फेफड़े रखने हैं स्वस्थ तो खाएं सेब और टमाटर

धूम्रपान के कारण होने वाले फेफड़ों के नुकसान को लेकर चिंतित हैं? फलों से समृद्ध आहार फेफड़ों की प्राकृतिक बुढ़ापे की प्रक्रिया को धीमा कर सकता है भले ही आप कभी धूम्रपान न करते हों या धूम्रपान करना छोड़ चुके हों।
 | 
Health News in Hindi

धूम्रपान के कारण होने वाले फेफड़ों के नुकसान को लेकर चिंतित हैं? तो फिर धूम्रपान करना छोड़कर रोजाना दो से ज्यादा टमाटर या ताजे फल का सेवन करें, खासतौर से सेबों का। इससे फेफड़ों को हुए नुकसान की भरपाई हो जाती है।

हाल ही के एक शोध से पता चलता है कि जो लोग धूम्रपान छोड़ देते हैं और टमाटर और फलों का ज्यादा सेवन करते हैं, उनमें 10 साल की अवधि में फेफड़ों की कार्यप्रणाली में गिरावट कम होती है।

कमजोर फेफड़ों के कारण मृत्यु की संभावना बढ़ जाती है, जो कि क्रोनिक ऑबस्ट्रक्टिव पलमोनरी डिसीज़ (सीओपीडी), हृदय रोग और फेफड़ों के कैंसर के कारण होती है।

प्रमुख शोधार्थी जॉन हापकिन्स ब्लूमबर्ग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ की असिस्टेंट प्रोफेसर वानेशा गारेसिया-लार्सन के मुताबिक,

"इस शोध से पता चलता है कि आहार उन लोगों में फेफड़ों की क्षति की मरम्मत में मदद कर सकता है जिन्होंने धूम्रपान बंद कर दिया है।"

इससे यह भी पता चलता है कि फलों से समृद्ध आहार फेफड़ों की प्राकृतिक बुढ़ापे की प्रक्रिया को धीमा कर सकता है भले ही आप कभी धूम्रपान न करते हों या धूम्रपान करना छोड़ चुके हों।

देशबन्धु

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription