सरकार ने घुटने टेके, न्यायमूर्ति के. एम. जोसेफ बने सर्वोच्च न्यायालय में जस्टिस

supreme court of india

सरकार ने घुटने टेके, जस्टिस के. एम. जोसेफ बने सर्वोच्च न्यायालय में जस्टिस

सर्वोच्च न्यायालय में न्यायमूर्ति के. एम. जोसेफ समेत 3 न्यायाधीशों की नियुक्ति

नई दिल्ली, 4 अगस्त।  केंद्र सरकार ने कॉलेजियम की सिफारिश के सामने घुटने टेक दिए हैं। उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के.एम.जोसेफ सर्वोच्च न्यायालय में जस्टिस नियुक्त किए गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उच्च न्यायालय के तीन न्यायाधीशों को शनिवार को सर्वोच्च न्यायालय में नियुक्त किया गया, इसमें उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के.एम.जोसेफ का भी नाम शामिल है। जोसेफ की नियुक्ति के साथ ही केंद्र और न्यायपालिका के बीच चल रहा गतिरोध समाप्त हो गया।

राष्ट्रपति ने न्यायमूर्ति जोसेफ, मद्रास उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश इंदिरा बनर्जी और ओडिशा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश विनीत सरन की नियुक्ति के अधिपत्रों पर हस्ताक्षर किए।

न्यायमूर्ति जोसेफ की अधिसूचना में कहा गया,

“भारतीय संविधान के अनुच्छेद 124 की उपधारा (2) का उपयोग करते हुए राष्ट्रपति को उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति के.एम. जोसेफ को भारत के सर्वोच्च न्यायालय का न्यायाधीश नियुक्त करते हुए खुशी हो रही है। यह नियुक्ति उनके पदभार संभालने वाली तिथि से प्रभावी होगी।”

शीर्ष अदालत में अब न्यायाधीशों की कुल संख्या 25 हो गई है, हालांकि इसकी अधिकतम संख्या 31 है।

न्यायमूर्ति बनर्जी की नियुक्ति के साथ शीर्ष अदालत में महिला न्यायाधीशों की संख्या तीन हो गई है।

Web title : Appointment of three judges in the Supreme Court including Justice K. M. Joseph