Home » Latest » लाशों के ढेर पर उत्सव मनाने वाले पहले प्रधानमंत्री बने नरेंद्र मोदी !
Narendra Modi flute

लाशों के ढेर पर उत्सव मनाने वाले पहले प्रधानमंत्री बने नरेंद्र मोदी !

Narendra Modi becomes the first Prime Minister to celebrate on a pile of corpses!

लखनऊ, 11 अप्रैल 2021. समाजवादी पार्टी के नेता आईपी सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘टीका उत्‍सव’ (Coronavirus Teeka Utsav) कार्यक्रम पर जोरदार प्रहार किया है।

बता दें देश में कोरोना वायरस संक्रमण की बेकाबू रफ्तार के बीच आज से चार दिवसीय ‘टीका उत्‍सव’ शुरू किया जा रहा है। आज (11 अप्रैल) से शुरू हो रहा टीका उत्‍सव चार दिनों 14 अप्रैल तक चलेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा, ‘हम आज देशभर में ‘टीका उत्सव’ शुरू करने जा रहे हैं। मैं देशवासियों से आग्रह करता हूं कि वे 4 बातें का पालन करें- जिन लोगों को टीका लगवाने में मदद की जरूरत है, उनकी सहायता करें; कोविड-19 के उपचार में लोगों की मदद करें; मास्क पहनें तथा दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें और यदि कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो क्षेत्र में लघु-कंटेनमेंट जोन बनाएं।’

इस ‘टीका उत्‍सव’ पर समाजवादी पार्टी के नेता आईपी सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला है।

आईपी सिंह ने ट्वीट किया,

“लाशों के ढेर पर उत्सव मनाने वाले पहले प्रधानमंत्री बने नरेंद्र मोदी।”

छोड़ी ही देर में आईपी सिंह का ट्वीट वायरल हो गया।

आईपी सिंह के ट्वीट के उत्तर में Abhishek S. Choudhary ने लिखा,

“चुनाव के साथ साथ अब आईपीएल शुरू हो चुका है।  नेता, मीडिया, पत्रकार  चुनाव  के साथ मैच में भी  उत्साह बढाएंगे । दिन में मोदी जी का भाषण सुने और रात में आईपीएल देखे। डेढ़ लाख पार मामले, 800 से ज्यादा मौते हो रही किसे परवाह है।”

बता दें कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 अप्रैल को राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों के साथ बैठक बुलाई थी, जिसमें उन्‍होंने 11 अप्रैल से 14 अप्रैल के बीच ‘टीका उत्‍सव‘ मनाने की अपील मुख्‍यमंत्रियों से की थी।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

gairsain

उत्तराखंड की राजधानी का प्रश्न : जन भावनाओं से खेलता राजनैतिक तंत्र

Question of the capital of Uttarakhand: Political system playing with public sentiments उत्तराखंड आंदोलन की …

Leave a Reply