उत्सवजीवी मोदीजी के आत्मनिर्भर भारत में केंद्रीय मंत्री के भाई को अस्पताल में बेड नहीं ? बाद में डिलीट किए दो ट्वीट

Union minister’s brother does not have beds in the hospitalDelete two tweets later नई दिल्ली, 18 अप्रैल 2021. उत्सवजीवी मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत में आम आदमी तो छेड़िए केंद्रीय मंत्री के भाई को अस्पताल में बेड नहीं मिल रहा? दरअसल केंद्रीय मंत्री जनरल (सेनि.) वीके सिंह ने आज दोपहर ट्वीट किया जिलाधिकारी गाजियाबाद को …
उत्सवजीवी मोदीजी के आत्मनिर्भर भारत में केंद्रीय मंत्री के भाई को अस्पताल में बेड नहीं ? बाद में डिलीट किए दो ट्वीट

Union minister’s brother does not have beds in the hospital
Delete two tweets later

नई दिल्ली, 18 अप्रैल 2021. उत्सवजीवी मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत में आम आदमी तो छेड़िए केंद्रीय मंत्री के भाई को अस्पताल में बेड नहीं मिल रहा?

दरअसल केंद्रीय मंत्री जनरल (सेनि.) वीके सिंह ने आज दोपहर ट्वीट किया

जिलाधिकारी गाजियाबाद को टैग करते हुए ट्वीट किया – “Please check this out प्लीज़ हमारी हेल्प करे मेरे भाई को कोरोना ईलाज के लिए बेड की आवश्यकता है। अभी गाजियाबाद में बेड की व्यवस्था नहीं हो पा रही है।“

इस ट्वीट के साथ जन. सिंह ने मिनी मुख्यमंत्री समझे जाने वाले भाजपा प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी और केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र व विधायक पंकज सिंह को भी टैग किया।

थोड़ी ही देर में मंत्री जी का ट्वीट वायरल हो गया। लगता है इसके बाद आलाकमान से फटकार पड़ होगी तब उन्होंने उक्त ट्वीट को डिलीट करते हुए सफाई में नया ट्वीट किया। बाद में उस ट्वीट को भी डिलीट करके तीसरे ट्वीट में सफाई दी। लेकिन तब तक वीके सिंह के दोनों डिलीटेड ट्वीट के स्क्रीनशॉट वायरल हो गए।

हालांकि बाद में कुछ लोगों ने सफाई दी कि श्री सिंह ने किसी अन्य व्यक्ति के ट्वीट को जिलाधिकारी को फॉरवर्ड किया था, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी और अफवाहों का बाजार गर्म हो चुका था

उत्सवजीवी मोदीजी के आत्मनिर्भर भारत में केंद्रीय मंत्री के भाई को अस्पताल में बेड नहीं ? बाद में डिलीट किए दो ट्वीट

https://twitter.com/Gen_VKSingh/status/1383674297017802753

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription