Home » Latest » अंग्रेजों के मुखबिरों की सरकार के खिलाफ मोदी गद्दी छोड़ो आंदोलन : सुमन

अंग्रेजों के मुखबिरों की सरकार के खिलाफ मोदी गद्दी छोड़ो आंदोलन : सुमन

मोदी गद्दी छोड़ो आंदोलन

 Modi Quit Gaddi Movement against the government of British informers

बाराबंकी। आज 9 अगस्त देश के स्वतंत्रता संग्राम में ऐतिहासिक दिन है, आज के ही दिन अंग्रेजों भारत छोड़ो का नारा दिया गया था, जिससे अंग्रेजी सरकार भाग गई थी। आज पूरे देश में अंग्रेजों के मुखबिरों की सरकार के खिलाफ मोदी गद्दी छोड़ो और किसान आन्दोलन के समर्थन में प्रदर्शन किया गया है।

यह विचार आल इण्डिया किसान सभा के बैनर तले निकाले गये जलूस के प्रदर्शन कारियों को सम्बोधित करते हुए राज्य उपाध्यक्ष रणधीर सिंह सुमन ने व्यक्त किए।

सुमन ने कहा कि 2022 के चुनाव में किसान की खाल उधेड़ देने का नारा देने वाली सरकार की विदाई हो जायेगी।

प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव बृजमोहन वर्मा ने कहा कि किसानों के खेत इस आवारा सरकार में आवारा सांड चर रहे हैं।

किसान सभा के जिला अध्यक्ष विनय कुमार सिंह ने कहा कि देशी अंग्रेजों भारत छोड़ो, बेरोजगारों को काम दो, पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य कम करो, लेकिन यह सरकार मनुष्यता विरोधी सरकार है, किसान मजदूर विरोधी सरकार है, इसलिए आम आदमी का महंगाई के कारण जीना मुश्किल हो गया है।

प्रदर्शनकारियों में प्रमुख लोग डॉ कौसर हुसैन, शिव दर्शन वर्मा, प्रवीण कुमार, राम नरेश वर्मा, महेन्द्र यादव, आशीष शुक्ला, संदीप तिवारी, दल सिंगार, नैमिष कुमार, सुरेश वर्मा, मुनेश्वर गोस्वामी, राजेन्द्र बहादुर सिंह, अलाउद्दीन, श्याम सिंह, अंकुल वर्मा, पंडित आकाश बाजपेई, स्वप्निल वर्मा, अम्बर सिंह आदि प्रमुख किसान नेता शामिल थे, अंत में अतिरिक्त जिलाधिकारी संदीप गुपता ने आकर राष्ट्रपति के नाम सम्बोधित ज्ञापन को लिया। 

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

updates on the news of the country and abroad breaking news

एक क्लिक में आज की बड़ी खबरें । 15 मई 2022 की खास खबर

ब्रेकिंग : आज भारत की टॉप हेडलाइंस Top headlines of India today. Today’s big news …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.