अखिलेश को अभी तक टाइम नहीं मिला, पर प्रियंका पहुंच गईं लखीमपुर

उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मोर्चा संभाल लिया है।  प्रियंका गांधी आज अपने यूपी दौरे के दूसरे दिन लखीमपुर पहुंचीं।
 | 
Priyanka Gandhi at Lakhimpur
प्रियंका गांधी का यूपी दौरा, लखीमपुर में पंचायत चुनाव में प्रताड़ित महिलाओं से की मुलाकात

लखनऊ, 17 जुलाई 2021. उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मोर्चा संभाल लिया है। लखनऊ में मौनव्रत फिर लगातार ताबड़तोड़ बैठकों के बाद प्रियंका गांधी आज अपने यूपी दौरे के दूसरे दिन लखीमपुर पहुंचीं। वहां उन्होंने जिले के पसगवां की रहने वालीं अनीता यादव के साथ मुलाकात की, जिनके साथ ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान बदसलूकी हुई थी।

यूपी कांग्रेस के मुताबिक कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी ब्लॉक प्रमुख चुनाव में अभद्रता का शिकार हुईं प्रस्तावक अनीता यादव जी से पसगवां लखीमपुर में मुलाकात किया।

कांग्रेस के प्रवक्ता सुधांशु बाजपेयी ने बताया कि कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी आज लखीमपुर खीरी पहुंच रही हैं। यहां पसगवां में प्रियंका वाड्रा ब्लॉक प्रमुख चुनाव में सपा प्रत्याशी रहीं ऋतु सिंह व समर्थक अनीता यादव से मुलाकात करेंगी।

उन्होंने बताया कि लोकतंत्र के चीरहरण के खिलाफ गांव सेमराघाट,ब्लॉक पसगवां, लखीमपुर में नेता क्रांति सिंह के आवास पर चुनावी हिंसा में पीड़ित रितू सिंह और अनीता यादव की मुलाकात होगी।

ज्ञात हो कि ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान अनिता सिंह से दो युवकों ने मारपीट की थी। उधर प्रियंका के दौरे को लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। एएसपी अरुण कुमार सिंह पुलिस बल के साथ सपा प्रत्याशी ऋतु सिंह के घर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने पहुंचे हैं।

गौरतलब हो कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शुक्रवार को दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंचीं। प्रियंका हजरतगंज के जीपीओ पार्क में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद पंचायत चुनाव में हुई जोर जबर्दस्ती और अराजकता के खिलाफ मौन धारण कर धरने पर बैठ गईं। तकरीबन पौने दो घंटे धरने पर बैठने के बाद वह प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय पहुंचीं,जहां उन्होंने अपनी चुप्पी मीडिया के सामने तोड़ी।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र का चीरहरण हो रहा है। वह लोकतंत्र के पक्ष में और जनता के समर्थन में बोलने आयी हैं। योगी सरकार पर जमकर बरसी।


 

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription