सीआरपी और दिल का दौरा पड़ने का खतरा

What is C-reactive protein CRP in Hindi? जानिए सी-रिएक्टिव प्रोटीन (सीआरपी) टेस्ट क्या है?
 | 
सीआरपी और दिल का दौरा पड़ने का खतरा

Heart Disease resources

What is C-reactive protein CRP in Hindi

सी-रिएक्टिव प्रोटीन (सीआरपी) {C-reactive protein (CRP) in Hindi} शरीर द्वारा बनाया जाता है और सूजन के जवाब में शरीर द्वारा रक्त में छोड़ा जाता है। सूजन (या इंफ्लेमेशन) यह है कि आपका शरीर संक्रमण या कटे-फटे के प्रति कैसे प्रतिक्रिया करता है।

Swelling can also happen over time in response to high-stress levels or poor eating habits.

तनाव के उच्च स्तर या खाने की खराब आदतों के कारण भी समय के साथ सूजन भी हो सकती है। संक्रमण या कटे-फटे के कारण सूजन आपके सीआरपी स्तर को थोड़े समय के लिए बढ़ा देगी, लेकिन लंबे समय तक जारी रहने वाली सूजन का मतलब हो सकता है कि आपकी धमनियां क्षतिग्रस्त हो गई हैं, जो आपके लिए हृदय रोग के खतरे बढ़ाती है।

यदि आप हृदय रोग के जोखिम की सीमा रेखा पर हैं, तो आपका डॉक्टर आपके रक्त के सीआरपी स्तरों के लिए “टाईब्रेकर” के रूप में उपयोग करने के लिए सीआरपी टेस्ट करा सकता है।

आपके डॉक्टर को आपके सीआरपी स्तरों की निगरानी के लिए यह परीक्षण कई बार करना पड़ सकता है।

कई परीक्षणों में उच्च सीआरपी स्तर का मतलब है कि कम सीआरपी स्तर वाले लोगों की तुलना में दिल का दौरा पड़ने का खतरा लगभग दो से तीन गुना अधिक है। वैसे महिलाओं में आमतौर पर पुरुषों की तुलना में सीआरपी का स्तर अधिक होता है।

इसके अलावा, हिस्पैनिक और अफ्रीकी-अमेरिकी महिलाओं में अक्सर सीआरपी का उच्चतम स्तर होता है।

आपका सीआरपी स्तर, आपके डॉक्टर को यह तय करने में मदद कर सकता है कि आपको हृदय रोग से बचाव के लिए अपने सीआरपी स्तर को कम करने के लिए कदम उठाने की आवश्यकता है या नहीं।

इसमें आपके खाने की आदतों को बदलना, अधिक शारीरिक गतिविधि करना, या उच्च रक्तचाप या उच्च कोलेस्ट्रॉल के इलाज के लिए दवा लेना (medicine to treat high blood pressure or high cholesterol) शामिल हो सकता है।

यहां क्लिक करके जानिए सी-रिएक्टिव प्रोटीन (सीआरपी) टेस्ट क्या है?

नोट – यह समाचार किसी भी हालत में चिकित्सकीय परामर्श नहीं है। यह समाचारों में उपलब्ध सामग्री के अध्ययन के आधार पर जागरूकता के उद्देश्य से तैयार की गई अव्यावसायिक रिपोर्ट मात्र है। आप इस समाचार के आधार पर कोई निर्णय कतई नहीं ले सकते। स्वयं डॉक्टर न बनें किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें। जानकारी का स्रोत The Office on Women’s Health ) 

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription