Home » समाचार » गांधी फिर प्रार्थना सभा में हैं, फिर नाथूरामच्या बंदूक गरजै है

गांधी फिर प्रार्थना सभा में हैं, फिर नाथूरामच्या बंदूक गरजै है

बुलेट हीरक बाकीर सबै हवा हवाई, सबै एफडीआई
धर्म अधर्म राजकाज राजनीति एफडीआई
अंध सर्वधर्म आस्था एफडीआई
पागलदौड़, जिसके खिलाफ सेवाग्राम खड़ा है
बुलेट हीरक बाकीर सबै हवा हवाई, सबै एफडीआई
धर्म-अधर्म, राजकाज राजनीति एफडीआई
अंध सर्वधर्म आस्था एफडीआई
खलक खुदा का मुल्क रिलायंस का कि होशियार कि अलीबाबा चालीसचोर दाखिल है मुक्त इमर्जिंग मार्केट भारत में, जहां बाराक ओबामा महाराज पधारने ही वाले हैं। आर्डिनेस राज जारी है और संसद के बजट सत्र में अरबपति करोढ़पति छोड़ बाकी जनता तमाम है कि बुड्ढे का फिर काम तमाम है।
इकोनॉमिक टाइम्स की खबर है कि बलि अलीबाबा भारतीय रिटेल कारोबार के बारह बजाने खुद भारत में हाजिर नाजिर होने वास्ते दिल्ली के स्रटाट अप कंपनी पेटीएम में 575 मिलियन डालर का निवेश कर रहा है तो रिलायंस किसिम किसिम के कारोबार में एक लाख करोड़ डालर फूंके है। वे भी हिंदुस्तानी, हम भी हिंदुस्तानी। वे भी हिंदू, हमऊ हिंदू। हमरे पास नोट सोट नाही ऊ डालर में बतियावत ह।
ईटी की खबर रेलवे के निजीकरण से इंकार के फेंकू के दावे के विपरीत है कि रेलवे के निर्माण में अब शत प्रतिशत एफडीआई है। वो कोयले वाले जैसे पांच दिनों की हड़ताल हल्ला करिके हल्ला बोल से पहिले ही दूसरका दिन खतम हो गयो रे, वैसे ही खबर है कि बलि एफडीआई राज के खिलाफ रेलवे में भी हड़ताल की तैयारी है। ई बुलेट वुलेट स्पीड वस्पीड सबै किस्सा कुलै एफडीआई है।
बाकीर खबर है कि बलि अलीबाबा के संस्थापक और कार्यकारी अध्यक्ष जैक मा की संपत्ति में 2014 में सबसे ज्यादा वृद्धि हुई। अरबपति उद्यमी की संपत्ति वर्ष के दौरान सबसे ज्यादा 18.5 अरब डॉलर बढ़कर 29.2 अरब डॉलर हो गई। मशहूर निवेशक वारेन बफे इस साल सार्वाधिक लाभ दर्ज करने वाले अरबपतियों की सूची में दूसरे नंबर पर रहे। निजी संपत्ति परामर्शक वेल्थ-एक्स के मुताबिक अंग्रेजी के शिक्षक से अरबपति का सफर तय करने वाले उद्यमी इस साल सबसे अधिक फायदे में रहे। उनकी संपत्ति में 173 प्रतिशत का इजाफा हुआ। जाहिरे है कि मस्ती कांटने नहीं, चांदी काटने आ रहे है अलीबाबा और उनके चालीस चोर।
गौरतलब है कि ताजा खबर है कि बलि हुक्म कल्कि महाराज,ऐलानिया जंग है कि अलीबाबा चालीस चोर राज है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने आगामी एक से डेढ़ साल में अपने विभिन्न प्रकार के कारोबार में एक लाख करोड़ रुपये के नये निवेश की घोषणा की। उन्होंने यह भी कहा कि भारत दुनिया में सबसे तेजी से वृद्धि करने वाली अर्थव्यवस्था बनने की राह पर है।
अबे चैथू, ओलिव तेल का होत है,जापानी होत कि अमेरिका से इथे घुसल है
अब तक जानत रहे कि लगात है। शापिंग माल झा चिंकचाक, चैतराम जी नाचा गम्मक छोड़ जात तो मइया सौं, वही बता सकत है कि कहां कहां ओलिव तेल का चकाचौंध है।
नानस्टिक बरतनवा हो या फिर रसोई यंत्र हो सगरा तो देशी तेल जरुरी ना होबे, तनिक ओलिव तेल खाना में लथपथ तो बूढ़ापे को वियाग्रा बन जाई। पांच केजी सरसों तेल की कीमत पर एक लीटर ओलिव वैतरणी हो। बाकीर सबै पीपली लाइव।
नासिर भाई नाचा जिंदगी गम्मक बना रहे हैं। साहिर फैज गा रहे हैं कि गली में खुशी रोके खड़े कयामत गा रहे हैं।
हबीब तनवीरो गयो।
चैतरामो गयो।
नाचा गम्मक छोड़ गयो।
नासिर भाई का तेज बत्ती वाला मंगलू उथे पुखरौती आस पास आदिवासी उजाड़ में दो के साथ एक फ्री आवाज हांके कटकलेअंधकार बेचबे करै तो सगरा खादी उद्योग अभै रामदेव बाबा कारपोरेट हवाले है।
बाबा नाथूराम गोडसे का पुण्यप्रताप है।
जो असल अंबेडकर भी और असल कम्युनिस्ट भी।
भारत रत्नों का भारत रत्न वहींच।
ससुरा गांधी मरा नहीं है।
ससुरा गांधी जिंदा बे चैथू, इरोम की आत्मा गांधी बै।
जादवपुर के होक कलरब मा गांधी जिंदा बै।
गांधी बुड्ढा जिंदा रहबै तो सुधारो का को को होई, सोच बै चैतू और नार रगड़ै नाथूराम बाबा के पांव लग जा चैतू बै।
घोंघिया आंखि, मुस नाक शासक सगरे गोलबंद जनता के खिलाफ बाकीर पीपली लाइव या कि पीके।
हमें तो चैथू हबीब तनवीर पेक्षागृह बिच तू पान दुकानदार पीके बना दिहल।
वहींच घोंघिया आंखि, उल्लू जइसन फैंकू मोटा मस्त, मुस नाक, हाथ फैलाये टाइटैनिक सगरा देश टाइटैनिक बनावल डुबो जात है।
तू कथै जात चैथू, देश डूबत, डूब सगरे जनपद, जल जंगल जमीन उजाड़!
तू कथै जात चैतू, दुलार बाबा तोर आश्रम मा आग लगे!
दुलार बाबा तोर धर्म कर्म पर वजजर गिरे!
तू कथै जात चैतू, देश मुआ जात है!
गुजरात वाइव्रेंट है।
चहुंदिशा कटकले अंधकार के शाइंनिग इंडिया चतुर्भुज साक्षात विष्णु भगवान,पांव लाग रै हजार हजार बरसों का गुलाम परजाअंत्यज के औम स्वाहा यह देश है!
जिंदा रहबे सनातन धर्म।
जिंदा रहबे यज्ञाधिपति विष्णु भगवान और सगरे उनके अवतार सेमी अवतार।
महाभारत कुरुक्षेत्रे मृत्युउत्सव उपरांते जिंदा है जैसे गीता महोत्सव जो फ्री मार्केट कार्निवाल है कटकटले अंधकार।
ले बै पीके पान।फेर लंबा तान।
शर्ले एब्दो भुना गई हिंदुत्व दिवानी मैड मैडोना। मैडोना मेरी जान। जिंदड़ी जवानी कुर्बान।
चल कुड़ी मरे नाल, के मस्त जिंदड़ी छिनाल, नारी वाद माफो करै।
छिनाल ना नारी है। ना छिनाल कोई स्त्री सत्ता है। पुरुष वर्चस्व पुरुषतंत्र पुरुषविमर्श छिनाल है। चल कुड़ी साड्ढा नाल, ऐश करेंगे फ्री मार्केट सारा जहां जिंदड़ी मालामाल।
शार्ली एब्दो भुना रहै सगरे संत समागम।
शर्ली एब्दो है के शत प्रतिशत हिंदुत्व तूफान हैगी।
शर्ली एब्दो इन वोग है और हाल यह बलि कि अखबार ने फ्रांसीसी पत्रिका ‘शार्ली एब्दो’ के विवादित कार्टूनों को फिर से प्रकाशित किया है।
धर्मांतरण सुनामी है के पीके है,पीके है कि धर्मयुद्ध है के ओबामा कार्निवाल है नरसंहार के कयामत है के गीता महोत्सव फेर।
गांधी फिर प्रार्थना सभा में हैं।
फिर नाथूरामच्या बंदूक गरजै है।
दिल्ली में कोहरा और सर्दी कड़कड़ाती।
लेड चकाचौंध सुनामी में कटकटले अंधकार और घोंघिया आंखि,मुसनाक ड्रोन की पहरेदारी है।सीआई हवाले राजकाज।मोसाद हवाले राजकाज।राजकाज एफबीआई।
बाकी विकास हरिकथा अनंत.अनंत गीता महोत्सव बै।
हर मनखनामे गाइडेड बुलेट मश्तैद कि गांधी की फिर हत्या होनी है।
बार बार मरै बै गांधी।बार बार जिंदा बै गांधी।मर मर कर जिंदा बै गांधी।
कि सगरे तानाशाह मिलकर जनता का सफाया न कर सकै है।
कि हर बार जीतता है सत्याग्रह जो सत्ताविरुद्धे है।
मुक्त बाजार की सेहत का आयुर्वेदिक उपचार गांधी चूर्ण है।
गांदी चूर्ण विचूर्ण है।
गांधीवाद बाबाभभूत है।पागलदौड़ गांधीवादी सत्ता है।गांधी का सत्ता विमर्श है।
गाँधी एटीएम है जैसे अंबेडकर एटीएम है जैसे मार्क्स एटीएम है तो गोलवलकर भी एटीएम बन गयो रे।एटीएम ताजातरीन नाथूरामो है,जिसके पेटो से सुधार के बच्चे जनमे हिंदू साम्राज्यवास्ते।
एक से सवा लाख लढ़ावेंगो। हर सिख अब हिंदू। हर बौद्ध अब हिंदू। हर जैनी अब हिंदू।
हिंदू राष्ट्र के अमेरिका में ओबामा खातिर जायनी मुक्त बाजार खातिर गांधी वध का जयकारा एटीएम। फिर-फिर गांधी हत्या है।
सिखों को भी हिंदू बना रहे हैं बलि. शौर ऐसो मचा कि तवलीन सिंह का सुर बदल गयो, रातोंरात सेकुलर कायाकल्प है। विचारों की स्वतंत्रता, मजहबीं आजादी के बारे में बेहतरीन बेहतरीन लिख्यो है। मोदी वंदना छाड़ि देयो हठात।
फेर कोलकाता केसरिया भयो, बंग विजय मार्फते भारत विजय के सिकंदरी गुहार के मध्यअसम में सलवा जुड़ुम विस्तार के बादो बंगाल में ग्रुप थिएटर की धूम।
केसरिया रंग फीको लागै बै चैतू।
जोदवपुरे जो चूमा चाटी आजादी खातिर कलरव कीन्हें सो भी वहींच इरोम शर्मिला सरीखे बापू के चमत्कारे भूतेर भबिष्यत खोजै बै, चैतू।
वहींच आमरण अनशन।
हिलेला रे कोलकाता हिलेला। वसंत वज्र निनाद खत्म बै।सत्तर दशक खत्म बै।
फेर वहींच बुड्ढा सेवाग्राम वाला उठ खड़ा हो गयो रे।
मरबे ना करै गांधी बुड्ढा।
विचारधारा, राजनीति ढेरो हैं, फिरभी अंतिम हथियार वहींच सत्याग्रह है बाकीर सैन्य राष्ट्र बै। बाकीर आफसा बै।बाकीर सलवा जुड़ुम बै।
चूंचूं किया के चूं चूं का मुरब्बा बना दीन्हें, बै।
O- पलाश विश्वास

About हस्तक्षेप

Check Also

media

82 हजार अखबार व 300 चैनल फिर भी मीडिया से दलित गायब!

मीडिया के लिये भी बने कानून- उर्मिलेश 82 thousand newspapers and 300 channels, yet Dalit …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: