Home » समाचार » देश » Corona virus In India » प्रधानमंत्री की राष्ट्र के नाम लफ्फाजी के बीच भारत में कोरोना के करीब तीन लाख नए मामले, दो हजार से ज्यादा मौतें
COVID-19 news & analysis

प्रधानमंत्री की राष्ट्र के नाम लफ्फाजी के बीच भारत में कोरोना के करीब तीन लाख नए मामले, दो हजार से ज्यादा मौतें

Nearly three lakh new cases of corona in India, more than two thousand deaths

नई दिल्ली, 21 अप्रैल 2021. कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन के बीच अब भारत में बुधवार को पिछले 24 घंटों में 2,95,041 नए मामलों का एक और रिकॉर्ड बना है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को जो आंकड़ें जारी किए हैं उनके मुताबिक, देश में कुल कोरोना मामलों की संख्या 1.56 करोड़ के पार हो गई है। इसी अवधि में भारत में 2,023 मौतों की रिकॉर्ड संख्या भी दर्ज की गई।

पिछले साल महामारी की शुरुआत के बाद पहली बार मरने वालों की संख्या 2,000 से अधिक आई है, जिससे देश में अब तक कुल 1,82,553 लोगों की मृत्यु हो गई है। भारत में मंगलवार को 1,761 लोगों की मौत की सूचना दी थी।

पिछले सात दिनों से देश भर में प्रतिदिन 2 लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। भारत में 20 अप्रैल को 2,59,170 मामले, 19 अप्रैल को 2,73,510, 18 अप्रैल को 2,61,500, 17 अप्रैल को 2,34,692, 16 अप्रैल को 2,17,353 और 15 अप्रैल को 2,00,739 मामले दर्ज किए।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि पिछले 24 घंटों में कुल 16,39,357 नमूनों का टेस्ट किया गया। देश में अब तक कुल 27,10,53,392 नमूनों का टेस्ट किया जा चुका है।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, इस अवधि में कुल 29,90,197 लोगों को भी टीका लगाया गया, कुल टीका की संख्या 13,01,19,310 हो गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 62,097 नए मामले सामने आये, इसके बाद उत्तर प्रदेश में 29,574 मामले और दिल्ली में 28,395 मामले और कर्नाटक में 21,794 मामले सामने आए।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

gairsain

उत्तराखंड की राजधानी का प्रश्न : जन भावनाओं से खेलता राजनैतिक तंत्र

Question of the capital of Uttarakhand: Political system playing with public sentiments उत्तराखंड आंदोलन की …

Leave a Reply