विपक्षी दलों के साथ आज बैठक करेंगी सोनिया गांधी

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी विपक्षी दलों के साथ कई मुद्दों पर चर्चा के लिए आज बैठक करेंगी।
 | 
सोनिया गांधी का लेख : मनरेगा क्यों जरूरी है और मोदी सरकार लाख कोशिशों के बावजूद क्यों खत्म नहीं कर पाई इसे
Sonia Gandhi to hold meeting with opposition parties today

नई दिल्ली, 20 अगस्त 2021. कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी विपक्षी दलों के साथ कई मुद्दों पर चर्चा के लिए आज बैठक करेंगी।

सूत्रों के अनुसार, सोनिया गांधी संसद के हाल ही में संपन्न मानसून सत्र सहित मुद्दों पर चर्चा के लिए विपक्षी पार्टी के नेताओं के साथ बैठक की अध्यक्षता करेंगी।

सूत्रों ने कहा कि कम से कम 18 विपक्षी दलों के मुद्दों पर चर्चा करने के लिए वर्चुअली मिलने का कार्यक्रम है, जिसमें आर्थिक मंदी, कोविड -19 महामारी का कथित कुप्रबंधन, पेगासस स्पाइवेयर विवाद और किसानों का विरोध जैसे मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। इन मुद्दों ने हाल ही में समाप्त हुए सत्र को झकझोर कर रख दिया था।

सोनिया गांधी द्वारा बुलाई गई बैठक को गांधी परिवार द्वारा विपक्ष के बीच सेंट्रल फिगर के रूप में अपनी स्थिति को फिर से स्थापित करने के लिए उठाए गए कदम के रूप में देखा जा रहा है।

मानसून सत्र के दौरान पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने नाश्ते पर विपक्ष के कई नेताओं से मुलाकात की थी।

इससे पहले कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने भी 9 अगस्त को एक डिनर पार्टी का आयोजन किया था, जिसमें कई शीर्ष विपक्षी नेताओं ने भाग लिया था। समझा जा रहा था कि सिब्ब्ल का डिनर कांग्रेस नेतृत्व को चुनौती देने के लिए था।

हालांकि आज सिब्बल ने ट्वीट कर कहा, "राजीव गांधी की 77वीं जयंती। इस बात की खुशी है कि सोनिया गांधी इस दिन विपक्षी नेताओं से मुलाकात कर महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करेंगी। राजीव गांधी ने भारत के आधुनिकीकरण के युग की शुरूआत की और प्रौद्योगिकी क्रांति की शुरूआत की। हम उन्हें प्यार से याद करते हैं।"

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription