दिलीप कुमार को मिला पद्म विभूषण

मुंबई, 13 दिसम्बर। हिन्दी सिने जगत के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार को रविवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने उनके आवास पर देश के दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण से सम्मानित किया। दिग्गज अभिनेता को यह सम्मान उनके जन्मदिन के दो दिन बाद दिया गया। बीती 11 दिसम्बर को दिलीप कुमार 93वें साल …
 | 

मुंबई, 13 दिसम्बर। हिन्दी सिने जगत के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार को रविवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने उनके आवास पर देश के दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण से सम्मानित किया।
दिग्गज अभिनेता को यह सम्मान उनके जन्मदिन के दो दिन बाद दिया गया। बीती 11 दिसम्बर को दिलीप कुमार 93वें साल के हो गए।
अभिनेता की करीबी दोस्त उदय तारा नयार ने बताया कि उन्हें रविवार दिन में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया।
राजनाथ ने दिलीप को पद्म विभूषण पदक, प्रमाण प्रदान किया और शॉल ओढ़ाया।
केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने ट्विटर के जरिये दिलीप को बधाई दी।
उन्होंने लिखा, “रुपहले पर्दे के दिग्गज कलाकार को बधाई। उनकी दिल छू लेने वाली अदाकारी कई लोगों के लिए प्रेरणा है।”
प्रतिष्ठित समाचार पत्र देशबन्धु में प्रकाशित खबर के मुताबिक दिलीप को उनकी पत्नी सायरा बानो, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और महाराष्ट्र के राज्यपाल सी.वी. राव की मौजूदगी में राजनाथ ने पद्म विभूषण से सम्मानित किया।
उन्होंने वर्ष 1950 और 1960 के दशक में ‘आन’, ‘दाग’, ‘देवदास’, ‘मधुमति’, ‘पैगाम’, ‘मुगले आजम’, ‘राम और श्याम’ जैसी कई फिल्मों में अपने उत्कृष्ट अभिनय की छाप छोड़ी।
दिलीप ने लगभग छह दशकों तक काम करने के बाद 1998 में सिने जगत को अलविदा कह दिया। उनकी आखिरी फिल्म ‘किला’ थी।

Congrats to the screen legend @TheDilipKumar for being conferred Padma Vibhushan.His touching cinematic performances r inspiration for many.
— Rajyavardhan Rathore (@Ra_THORe) December 13, 2015
 

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription