Home » इंस्टेंट ट्रिपल तलाक पर अध्यादेश को ओवैसी ने बताया मुस्लिम महिलाओं और संविधान के खिलाफ

इंस्टेंट ट्रिपल तलाक पर अध्यादेश को ओवैसी ने बताया मुस्लिम महिलाओं और संविधान के खिलाफ

Asaduddin Owaisi on Cabinet approving an ordinance on #TripleTalaq

इंस्टेंट ट्रिपल तलाक पर अध्यादेश को ओवैसी ने बताया मुस्लिम महिलाओं और संविधान के खिलाफ

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इंस्टेंट ट्रिपल तलाक के खिलाफ लाए गए अध्यादेश को मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ बताते हुए संविधान में दिए गए समानता के अधिकार के खिलाफ बताया है।

श्री ओवैसी ने कहा है कि

 "यह अध्यादेश मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ है। इस अध्यादेश से मुस्लिम महिलाओं को इंसाफ नहीं मिलेगा। इस्लाम में शादी एक सामाजिक अनुबंध है, और उसमें सज़ा के प्रावधान को जोड़ना गलत है। "

<blockquote class="twitter-tweet" data-conversation="none" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">This Ordinance is unconstitutional. The ordinance is against the Constitution&#39;s right to equality as it is being made only for Muslims. All India Muslim Personal Law Board &amp; women organisations should challenge this ordinance in the Supreme Court: Asaduddin Owaisi  <a href="https://twitter.com/hashtag/TripleTalaq?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#TripleTalaq</a></p>&mdash; ANI (@ANI) <a href="https://twitter.com/ANI/status/1042329257865830405?ref_src=twsrc%5Etfw">September 19, 2018</a></blockquote>

<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

उन्होंने कहा कि

"यह अध्यादेश असंवैधानिक है। यह अध्यादेश संविधान में दिए गए समानता के अधिकार के खिलाफ है, क्योंकि यह सिर्फ मुसलमानों के लिए बनाया गया है। "

एआईएमएआएम नेता ने कहा कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड तथा महिला संगठनों को इस अध्यादेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देनी चाहिए।

<blockquote class="twitter-tweet" data-conversation="none" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">This Ordinance is unconstitutional. The ordinance is against the Constitution&#39;s right to equality as it is being made only for Muslims. All India Muslim Personal Law Board &amp; women organisations should challenge this ordinance in the Supreme Court: Asaduddin Owaisi  <a href="https://twitter.com/hashtag/TripleTalaq?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#TripleTalaq</a></p>&mdash; ANI (@ANI) <a href="https://twitter.com/ANI/status/1042329257865830405?ref_src=twsrc%5Etfw">September 19, 2018</a></blockquote>

<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

ओवैसी ने अप्रत्यक्ष रूप से पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि मैं उन 24 लाख विवाहित महिलाओं के लिए एक सख्त कानून की आवश्यकता है, जिनके पति चुनाव आयोग को दिए शपथपत्र में कहते हैं कि वे विवाहित हैं, परन्तु उनकी पत्नी साथ नहीं रहती। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को ऐसी विवाहित महिलाओं के लिए कानून लाना चाहिए।

<blockquote class="twitter-tweet" data-conversation="none" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">I demand from PM that this national requires a law for those married women, who are 24 lakh in number,their husbands in their election affadavit say they are married but the wife is not living with them. PM should bring a law for those deserted married women:A Owaisi <a href="https://twitter.com/hashtag/TripleTalaq?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw">#TripleTalaq</a></p>&mdash; ANI (@ANI) <a href="https://twitter.com/ANI/status/1042332353111187456?ref_src=twsrc%5Etfw">September 19, 2018</a></blockquote>

<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

<iframe width="600" height="493" src="https://www.youtube.com/embed/kPOZ07uQESE" frameborder="0" allow="autoplay; encrypted-media" allowfullscreen></iframe>

About हस्तक्षेप

Check Also

भारत में 25 साल में दोगुने हो गए पक्षाघात और दिल की बीमारियों के मरीज

25 वर्षों में 50 फीसदी बढ़ गईं पक्षाघात और दिल की बीमांरियां. कुल मौतों में से 17.8 प्रतिशत हृदय रोग और 7.1 प्रतिशत पक्षाघात के कारण. Cardiovascular diseases, paralysis, heart beams, heart disease,

Bharatendu Harishchandra

अपने समय से बहुत ही आगे थे भारतेंदु, साहित्य में भी और राजनीतिक विचार में भी

विशेष आलेख गुलामी की पीड़ा : भारतेंदु हरिश्चंद्र की प्रासंगिकता मनोज कुमार झा/वीणा भाटिया “आवहु …

राष्ट्रीय संस्थाओं पर कब्जा: चिंतन प्रक्रिया पर हावी होने की साजिश

राष्ट्रीय संस्थाओं पर कब्जा : चिंतन प्रक्रिया पर हावी होने की साजिश Occupy national institutions : …

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

अच्छे नहीं, अंधेरे दिनों की आहट

मोदी सरकार के सत्ता में आते ही संघ परिवार बड़ी मुस्तैदी से अपने उन एजेंडों के साथ सामने आ रहा है, जो काफी विवादित रहे हैं, इनका सम्बन्ध इतिहास, संस्कृति, नृतत्वशास्त्र, धर्मनिरपेक्षता तथा अकादमिक जगत में खास विचारधारा से लैस लोगों की तैनाती से है।

National News

ऐसे हुई पहाड़ की एक नदी की मौत

शिप्रा नदी : पहाड़ के परम्परागत जलस्रोत ख़त्म हो रहे हैं और जंगल की कटाई के साथ अंधाधुंध निर्माण इसकी बड़ी वजह है। इस वजह से छोटी नदियों पर खतरा मंडरा रहा है।

Ganga

गंगा-एक कारपोरेट एजेंडा

जल वस्तु है, तो फिर गंगा मां कैसे हो सकती है ? गंगा रही होगी कभी स्वर्ग में ले जाने वाली धारा, साझी संस्कृति, अस्मिता और समृद्धि की प्रतीक, भारतीय पानी-पर्यावरण की नियंता, मां, वगैरह, वगैरह। ये शब्द अब पुराने पड़ चुके। गंगा, अब सिर्फ बिजली पैदा करने और पानी सेवा उद्योग का कच्चा माल है। मैला ढोने वाली मालगाड़ी है। कॉमन कमोडिटी मात्र !!

Entertainment news

Veda BF (वेडा बीएफ) पूर्ण वीडियो | Prem Kahani – Full Video

प्रेम कहानी - पूर्ण वीडियो | वेदा BF | अल्ताफ शेख, सोनम कांबले, तनवीर पटेल और दत्ता धर्मे. Prem Kahani - Full Video | Veda BF | Altaf Shaikh, Sonam Kamble, Tanveer Patel & Datta Dharme

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: