एनसीपी नेता डीपी त्रिपाठी अब नहीं रहे

NCP leader DP Tripathi is no more

नई दिल्ली, 02 जनवरी 2020. वरिष्ठ एनसीपी नेता डीपी त्रिपाठी अब नहीं रहे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पूर्व सांसद डीपी त्रिपाठी का लंबी बीमारी के बाद दिल्ली में निधन हो गया।

डीपी त्रिपाठी 1975-76 के दौरान JNU छात्र संघ (JNUSU) के अध्यक्ष थे, जब भारत में आपातकाल घोषित किया गया था। उन्हें नवंबर 1975 में गिरफ्तार किया गया था।

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने ट्वीट किया,

“मेरे मित्र दार्शनिक और सदा पथप्रदर्शक, अपरिवर्तनीय, गुप्त और बौद्धिक डीपी त्रिपाठी अब नहीं रहे। RIP प्रोफेसर आपने हमें छोड़ दिया है जब इस देश को शायद आपकी सबसे ज्यादा जरूरत थी।“

माकपा महासचिव और जेएनयू चात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कॉमरेड सीताराम येचुरी ने कहा,

“डीपी त्रिपाठी: कॉमरेड, साथी-छात्र, साथी-यात्री और भी बहुत कुछ। विश्वविद्यालय से और ठीक उसके अंतिम दिनों तक जब तक हम बोलते रहे, बहस करते रहे, असहमत रहे और एक साथ बहुत कुछ सीखा। आपको याद किया जाएगा, मेरे दोस्त। दिल से संवेदना।“

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations