अब डीसीपी नोएडा ने डिलीट करवाया एएनआई की फेक न्यूज (?) का ट्वीट

Now ANI deleted Fake News (?) Tweet after warning of DCP Noida

नई दिल्ली, 08 अप्रैल 2020 : देश इस समय भयंकर संकट से गुजर रहा है, ऐसे समय में जब लोकतंत्र का चौथा संतंभ कहे जाने वाले मीडिया को गंभीरता और देशभक्ति की परिचय देना चाहिए था, वह फेक न्यूज़ के जरिए देश का माहौल खराब कर रहा है। अब ताजा मामला प्रतिष्ठित समाचार एजेंसी एएनआई का सामने आया है।

मल्टी-मीडिया समाचार एजेंसी एशियन न्यूज इंटरनेशनल (ANI) , के सत्यापित ट्विटर एकाउंट से नोएडा में कोरोना पीड़ितों को लेकर कोई खबर ट्वीट की गई, जिसमें तब्लीगी जमात का जिक्र किया गया होगा (यह ट्वीट अब उपलब्ध नहीं है) इस पर DCP_Noida के ट्विटर हैंडल (@DCP_Noida) से @ANINewsUP को टैग करते हुए कहा गया – जो लोग कोरोना पॉजिटिव लोगों के संपर्क में आए थे, उन्हें निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार संगरोध किया गया था। इसमें तब्लीग जमात का कोई जिक्र नहीं था। आप गलत कोट कर रहे हैं और गलत खबरें फैला रहे हैं।

DCP_Noida के इस ट्वीट में @noidapolice @Uppolice को भी टैग किया गया। इसके बाद संभवतः एजेंसी ने अपना ट्वीट हटा लिया, क्योंकि अब वह ट्वीट दिखाई नहीं पड़ रहा है।

इससे पहले फिरोजाबाद पुलिस ने ज़ी न्यूज़ उप्र का फेक खबर का ट्वीट डिलीट करवाया था।

बता दें सोमवार को जमीयत उलेमा हिन्द ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर निजामुद्दीन मरकज मुद्दे को सांप्रदायिक बनाने वाले मीडिया संस्थानों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

 

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations