दिल्ली में अब स्वीमिंग पूल, जिम, नाइट क्लब, स्पा भी 31 मार्च तक बंद, 50 से अधिक के इकट्ठा होने पर रोक

Now swimming pool, gym, nightclub, spa in Delhi also closed till 31 March, ban on gathering of more than 50

नई दिल्ली, 16 मार्च 2020 : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रिमंडल ने आज कोरोना वायरस प्रसार को रोकने के उपायों (Measures to prevent corona virus spread) पर सभी जिला अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

केजरीवाल और मंत्रियों मनीष सिसोदिया, सत्येन्द्र जैन और कैलाश गेहलोत ने दिल्ली सचिवालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना वायरस रोकने के लिए उठाए जा रहे कदमों की समीक्षा की।

केजरीवाल ने ट्वीट किया,

“कोविड-19 के प्रसार को रोकने के दिल्ली सरकार द्वारा जमीनी स्तर पर किए जा रहे प्रयासों की डीएम, एसडीएम, निगम आयुक्तों, केबिनेट मंत्री और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा की।”

केजरीवाल ने ट्वीट किया,

“हम सभी दिल्ली बसों और अन्य राज्यों से आने वाली बसों को रोजाना कीटाणुरहित करते हैं। बस टर्मिनलों को भी रोजाना कीटाणुरहित किया जाता है।”

दिल्ली में अब तक कोरोना वायरस के 7 मामले आ चुके हैं, जिसमें 2 ठीक हो चुके हैं और 1 मरीज की मौत हो गई है।

एहतियात के तौर पर सरकार ने यहां स्कूल, कॉलेज, सार्वजनिक स्वीमिंग पूल और सिनेमाघर बंद कर दिए हैं।

सार्वजनिक दफ्तरों और वाहनों को भी विसंक्रमित करना अनिवार्य कर दिया गया है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार रात को कहा कि देश में कोविड-19 के 110 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जिसमें विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। वहीं इस बीमारी के 13 मरीज ठीक हो गए हैं।

देश में अब तक कोविड-19 के कारण दो मौतें हो चुकी हैं।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations