मोदी प्रधानमंत्री की तरह बर्ताव नहीं करते, संसद में हमें बोलने की इजाजत नहीं दी जा रही – राहुल

Rahul Gandhi at Bharat Bachao Rally

Modi does not behave like Prime Minister, we are not being allowed to speak in Parliament – Rahul

नई दिल्ली, 07 फरवरी 2020. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राहुल गांधी को लेकर ट्यूबलाइट वाले ओछे तंज पर श्री गांधी ने आज कहा कि मोदी प्रधानमंत्री की तरह बर्ताव नहीं करते हैं।

श्री गांधी ने संसद के बाहर पत्रकारों से कहा, आम तौर पर एक प्रधानमंत्री का विशेष दर्जा होता है, एक प्रधानमंत्री खास तरीके से बर्ताव करता है, उनका एक विशेष कद होता है, लेकिन हमारे प्रधानमंत्री में ये चीजें नहीं हैं।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मोदी प्रधानमंत्री जैसा बर्ताव नहीं करते हैं।

राहुल ने कहा, हमें दबाया जा रहा है और संसद में हमें बोलने की इजाजत नहीं दी जा रही है।

उन्होंने कहा कि वायनाड में मेडिकल कॉलेज का मुद्दा था, जिसे मैं सदन में उठाना चाहता था। अगर मैं बोलता तो स्पष्ट रूप से भाजपा इसे पसंद नहीं करती। हमें संसद में बोलने की अनुमति नहीं है। आप वीडियो देखिए मणिकम टैगोर (कांग्रेस सांसद) ने किसी पर हमला नहीं किया, बल्कि उन पर हमला किया गया।

इससे एक दिन पहले राहुल ने कहा था कि देश को असल मुद्दों से भटकाना प्रधानमंत्री मोदी की शैली है. वे कांग्रेस की बात करते हैं, जवाहरलाल नेहरू की बात करते हैं, पाकिस्तान पर बोलते हैं, लेकिन मुख्य मुद्दों पर नहीं बोलते।

आज सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी और नौकरियों का है. हमने प्रधानमंत्री से कई बार पूछा, लेकिन उन्होंने इस पर एक शब्द भी नहीं कहा। इससे पहले वित्त मंत्री ने लंबा भाषण दिया, लेकिन वे भी इस पर कुछ नहीं बोलीं।

श्री गांधी ने बाद में ट्वीट कर कहा,

“आज संसद में जो हंगामा हुआ, वह मुझे सरकार से सवाल करने से रोकने के लिए किया गया था। भारत के युवा देख सकते हैं कि बेरोजगारी संकट से निपटने के लिए प्रधानमंत्री के पास कोई सुराग नहीं है। उनकी रक्षा के लिए, भाजपा बहस को रोकते हुए संसद को बाधित करती रहेगी।“

क्या है पूरा मामला

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने प्रश्नकाल के दौरान लोकसभा में अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सवाल पूछा। लेकिन सवाल का जवाब देने की बजाय प्रश्नकाल के दौरान स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, पीएम मोदी को लेकर राहुल गांधी द्वारा दिए गए एक बयान की निंदा करने लगे। जबकि उन्हें राहुल गांधी के सवालों का जवाब देना चाहिए था, क्योंकि प्रश्नकाल के दौरान आपको अन्य मुद्दा नहीं उठा सकते हैं।

कांग्रेस सांसदों के विरोध के बावजूद हर्षवर्धन बोलते रहे। जब कांग्रेस सांसदों ने कड़ा विरोध जताया तो बीजेपी के सांसद अपनी सीट से टिप्पणी करने लगे। जब कांग्रेस सांसदों ने उन्हें रोका तो बीजेपी सांसदों ने धक्का-मुक्की शुरू कर दी। हंगामा बढ़ता देख लोकसभा स्पीकर ने सदन की कार्यवाही दोपहर 1 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। इसके बाद लोकसभा की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई।

पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें
 

Leave a Reply