Home » Latest » अलीगढ़ के मुस्लिम ताले वाले थे पीएम मोदी के पिता जी के दोस्त – पीएम मोदी ने खुद सुनाया बचपन का किस्सा

अलीगढ़ के मुस्लिम ताले वाले थे पीएम मोदी के पिता जी के दोस्त – पीएम मोदी ने खुद सुनाया बचपन का किस्सा

अलीगढ़ के मुस्लिम ताले,पीएम मोदी के पिता,पीएम मोदी के पिता जी के दोस्त,राजा महेंद्र प्रताप सिंह के बारे में राजनीति,राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय की आधारशिला,अलीगढ़ के डिफेंस कॉरिडोर की नींव

The Muslim locksmiths of Aligarh were friends of PM Modi’s father – PM Modi himself narrated the story of childhood

Aligarh, which was known for making locks to protect homes, will now play a key role in protecting the country’s borders.

अलीगढ़ (उत्तर प्रदेश), 14 सितंबर 2021. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि अलीगढ़, जो घरों की सुरक्षा के लिए ताले बनाने के लिए जाना जाता था, अब देश की सीमाओं की सुरक्षा में अहम भूमिका निभाएगा।

यहां डिफेंस कॉरिडोर का उद्घाटन करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि अलीगढ़ के डिफेंस कॉरिडोर की नींव (Foundation of Defense Corridor of Aligarh) राधा अष्टमी के शुभ अवसर पर रखी जा रही थी, जिसने इस अवसर को और अधिक पवित्र बना दिया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब तक रक्षा उपकरणों का आयात एक नियम था, लेकिन रक्षा गलियारे की स्थापना के साथ, भारत जल्द ही रक्षा उपकरणों का निर्यात करने की स्थिति में होगा।

उन्होंने कहा,

भारत ना केवल रक्षा मामलों में आत्मनिर्भर बनेगा, बल्कि इस क्षेत्र में एक प्रमुख निर्यातक भी बनेगा।”

राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय की आधारशिला भी रखी प्रधानमंत्री ने | The Prime Minister also laid the foundation stone of Raja Mahendra Pratap Singh State University.

इस दौरान श्री मोदी ने कहा कि विश्वविद्यालय आधुनिक शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करेगा और रक्षा अध्ययन और रक्षा अनुसंधान के केंद्र के रूप में उभरेगा।

राजा महेंद्र प्रताप सिंह के बारे में राजनीति | Politics about Raja Mahendra Pratap Singh

राजा महेंद्र प्रताप सिंह के बारे में बात करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि वह एक स्वतंत्रता सेनानी थे, जिन्हें पिछली सरकारों ने भुला दिया था।

उन्होंने कहा, “सपने देखने वाले हर युवा को राजा महेंद्र प्रताप सिंह के बारे में जानना चाहिए और उनके जीवन से सीख लेनी चाहिए। आज हम नई पीढ़ी को इन आदशरें से परिचित कराने का प्रयास कर रहे हैं, जबकि देश अमृत महोत्सव मनाता है।”

पीएम ने कहा कि अलीगढ़ में डिफेंस नोड और राजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय जल्द ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश को बदल देगा।

योगी आदित्यनाथ सरकार की सराहना की प्रधानमंत्री ने

नई कार्य संस्कृति बनाने और विकास के उत्प्रेरक के रूप में कार्य करने के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार की सराहना करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश को एक नया चेहरा दिया है, जो पहले केवल भ्रष्टाचार और घोटालों के लिए जाना जाता था।

अपने बचपन के एक किस्से को याद करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि अलीगढ़ से हर तीन महीने में एक मुस्लिम व्यक्ति ताले बेचने के लिए उनके गांव आता था।

उन्होंने कहा,

बचपन में, मैं तालों की वजह से अलीगढ़ और सीतापुर के बारे में जानता था, क्योंकि हर कोई आंखों के इलाज के लिए सीतापुर जाता था। आज अलीगढ़ बहुत बड़े क्षेत्र में नाम कमाने के लिए तैयार है।”

प्रधानमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय कल्याण सिंह को भी याद किया और कहा कि उनकी अनुपस्थिति को गहराई से महसूस किया जा रहा है।

इससे पहले, प्रधानमंत्री ने प्रस्तावित रक्षा नोड और राज्य विश्वविद्यालय के मॉडल देखे।

विश्वविद्यालय की स्थापना राज्य सरकार द्वारा महान स्वतंत्रता सेनानी, शिक्षाविद् और समाज सुधारक राजा महेंद्र प्रताप सिंह की स्मृति और सम्मान में की जा रही है।

कहां बन रहा है राजा महेंद्र प्रताप सिंह की स्मृति में विश्वविद्यालय | Where is the university being built in memory of Raja Mahendra Pratap Singh?

विश्वविद्यालय अलीगढ़ की कोल तहसील के लोढ़ा गांव और मुसेपुर करीम जरौली गांव में कुल 92 एकड़ से अधिक क्षेत्र में स्थापित किया जाएगा। विश्वविद्यालय अलीगढ़ के 395 महाविद्यालयों को संबद्धता प्रदान करेगा।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

political prisoner

“जय भीम” : जनसंघर्षों से ध्यान भटकाने का एक प्रयास

“जय भीम” फ़िल्म देख कर कम्युनिस्ट लोट-पोट क्यों हो रहे हैं? “जय भीम” फ़िल्म आजकल …

Leave a Reply