प्रियंका का भाजपा पर पलटवार, कहा 'हम राजनीतिक पर्यटक नहीं'

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Congress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra) ने आज भाजपा के उस बयान पर उसे आड़े हाथों लिया, जिसमें उसने कहा था कि वह एक 'राजनीतिक पर्यटक' हैं।
 | 
प्रियंका गांधी का देशवासियों के नाम भावुक पत्र, लिखा – “हम होंगे कामयाब”


 'We are not political tourists', Priyanka hits back at BJP

लखनऊ,18 जुलाई 2021. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Congress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra) ने आज भाजपा के उस बयान पर उसे आड़े हाथों लिया, जिसमें उसने कहा था कि वह एक 'राजनीतिक पर्यटक' हैं।

श्रीमती गांधी ने कहा,

"मैं एक राजनीतिक पर्यटक नहीं हूं। मैं नियमित रूप से यूपी आती रही हूं। मुझे और मेरे भाई राहुल को गैर-गंभीर राजनेता के रूप में दिखाने के लिए यह भाजपा का प्रचार है और हम इससे डरने वाले नहीं हैं।"

मीडियाकर्मियों के साथ अनौपचारिक बातचीत में, प्रियंका ने कहा कि भाजपा बार-बार उनके और राहुल के गंभीर राजनेता नहीं होने के बारे में एक मुद्दा बनाना चाहती है।

उन्होंने कहा,

"उन्होंने (भाजपा) एक धारणा बनाई है कि मैं पिछले डेढ़ साल से यूपी से दूर हूं, जबकि तथ्य यह है कि मैं नियमित रूप से किसान पंचायत और अन्य कार्यक्रमों में शामिल हो रही हूं।"

आगामी चुनावों के मद्देनजर यूपी में कांग्रेस के भविष्य के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा,

"मैं स्वीकार करती हूं कि हमारा संगठन अन्य दलों की तुलना में कमजोर है। हम यहां 32 साल से सत्ता से बाहर हैं। लेकिन हम निर्माण पर काम कर रहे हैं। संगठन और यात्रा लंबी है। मैं व्यक्तिगत रूप से सभी जिला इकाइयों के साथ चौबीसों घंटे काम कर रही हूं।"

कांग्रेस के अगले विधानसभा चुनाव में गठबंधन बनाने या अकेले जाने की संभावना के बारे में प्रियंका ने कहा,

"हम इस मुद्दे पर करीबी नहीं हैं। इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी लेकिन हम ऐसा फैसला नहीं लेंगे जो संगठन या पार्टी के हितों के लिए हानिकारक हो।"

प्रियंका ने कहा कि वह अधिक से अधिक पार्टी कार्यकतार्ओं और समूहों से मिलने की कोशिश कर रही हैं।

उन्होंने कहा,

"मेरा व्हाट्सएप नंबर सबके पास है और यह कहना गलत है कि मैं योग्य नहीं हूं।"

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription