Home » समाचार » विजय माल्या बोले भगोड़ा नहीं मैं, मीडिया मेरे एहसान न भूले

विजय माल्या बोले भगोड़ा नहीं मैं, मीडिया मेरे एहसान न भूले

नई दिल्ली। देश छोड़कर भाग गए बताए जा रहे उद्योगपति विजय माल्या ने मीडिया और राजनेताओं पर कड़ा हमला बोलते हुए कहा है, “मैं एक अंतर्राष्ट्रीय व्यवसायी हूँ। मैं भारत में और बाहर अक्सर यात्राएँ करता हूँ। मैं भारत से भाग नहीं गया और न मैं भगोड़ा हूँ।“

उन्होंने कहा कि मीडिया में उन्हें जबरन फ्रेम किया जा रहा है।

विजय माल्या ने अपने ट्विटर एकाउंट पर लिखा- “मीडिया बॉसेस को मेरे द्वारा किए गए एहसान, बरसों की गई सहायता और प्रदान किए गए आवास नहीं भूलने चाहिए। यह टीआरपी के लिए नहीं कह रहा है, इनके दस्तावेज़ उपलब्ध हैं।“

विजय माल्या ने ट्वीट करके कहा, ‘मैं एक सांसद हूं और मुझे कानून पर भरोसा है. हमारी कानून व्यवस्था मजबूत है और मैं उसका सम्मान करता हूं.’

वरिष्ठ पत्रकार शेष नारायण सिंह ने कहा है कि विजय माल्या को उन नेताओं व पत्रकारों के चित्र व सीडी जारी कर देने चाहिए, जो उन्होंने अपने जहाजों में रिकॉर्ड किए हैं।

“Vijay Mallya, please release all the pics and CDs that you may have recorded of netas and journalists in your ships.”

The editor of Times Now needs to be in prison clothes and eat prison food for libel, deceit, slander and absolutely sensational lies.
— Vijay Mallya (@TheVijayMallya) March 10, 2016

I am an international businessman. I travel to and from India frequently. I did not flee from India and neither am I an absconder. Rubbish.

— Vijay Mallya (@TheVijayMallya) March 10, 2016

As an Indian MP I fully respect and will comply with the law of the land. Our judicial system is sound and respected. But no trial by media.
— Vijay Mallya (@TheVijayMallya) March 10, 2016

Let media bosses not forget help, favours,accommodation that I have provided over several years which are documented. Now lies to gain TRP ?

— Vijay Mallya (@TheVijayMallya) March 10, 2016

News reports that I must declare my assets. Does that mean that Banks did not know my assets or look at my Parliamentary disclosures ?
— Vijay Mallya (@TheVijayMallya) March 11, 2016

Once a media witch hunt starts it escalates into a raging fire where truth and facts are burnt to ashes.

— Vijay Mallya (@TheVijayMallya) March 11, 2016

About हस्तक्षेप

Check Also

media

82 हजार अखबार व 300 चैनल फिर भी मीडिया से दलित गायब!

मीडिया के लिये भी बने कानून- उर्मिलेश 82 thousand newspapers and 300 channels, yet Dalit …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: