महंगाई के खिलाफ आज़मगढ़ में हुआ प्रदर्शन

 

Demonstration in Azamgarh against inflation

आज़मगढ़, 08 जुलाई 2021. संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर देश में लगातार बढ़ती हुई पेट्रोल, डीजल,रसोई गैस व अन्य आवश्यक वस्तुओं के मूल्यों में हुई बेतहाशा वृद्धि पर भारी नाराजगी व्यक्त किया गया।

मोर्चे के आह्वान पर जिलाधिकारी आज़मगढ़ के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन देते हुए आज़मगढ़ जिले के किसान, छात्र, नौजवान संगठनों के प्रतिनिधियों ने देशव्यापी विरोध प्रदर्शन का समर्थन किया।

प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि – डीजल, पेट्रोल ,रसोई गैस सहित अन्य आवश्यक वस्तुओं में हुई बेतहाशा वृद्धि को वापस लिया जाए, तीनों किसान विरोधी काले कानून वापस हो, बिजली बिल 2020 वापस हो, किसान आंदोलन में भाग लेने वालों का उत्पीड़न बंद किया जाए, किसान आंदोलन में मारे गए किसानों के परिवारों को समुचित मुआवजा दिया जाए।

विरोध प्रदर्शन में जनवादी लोक मंच के रवींद्र नाथ राय, किसान सभा के वेद प्रकाश उपाध्याय, किसान महासभा के विनोद सिंह, रिहाई मंच के राजीव यादव, उत्तर प्रदेश खेत मजदूर यूनियन के जियालाल व कामरेड रामबृक्ष और अखिल भारतीय प्रगतिशील छात्र मंच के राहुल सहित अम्बिका पटेल, रामनिहोर, विनोद  यादव, हीरालाल यादव आदि लोग उपस्थित रहें।

कलेक्ट्रेट परिसर में मार्च निकालकर महंगाई के खिलाफ नारेबाजी करते हुए,पेट्रोलियम पदार्थों की मूल्य वृद्धि वापस लो,कंपनियों की मुनाफाखोरी बंद करो, काले कृषि कानून वापस लो, बिजली बिल2020 वापस लो, किसानों-मजदूरों व मेहनतकशों का उत्पीड़न बंद करो, संयुक्त किसान मोर्चा जिंदाबाद, किसान-मजदूर-छात्र-कर्मचारी एकता जिंदाबाद, इंकलाब जिंदाबाद के नारे लगाए गए।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner