Home » समाचार » 18 जवानों की चिता की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई और मोदी लखनऊ में दशहरा मनाने आ रहे- मायावती

18 जवानों की चिता की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई और मोदी लखनऊ में दशहरा मनाने आ रहे- मायावती

मोदी सरकार सर्जिकल स्ट्राइक में राजनीतिक फायदा ढूंढ रही : मायावती
लखनऊ, 9 अक्टूबर। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर करारा प्रहार करते हुए कहा है कि उड़ी में शहीद हुए 18 जवानों की चिता की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई कि मोदी लखनऊ में दशहरा मनाने आ रहे हैं।
मायावती ने आरोप लगाया कि सरकार पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सेना के सर्जिकल स्ट्राइक्स का चुनावी लाभ लेना चाहती है।
मायावती ने कहा कि ये सर्जिकल स्ट्राइक्स पठानकोट में हुए आतंकवादी हमले के बाद ही हो जाने चाहिए थे, लेकिन ऐसा लगता है कि इसमें जानबूझकर देरी की गई, ताकि इसका राजनीतिक फायदा उठाया जा सके।
बसपा के संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि पर रविवार को लखनऊ में आयोजित विशाल रैली को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी कमजोरियों और नाकामियों को छुपाने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक्स का सहारा ले रहे हैं।
बसपा अध्यक्ष ने कहा,

“सेना की ओर से पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सर्जिकल स्ट्राइक पठानकोट में हुए आतंकवादी हमले के बाद ही कराए जाने चाहिए था, लेकिन इसमें जानबूझकर देरी की गई। उड़ी में हुए आतंकवादी हमले के बाद केंद्र सरकार ने सेना को कार्रवाई की छूट दी। विधानसभा चुनाव से पहले भारत पाकिस्तान के बीच युद्ध होने का उन्माद फैलाया जा रहा है। यह सोची समझी रणनीति का हिस्सा है।”

मायावती ने कहा कि पहले भी सेना की ओर से सर्जिकल ऑपरेशन किए गए हैं। दुनिया के अन्य देशों में सेनाएं इस तरह के ऑपरेशन करती रहती हैं। अमेरिका ने ओसामा बिन लादेन का खात्मा किया, लेकिन उसका ढिंढोरा नहीं पीटा गया। केंद्र सरकार इस तरह के ऑपरेशन को राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल कर रही है। सेना की इस बहादुरी के लिए जवानों की जयकार होनी चाहिए, लेकिन इसे दूसरी कहानी का रूप दिया जा रहा है।

केंद्र सरकार आरएसएस के एजेंडे पर आगे चलकर उप्र का माहौल खराब करना चाहती
केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए मायावती ने कहा कि सरकार सीबीआई का इस्तेमाल विरोधियों को डराने के लिए कर रही है। प्रधानमंत्री ने लोकसभा चुनाव में जो वादे किए थे, उसमें एक भी वादा ढाई वर्षो के भीतर नहीं पूरा हो पाया है। मोदी ने कहा था कि चुनाव के बाद जो काला धन आएगा उससे गरीबों के खातों में 15 से 20 लाख रुपए पहुंच जाएंगे।
मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार विदेश से काला धन लाने की बजाय देश के काले धन को सफेद करने में जुटी हुई है। उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाया जा रहा है। ललित मोदी व विजय माल्या इसके उदाहरण हैं।
उप्र में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार आरएसएस के एजेंडे पर आगे चलकर उप्र का माहौल खराब करना चाहती है। सरकार लव जेहाद, गोहत्या, घर वापसी जैसे मुद्दों की आड़ में राज्य में कट्टरवादी सोच को बढ़ावा देने का काम कर रही है।
(इनपुट्स – देशबन्धु)

लखनऊ-उड़ी में शहीदों की चिता ठंडी नहीं हुई, पीएम दशहरा मना रहे,राजनैतिक लाभ के लिए पीएम लखनऊ में दशहरा मनाने आ रहे #Mayawati #KanshiRam pic.twitter.com/m7ds4AzNho
— Bahujan Samaj Party (@BspUp2017) October 9, 2016

लखनऊ-ढाई साल में PM ने एक चौथाई वादे पूरे नहीं किए,BJP सरकार में अल्पसंख्यकों का शोषण,जामिया,AMU से अल्पसंख्यक संस्थान दर्जा छिना-#Mayawati
— Bahujan Samaj Party (@BspUp2017) October 9, 2016

लखनऊ-चुनाव को देखते हुए युद्ध करा सकते हैं पीएम मोदी,चुनाव जीतने के लिए किसी भी हद तक बीजेपी जा सकती है-#Mayawati #MayawatiNextUPCM
— Bahujan Samaj Party (@BspUp2017) October 9, 2016

ये समुन्दर नहीं सुनामी है, मान्यवर श्री काशी राम जी को श्रद्धांजलि है #Mayawati #BSPlucknowRally #KanshiRam #MayawatiNextUPCM #ChaloLucknow pic.twitter.com/VhN6sN0R00
— Bahujan Samaj Party (@BspUp2017) October 9, 2016

About हस्तक्षेप

Check Also

media

82 हजार अखबार व 300 चैनल फिर भी मीडिया से दलित गायब!

मीडिया के लिये भी बने कानून- उर्मिलेश 82 thousand newspapers and 300 channels, yet Dalit …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: