Home » Latest » यूपी में कांग्रेस का प्रशिक्षण से पराक्रम महाभियान का दूसरा चरण, 30 हज़ार पदाधिकारियों के प्रशिक्षण का लक्ष्य

यूपी में कांग्रेस का प्रशिक्षण से पराक्रम महाभियान का दूसरा चरण, 30 हज़ार पदाधिकारियों के प्रशिक्षण का लक्ष्य

Second phase of Prashikshan se Parakram campaign of of Congress in UP, target of training 30 thousand office bearers

15-30 सितंबर, 100 कैंप, 30,000 पदाधिकारी और कार्यकर्ता

लखनऊ, 14 सितंबर 2021. कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा के यूपी दौरे से उत्तर प्रदेश कांग्रेस में नई जान आ गई है। पार्टी अब आगामी 15 सितम्बर से प्रशिक्षण से पराक्रम महाअभियान का दूसरा चरण शुरू करने जा रही है। इस चरण में पार्टी 100 ट्रेनिंग कैम्पों को आयोजित करेगी। इन प्रशिक्षण शिविरों में तकरीबन 30 हज़ार पदाधिकारी प्रशिक्षित किए जाने हैं।

सूत्रों के मुताबिक इसके लिए प्रदेश मुख्यालय में जुलाई माह से ही एक विशेष ट्रेनिंग टास्क फोर्स का गठन किया गया है जो अनवरत प्रशिक्षण के कार्य को अंजाम दे रही है।

पहले चरण में 25 हज़ार कार्यकर्ताओं को दिया गया था प्रशिक्षण

प्रशिक्षण से पराक्रम महाभियान के पहले चरण में कांग्रेस ने अपने तकरीबन 25 हज़ार कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया था। 11 दिनों तक जिलावार चले इस अभियान के पहले चरण में चालीस सदस्यीय सात मास्टर ट्रेनर टीमों ने यूपी के सभी जिलों में जिला और शहर कमेटियों के पदाधिकारियों के साथ ब्लाक अध्यक्षों, वार्ड अध्यक्षों और न्याय पंचायत अध्यक्षों को प्रशिक्षित किया था।अब यह अभियान विधानसभावार शुरू हो रहा है। 

गौरतलब है कि इस अभियान के तहत कांग्रेस ने 700 प्रशिक्षण शिविरों के जरिये 2 लाख पदाधिकारियों को प्रशिक्षित करने का महाभियान शुरू किया है। यह महाभियान चार चरणों में पूरा होगा। 

बूथ मैनेजमेंट पर फ़ोकस, सोशल मीडिया और विचारधारा पर गंभीर प्रशिक्षण

इस प्रशिक्षण शिविर में पांच विभिन्न विषयों पर ट्रेनिंग दी जा रही है। बूथ मैनेजमेंट पर विशेष फोकस किया जा रहा है। साथ ही साथ सोशल मीडिया के बेहतरीन उपयोग के लिए पदाधिकारियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है।

 इन दो विषयों के अलावा कांग्रेस की विचारधारा, भाजपा- आरएसएस का सच और किसने बिगाड़ा उत्तर प्रदेश नाम से तीन अलग-अलग कार्यशाला आयोजित की जा रही है।

 ‘किसने बिगाड़ा यूपी’ के अंतर्गत भाजपा के अलावा सपा-बसपा राज की कमियों को उजागर करने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है। 

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

news

एमएसपी कानून बनवाकर ही स्थगित हो आंदोलन

Movement should be postponed only after making MSP law मजदूर किसान मंच ने संयुक्त किसान …

Leave a Reply