Articles by पलाश विश्वास

opinion debate

यूजीसी भंग करने का फैसला : शिक्षा के हिंदुत्वकरण का संघ परिवार के एजंडे का क्रमबद्ध हमला

Decision to dissolve UGC: A systematic attack of Sangh Parivar’s agenda of Hindutvaisation of education पलाश विश्वास विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) को भंग करने का सरकार का फैसला भारतीय शिक्षा के हिंदुत्वकरण का संघ परिवार…


West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee.(File Photo: IANS)

वामदलों के सफाये के बिना भाजपा का बंगाल में ममता को हराना मुश्किल, पर दीदी इस सच को इंकार कर आत्महत्या के लिए तुली हैं

टीवी चैनल से बातचीत के दौरान दीदी ने कहा कि एक राजनीतिक दल ने उनकी हत्या की सुपारी दी है और इसका अग्रिम भुगतान कर दिया गया है। उन्होंने पुलिस से मिली सूचना का हवाला…


National News

नहीं रहे डा. अशोक मित्र जिन्होंने पहली बार बताया कि भारत का बजट किस तरह अमेरिका में बनता है

पलाश विश्वास डा.अशोक मित्र नहीं रहे। लाल सलाम कामरेड। आज सुबह दक्षिण कोलकाता के एक निजी अस्पताल में जीवित किंवदन्ती प्रख्यात अर्थशास्त्री, समाजविज्ञानी डा. अशोक मित्र का निधन हो गया। अभी तक नेट पर इसकी…


rabindranath tagore

भारतीय राष्ट्रीयता के जनक गुरूदेव रवींद्रनाथ टैगोर हैं वंदेमातरम् के हिंदुत्व के ऋषि बंकिम नहीं

पलाश विश्वास कल भारत और बांग्लादेश में चंद्रमा के हिसाब से जो बांग्ला कैलेंडर अब भी प्रचलित है, उसके मुताबिक श्रावण महीने की बाइस तारीख थी, जो बंगाल में रवींद्रनाथ टैगोर की पुण्यतिथि (Rabindranath Tagore’s…


Palash Biswas पलाश विश्वास पलाश विश्वास। लेखक वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं । आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की आवाज बनना ही पलाश विश्वास का परिचय है। हिंदी में पत्रकारिता करते हैं, अंग्रेजी के लोकप्रिय ब्लॉगर हैं। “अमेरिका से सावधान “उपन्यास के लेखक। अमर उजाला समेत कई अखबारों से होते हुए अब जनसत्ता कोलकाता में ठिकाना

हिंदू राष्ट्र का यह धर्मोन्माद किसान, आदिवासी, स्त्री और दलितों के खिलाफ इसे हम सिर्फ मुसलमानों के खिलाफ समझने की भूल कर रहे

वंदेमातरम् की मातृभूमि अब विशुद्ध पितृभूमि है, जहां काबुलीवाला जैसा पिता कोई नहीं काबुलीवाला, मुसलमानीर गल्पो और आजाद भारत में मुसलमान रवींद्र का दलित विमर्श-33 रवींद्रनाथ की कहानियों में सतह से उठती मनुष्यता का सामाजिक…


No Image

अंधेर नगरी में सत्यानाश फौजदार का राजकाज! रवींद्र प्रेमचंद के बाद निशाने पर भारतेंदु?

क्या वैदिकी सभ्यता का प्रतीक न होने की वजह से अशोक चक्र को भी हटा देंगे? रवींद्र का दलित विमर्श-28 पलाश विश्वास डिजिटल इंडिया में इन दिनों जो वेदों, उपनिषदों, पुराणों, स्मृतियों, महाकाव्यों के वैदिकी…


No Image

राजसत्ता, धर्मसत्ता, राष्ट्रवाद और शरणार्थी समस्या के संदर्भ में रोहिंग्या मुसलमान और गुलामी की विरासत

कोलकाता में रोहिंग्या मुसलमानों के समर्थन में लाखों मुसलमानों ने रैली की (Millions of Muslims rally in support of Rohingya Muslims in Kolkata) और इस रैली के बाद बंगाल में रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर नये…


opinion, debate

धर्मोन्माद में न आस्था है और न धर्म, यह नस्ली वर्चस्व का अश्लील नंगा कार्निवाल है

विषमता की अस्पृश्यता के पुरोहित तंत्र के विरुद्ध समानता और न्याय की आवाज ही रवींद्र रचनाधर्मिता है। इसीलिए उत्पीड़ित अपमानित मनुष्यता के लिए न्याय और समानता की उनकी मांग उनकी कविताओं, गीतों, उपन्यासों और कहानियों…


Palash Biswas पलाश विश्वास पलाश विश्वास। लेखक वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं । आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की आवाज बनना ही पलाश विश्वास का परिचय है। हिंदी में पत्रकारिता करते हैं, अंग्रेजी के लोकप्रिय ब्लॉगर हैं। “अमेरिका से सावधान “उपन्यास के लेखक। अमर उजाला समेत कई अखबारों से होते हुए अब जनसत्ता कोलकाता में ठिकाना

संविधान पर पुनर्विचार आरएसएस का ‘हिडेन एजेंडा’ है’!

कॉपीराइट मुक्त रवीद्रनाथ टैगौर (Copyright Free Rabindranath Tagore) अब मुक्त बाजार के आइकन (Free market icons) में तब्दील हैं। उनके वाणिज्यिक विपणन से उसी नस्ली वर्ण वर्ग वर्चस्व के राष्ट्रवाद को मजबूत किया जा रहा…


rabindranath tagore

राष्ट्रवाद आस्था का नहीं, राजनीति का मामला है इसीलिए दूध घी की नदियां अब खून की नदियों में तब्दील

रवींद्र का दलित विमर्श-21 पलाश विश्वास पांच अक्तूबर को मैं नई दिल्ली रवाना हो रहा हूं और वहां से गांव बसंतीपुर पहुंचना है। आगे क्या होगा, कह नहीं सकते। कोलकाता में बने रहना मुश्किल हो…