Home » Latest » बिहार की चुनावलीला | Bihar Election 2020 | Mehbooba Mufti |
Bihar Cgunav Ghumta hua aaina

बिहार की चुनावलीला | Bihar Election 2020 | Mehbooba Mufti |

News of the week | बिहार की चुनावलीला | Bihar Election 2020 | Mehbooba Mufti |#GHA​ | #DBLIVE​

तो बिहार में चुनावी रंगमंच अब पूरी तरह सज चुका है। अब तक पर्दे के पीछे से संवाद की प्रैक्टिस में लगे नेता अब अपने किरदारों को निभाने के लिए एक के बाद एक आते जा रहे हैं। किसकी परफारमेंस जनता को सबसे अच्छी लगी, ये तो खैर 10 नवंबर को पता चलेगा, फिलहाल ये देखना दिलचस्प है कि इस चुनावी मंच पर कुछ किरदारों ने कितने सलीके से मुखौटे पहने हैं कि उनका असली चेहरा कभी जनता जान ही नहीं पाएगी।

कश्मीर से बिहार पर निशाना

जैसा कि हर चुनाव में होता है, बिहार के चुनाव में भी बिजली, पानी, सड़क, कृषि ऋण, शिक्षा, रोजगार आदि मुद्दे बने हैं और जैसा कि भाजपा शासन में होते आया है हर चुनाव की तरह बिहार चुनाव में पाकिस्तान, कश्मीर सब मुद्दा बन चुके हैं।

खास बात ये है कि इस बार कश्मीर का मुद्दा खड़ा करने के लिए बड़े दूर की कौड़ी खेली गई है। महबूबा मुफ्ती ऐन चुनावों के पहले रिहा कर दी गई हैं और जिस दिन मोदीजी की पहली चुनावी रैली बिहार में हुई, उसी दिन उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस कर ऐसी बातें कीं, जिनसे अलगाववाद बनाम राष्ट्रवाद का मुद्दा खड़ा करने का मौका भाजपा को मिल गया।

बिहार चुनाव : भाजपा के तरकश में अभी और कितने तीर

तो बिहार चुनाव से पहले भाजपा के तरकश में अभी और ऐसे कितने तीर छिपे हैं, इसकी पड़ताल हम आज आईने की नज़र से करेंगे करेंगे.. और भाजपा की सियासी चालों के साथ ही ये भी समझने की कोशिश करेंगे कि आखिर इस बार किसके घोषणापत्र में कितना वजन है। लेकिन सबसे पहले चलते हैं जम्मू-कश्मीर, जहां से महबूबा मुफ्ती ने सियासी बिसात पर एक ऐसी चाल चली है, जिसका असर बिहार विधान सभा चुनाव पर होगा..

तो देखिए देशबन्धु के समूह संपादक राजीव रंजन श्रीवास्तव का साप्ताहिक स्तंभ “घूमता हुआ आईना”

Topics -breaking news, dblive, DB news, DB live ki report, Bihar news, dblive rajiv, news of the week, ghumta aaina, ghumta hua aaina,Hindi news, DB live, news live, news today, news India, Rajeev Ranjan Srivastava, Modi, today ghumta Hua aaina, DB live Rajiv Ji, Mehbooba Mufti, Mehbooba Mufti latest news.

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

health impact

नयी नीतियां बनाने के साथ वर्तमान नीतियों का क्रियान्‍वयन भी जरूरी : विशेषज्ञ

Along with making new policies, implementation of existing policies is also necessary: Expert मुंबई, 2 मार्च 2021.. विशेषज्ञों, सिविल सोसायटी …

Leave a Reply