शाहनवाज आलम की चुनौती – गोरखपुर दंगे और विकास दुबे की हत्या पर योगी पहले कराएं अपना नार्को टेस्ट

Shahnawaz Alam Yogi Adityanath

हाथरस के पीड़ित परिवार का नार्को टेस्ट कराना जले पर नमक छिड़कने जैसा- शाहनवाज़ आलम

लखनऊ, 3 अक्टूबर 2020। अल्पसंख्यक कांग्रेस चेयरमैन शाहनवाज़ आलम (Minority Congress Chairman Shahnawaz Alam) ने हाथरस की पीड़िता के परिजनों की नार्को टेस्ट कराने के योगी सरकार के आदेश (Yogi government orders for conducting narco test of the family of the victim of Hathras) की कड़ी निंदा करते हुए इसे जले पर नमक छिड़कना बताया है।

शाहनवाज़ आलम ने कहा है कि मुख्यमंत्री न सिर्फ हाथरस की बेटी को न्याय देने में विफल रहे हैं बल्कि उनके परिजनों को ही अपमानित करने पर तुले हैं। मुख्यमंत्री जी का खुले आम बलात्कारियों के पक्ष में खड़ा हो जाना शर्मनाक है। जिसे प्रदेश की जनता बर्दाश्त नहीं करेगी।

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि अगर योगी जी में साहस है तो वो सबसे पहले गोरखपुर और मऊ दंगे में अपनी भूमिका पर ही नार्को टेस्ट करा दें। उन्हें विकास दुबे की कथित कार पलटने के मामले में भी अपना नार्को टेस्ट करा लेना चाहिए, ताकि इस हत्या में उनकी भूमिका साफ हो सके।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

Leave a Reply