Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र » सरकारी फरमान है बाहर मत जाइएगा
#CoronavirusLockdown, #21daylockdown , coronavirus lockdown, coronavirus lockdown india news, coronavirus lockdown india news in Hindi, #कोरोनोवायरसलॉकडाउन, # 21दिनलॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार हिंदी में, भारत समाचार हिंदी में,

सरकारी फरमान है बाहर मत जाइएगा

सरकारी फरमान है बाहर मत जाइएगा | Official decree is not to go out

_____________________________

 

भाइयों देखो ये 21 दिन का कर्फ्यू है

आप जरा संभल कर रहिएगा

घर में पानी जरा कम गिराइएगा,

और खाने में नमक थोड़ा कम खाईएगा।

पर बाहर मत जाइएगा

 

काली चाय बनाई जा सकती है

इसलिए दूध जरूरी नहीं

आटे में नमक डाल कर

रोटी भी खाई जा सकती है।

चावल की पीछ मे छोंक से

एक वक्त की सब्जी चलाईएगा।।

पर बाहर मत जाइएगा

 

अब तो समझो सयुंक्त परिवार

का महत्व जिन्हें तुम कब का भूल चुके हो

पूरा कुन्बा एक ही चूल्हे पर खाना पकाएगा

साझी लकड़ी जलाएँ और साथ बैठ खाइएगा।।

ऐसे ही करके परिवार

और समाज में बरकत आती है

चावल की किन्नी, तेल की कुप्पी

इस तरह कुछ ज़्यादा दिन चलाइएगा।।

पर बाहर मत जाइएगा

 

दादी या अम्मा की दवाई ख़त्म हुई

तो क्या गर्म पानी में हल्दी घोलने के

पिलाने से उनको आराम आएगा।

दादा या अब्बा के दुखते घुटनों में

थोड़ा सा गुनगुना घी जरूर लगाइएगा।।

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! 10 वर्ष से सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 
 भारत से बाहर के साथी पे पल के माध्यम से मदद कर सकते हैं। (Friends from outside India can help through PayPal.) https://www.paypal.me/AmalenduUpadhyaya

गर बच्चे बाहर खेलने की ज़िद करें तो

बॉलकनी में ही कंधे पर घुमा आइएगा।।

पर बाहर मत जाइएगा

 

खिडकी में से झांकते दूर पड़ोसी से

कभी- कभी उसके हाल लेते रहना।

कुछ कमजोर दिल के भी होते हैं,

उन्हें भी थोड़े दिलासे देते रहना।

उधार सामान लेने देने में अब

किसी से कोई शर्म नहीं है,

इस महामारी की दहशत में

अपने वतन में अमन लौटाते लाइएगा।

पर बाहर मत जाइएगा

 

किसी की मदद के वास्ते अगर

जाना पड़े तो रास्ते पर पुलिस पूछे तो

उन्हें सम्मान देकर परेशानी जरूर बताना।

आधार, वोटर, लाईसेंस सब जेब में

खुद की हिफाज़त में रखिएगा ।

पर बाहर मत जाइएगा

 

अभी तो मुझे आपके साथ जिंदगी के

कई और नसीहतें हैं जो तुम्हें सिखानी है

अरे ये तो 21 दिन की ही बात है,

हमको और आपको कौन सी

पूरी जिंदगी इस कर्फ्यू में बितानी है..

इसी बहाने संयुक्त परिवार को समझिएगा

पर बाहर मत जाइएगा।

अमित सिंह शिवभक्त नंदी

Amit Singh ShivBhakt Nandi अमित सिंह शिवभक्त नंदी, कंप्यूटर साइन्स - इंजीनियर, सामाजिक-चिंतक हैं। दुर्बलतम की आवाज बनना और उनके लिए आजीवन संघर्षरत रहना ही अमित सिंह का परिचय है। हिंदी में अपने लेख लिखा करते हैं
Amit Singh ShivBhakt Nandi अमित सिंह शिवभक्त नंदी, कंप्यूटर साइन्स – इंजीनियर, सामाजिक-चिंतक हैं। दुर्बलतम की आवाज बनना और उनके लिए आजीवन संघर्षरत रहना ही अमित सिंह का परिचय है। हिंदी में अपने लेख लिखा करते हैं

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

#CoronavirusLockdown, #21daylockdown , coronavirus lockdown, coronavirus lockdown india news, coronavirus lockdown india news in Hindi, #कोरोनोवायरसलॉकडाउन, # 21दिनलॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार हिंदी में, भारत समाचार हिंदी में,

महिलाओं के लिए कोई नया नहीं है लॉकडाउन

महिला और लॉकडाउन | Women and Lockdown महिलाओं के लिए लॉकडाउन कोई नया लॉकडाउन नहीं …