दारापुरी आइपीएफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष व डॉ परमानंद पाल महासचिव चुने गए

 | 
योगी राज में महिलाओं की कत्लगाह का बना उत्तर प्रदेश –  दारापुरी

आइपीएफ की अखिल भारतीय फ्रंट कमेटी की बैठक में हुआ फैसला

4 अक्टूबर को दिल्ली में भूमि सुधार व अन्य मुद्दों पर होगा सम्मेलन

Darapuri elected IPF's National President and Dr. Parmanand Pal General Secretary

लखनऊ्र, 21 अगस्त 2021, आज आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट की अखिल भारतीय फ्रंट कमेटी की बैठक में पूर्व आईजी एस. आर. दारापुरी को राष्ट्रीय अध्यक्ष, बिहार के प्रसिद्ध डाक्टर परमानंद प्रसाद पाल को राष्ट्रीय महासचिव और कनार्टक के प्रसिद्ध मजदूर नेता राधवेन्द्र कुस्तगी को उपाध्यक्ष चुना गया। इसके अलावा चार अन्य पदाधिकारियों और 21 सदस्यी केन्द्रीय वर्किंग कमेटी का भी चुनाव किया गया।

बैठक में उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र की रक्षा व जनमुद्दों पर जनता से संवाद कायम करने और जनांदोलन तेज करने का निर्णय हुआ।

बैठक में जारी किसान आंदोलन में और भी मजबूती से हिस्सेदारी करने और 4 अक्टूबर को दिल्ली के कांन्स्टिट्यूशन क्लब में भूमि सुधार, सहकारी खेती की मजबूती, सार्वभौमिक व सुलभ शिक्षा व स्वास्थ्य व्यवस्था और कोल समेत आदिवासी का दर्जा न पाने वाली जातियों को जनजाति का दर्जा जैसी मांगों पर मजदूर किसान मंच के बैनर परं सम्मेलन करने का निर्णय हुआ।

इस सम्मेलन में उत्तर प्रदेश, बिहार, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ व झारखण्ड से पचास प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे। इसके अलावा राजस्थान, पंजाब, हरियाणा समेत देश के अन्य राज्यों से प्रतिनिधि रहेंगे।

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription