सीपीआई पश्चिमी दिल्ली जिला, एटक व दिल्ली महिला फेडरेशन ने किया.इस सभा को  शंकर लाल सीपीआई जिला सचिव, मुकेश कश्यप, विकास शर्मा  एटक नेता, रेहाना बेग़म, रामा शर्मा  जिला नेतृत्व दिल्ली महिला फेडरेशन आदि ने किया।

उत्तर पूर्वी दिल्ली जिले में दिलशाद गार्डन जैन मंदिर इलाके में सीपीआई व दिल्ली महिला फेडरेशन ने  रैली निकाल किसानों की मांगो का समर्थन किया. रैली का नेतृत्व अबसार अहमद सचिव, राजकुमार सहायक सचिव सीपीआई उत्तर पूर्वी दिल्ली जिला, राम प्रसाद अत्रि, पुत्तू लाल आदि ने किया ।

ऐतिहासिक सब्ज़ी मंडी घंटा घर चौक पे  सीपीआई उत्तरी दिल्ली जिले ने स्टैंड अप कार्यक्रम कर किसानों के चक्का जाम को समर्थन दिया। इसमें विवेक श्रीवास्तव, सचिव, संजीव राणा सहायक सचिव भा क प उत्तरी दिल्ली जिला, धीरन्द्र तिवारी नौजवान सभा आदि ने लिया।

गाजीपुर बॉर्डर किसान विरोध प्रदर्शन स्थल पे एआईएसएफ दिल्ली राज्य ने 9 दिनों से स्थाई कैम्प लगा रखा है. आज इस कैम्प को हज़ारों किसानों ने आकर खूब सराहा। इस केम्प को 24 घंटे अभीप्सा चौहान सचिव ए आई एस एफ़ दिल्ली राज्य, खुश्बू शर्मा, शिजो एस एफ नेता व संजय यूपी एसएफ नेता कर रहें हैं ।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

shahnawaz alam

अदालतों का राजनीतिक दुरुपयोग लोकतंत्र को कमज़ोर कर रहा है

Political abuse of courts is undermining democracy असलम भूरा केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.