Home » समाचार » कानून » ब्रिटेन के जबरन विवाह मामलों में से 40% पाकिस्तान से
Imran Khan

ब्रिटेन के जबरन विवाह मामलों में से 40% पाकिस्तान से

नई दिल्ली, 21 सितंबर 2019. पाकिस्तान एक विफल राष्ट्र हर मामले में साबित हुआ है। सावरकर-जिन्नाह के द्विराष्ट्र सिद्धांत पर बना पाकिस्तान कभी भी एक संपूर्ण राष्ट नहीं बन पाया। लेकिन अब जो मामला सामने आया है, वह पाकिस्तान के लिए बेहद शर्मिन्दगी वाला है। ब्रिटेन के बलात् विवाह मामलों में से लगभग आधे यानी 40% पाकिस्तान से संबंधित हैं। और यह डाटा किसी और ने वहीं बल्कि United Kingdom’s यूनाइटेड किंगडम की जबरन विवाह इकाई (FMU) की सह-अध्यक्ष निआम कोनोली (Forced Marriage Unit (FMU) Co-Chairperson Niamh Connolly) ने पाकिस्तान में ही दिया है।

कोनोली फिलहाल पाकिस्तान के दौरे पर हैं। उन्होंने शुक्रवार को ब्रिटिश उच्चायोग में पत्रकारों की एक सभा को संबोधित करते हुए यह बात कही।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून में प्रकाशित (Published in The Express Tribune ) खबर 40% of all UK forced marriage cases linked to Pakistan के मुताबिक उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र जबरन विवाह सम्मेलन पर कार्यवाही करते हुए ब्रिटेन को कम उम्र के ब्रिटिश नागरिकों के साथ जबरन शादी करने और इससे प्रभावित लोगों को कानूनी सुरक्षा प्रदान करने की आवश्यकता है।

कोनोली ने आगे कहा कि पिछले साल, ब्रिटिश नागरिकों की जबरन शादी के कुछ 1,756 मामले सामने आए। इनमें से लगभग 40 प्रतिशत मामले पाकिस्तान से संबंधित थे।

 

About हस्तक्षेप

Check Also

media

82 हजार अखबार व 300 चैनल फिर भी मीडिया से दलित गायब!

मीडिया के लिये भी बने कानून- उर्मिलेश 82 thousand newspapers and 300 channels, yet Dalit …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: