मिशन 2022 को धार देने आज फिर लखनऊ आ रहीं प्रियंका

अगले दो दिन कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पार्टी पदाधिकारियों और अधिकारियों के साथ मैराथन बैठकें करेंगी।
 | 
Priyanka Gandhi at Lucknow

Priyanka Gandhi is coming to Lucknow again today to give edge to Mission 2022

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा (Congress General Secretary and in-charge of Uttar Pradesh Priyanka Gandhi Vadra) पार्टी की विधानसभा चुनाव की तैयारियों (Assembly election preparations) को धार देने के लिए सोमवार को तीन दिवसीय दौरे पर यहां आयेंगी।

पार्टी प्रवक्ता जीशान हैदर ने दी जानकारी

कांग्रेस प्रवक्ता जीशान हैदर (Congress spokesperson Zeeshan Haider) ने रविवार को बताया कि श्रीमती वाड्रा कल (यानी आज) दोपहर लखनऊ के अमौसी हवाई अड्डा पहुंचेगी जहां से वह अपने प्रवास स्थल कौल हाउस के लिये रवाना होंगी। अगले दो दिन कांग्रेस महासचिव पार्टी पदाधिकारियों और अधिकारियों के साथ मैराथन बैठकें करेंगी।

श्रीमती वाड्रा का सितम्बर में यह दूसरा दौरा होगा। इससे पहले वह नौ सितम्बर को आयी थीं और पांच दिनों के प्रवास के दौरान चुनाव तैयारियों की समीक्षा की थी। वह अपनी मां एवं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली गयी थीं।

पार्टी प्रवक्ता ने बताया, “बैठकों के दौरान पार्टी नेतृत्व आगामी रथ यात्रा एवं चुनावी रणनीति को अंतिम रूप देगा। श्रीमती वाड्रा विधानसभा चुनाव के लिये पार्टी उम्मीदवारों की सूची की भी समीक्षा करेंगी।”

इस बीच प्रदेश कांग्रेस ने 11500 रूपये के साथ चुनाव के लिये आवेदन करने वाले प्रत्याशियों के लिये समय सीमा बढ़ा कर दस अक्टूबर कर दी है। पार्टी मतदाताओं से संपर्क करने और अपनी नीतियों से वाकिफ कराने के लिये ‘हम वचन निभायेंगे’ की टैग लाइन के साथ 12 हजार किमी की दूरी तय करने वाली रथ यात्रायें निकालेगी।

उन्होंने कहा कि श्रीमती वाड्रा ने पहले दौरे की तरह इस बार भी अपने प्रवास की समय सीमा के बारे में कोई तारीख निर्धारित नहीं की है। उम्मीद जतायी जा रही है कि इस बार भी कांग्रेस महासचिव अमेठी और रायबरेली का दौरा करेंगी।

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription