Home » Latest » अखिलेश यादव की गिरफ्तारी बीजेपी को पड़ेगी भारी : राकेश सिंह राना

अखिलेश यादव की गिरफ्तारी बीजेपी को पड़ेगी भारी : राकेश सिंह राना

 डॉ राकेश सिंह राना ने कहा कि सरकार की गुंडागर्दी से सपा के कार्यकर्ता एवं किसान डरेंगे नहीं, बल्कि जनता के बीच जाकर भाजपा के चरित्र को उजागर करेंगे।

 Akhilesh Yadav’s arrest will cost BJP: Rakesh Singh Rana

हाथरस 04 अक्तूबर 2021. समाजवादी पार्टी के पूर्व एमएलसी राकेश सिंह राना ने कहा है कि दिनांक 3 अक्टूबर 2021 को शांति पूर्वक डिप्टी सी एम का विरोध कर रहे किसानों को जिस प्रकार वाहन द्वारा कुचल कर हत्या की गयी, उसकी जितनी निंदा की जाए कम है।

उन्होंने कहा कि किसान विरोधी तीनों कानूनों को लगभग एक वर्ष से वापस लेने पर किसान अड़े हैं, इससे भाजपा सरकार आंदोलन को खत्म करने के लिये गुंडागर्दी पर उतर आई है। भाजपा सरकार का लोकतंत्र से विश्वास उठ चुका है इसीलिए घटना स्थल पर मरे हुए व घायल किसानों के शोकाकुल परिवारों से शोक संवेदना व्यक्त करने एवं किसानों के हक की आवाज उठाने के लिये समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय अखिलेश यादव जी को जाने से रोकने के लिये घर के बाहर पुलिस लगाकर घर में नजरबंद करना लोकतंत्र की हत्या एवं पूर्णतः तानाशाही रवैया है।

डॉ राना ने कहा कि सरकार की गुंडागर्दी से सपा के कार्यकर्ता एवं किसान डरेंगे नहीं, बल्कि जनता के बीच जाकर भाजपा के चरित्र को उजागर करेंगे।

उन्होंने कहा कि हम मांग करते हैं कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री को तुरंत हटाया जाए और कानून व्यवस्था न संभाल पाने के कारण मुख्यमंत्री को भी नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

badal saroj

कृषि कानूनों का निरस्तीकरण : गाँव बसने से पहले ही आ पहुँचे उठाईगीरे

क़ानून वापसी के साथ-साथ कानूनों की पुनर्वापसी की जाहिर उजागर मंशा किसानों ने हठ, अहंकार …

Leave a Reply