Home » राम पुनियानी (page 3)

राम पुनियानी

Ram Puniyani was a professor in biomedical engineering at the Indian Institute of Technology Bombay, and took voluntary retirement in December 2004 to work full time for communal harmony in India. He is involved with human rights activities from last two decades.He is associated with various secular and democratic initiatives like All India Secular Forum, Center for Study of Society and Secularism and ANHAD. He is Our esteemed columnist

योगी आदित्यनाथ का कमीसार अवतार : इस तमाशे की शुरुआत तो मायावती ने की थी

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

इलाहाबाद से प्रयागराज : नाम में क्या रखा है? Article by Dr. Ram Puniyani in Hindi Renaming Allahabad ऐसा लगता है कि उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ नाम बदलने का अभियान चला रहे हैं। हाल में उन्होंने उत्तरप्रदेश के प्रसिद्ध शहर इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने की घोषणा की है। प्रयाग में गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती का संगम …

Read More »

सबरीमाला में महिलाओं का प्रवेश : मूलतः सभी धर्म पितृसत्तात्मक हैं

Entry of women in Sabarimala: Basically all religions are patriarchal राम पुनियानी हम एक प्रजातांत्रिक देश में रहते हैं, जिसमें सभी नागरिकों को समानता का दर्जा हासिल है। औद्योगिक क्रांति के पूर्व के समाज में असमानता का बोलबाला था। भारतीय समाज में असमानता, व्यक्ति की जाति और उसके लिंग पर आधारित है। इसी असमानता का एक पक्ष है महिलाओं के …

Read More »

‘शहरी नक्सलियों’ की गिरफ्तारियां क्यों?

dr. ram puniyani

भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा की यादें अभी ताज़ा हैं। इसी साल की पहली जनवरी को, भीमा कोरेगांव से लौट रहे हजारों दलितों को हिंसक हमलों का सामना करना पड़ा था। जांच में यह सामने आया कि मिलिंद इकबोटे और संभाजी भिड़े ने यह हिंसा भड़काई थी। प्रकरण की जांच अभी जारी है।  इसी सिलसिले में, पहले पांच सामाजिक कार्यकर्ताओं …

Read More »

वर्ल्ड हिन्दू कांग्रेस : आरएसएस हिन्दुओं का प्रतिनिधि संगठन नहीं है

वर्ल्ड हिन्दू कांग्रेस : आरएसएस हिन्दुओं का प्रतिनिधि संगठन नहीं है बढ़ते हुए वैश्विक संप्रदायवाद का मुकाबला आवश्यक – राम पुनियानी दुनिया के सभी क्षेत्रों और धर्मों की तरह, भारत से भी बड़ी संख्या में हिन्दू दूसरे देशों में जाते रहे हैं। इसका एक बड़ा कारण है वहां, विशेषकर पश्चिमी देशों में रोजगार के बेहतर अवसरों की उपलब्धता और अपेक्षाकृत …

Read More »

क्या वाकई आरएसएस की मुस्लिम ब्रदरहुड से तुलना अक्षम्य है

RSS Half Pants

क्या वाकई आरएसएस की मुस्लिम ब्रदरहुड से तुलना अक्षम्य है Is it really inexcusable to compare RSS to Muslim Brotherhood राम पुनियानी अपने हाल (अगस्त 2018) के विदेश दौरे के दौरान, इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रेटेजिक स्टडीज को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि ”आरएसएस भारत का मिजाज बदलना चाहता है। भारत में कोई भी अन्य ऐसी संगठन नहीं …

Read More »

नफरत फैलाने वाली विचारधारा ने ही की गौरी लंकेश की हत्या

dr. ram puniyani

गौरी लंकेश की गत 5 सितंबर, 2017 को बेंगलुरू में हुई हत्या से उन लोगों को गहरा धक्का लगा है जो प्रगतिशील और उदारवादी मूल्यों के हामी हैं। कई हिन्दुत्ववादी ‘ट्रोलों’ ने इस हत्या का जश्न मनाया। इनमें से कई ट्रोल ऐसे हैं जिन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ‘फॉलो’ करते हैं। गौरी केवल एक पत्रकार नहीं थीं। वे बेंगलुरू की जानमानी …

Read More »

अटल बिहारी एक बेहतरीन वक्ता थे, परंतु क्या वे अच्छे आदमी भी थे?

अटल बिहारी वाजपेयी : उदारवादी मुखौटे के पीछे का संघी चेहरा इसमें कोई संदेह नहीं कि अटल बिहारी एक बेहतरीन वक्ता थे। परंतु क्या वे अच्छे आदमी भी थे? भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटलबिहारी वाजपेयी की मृत्यु के बाद उन्हें दी गई श्रद्धाजंलियों में वाजपेयी को एक उदारमना व सौम्य नेता बताया गया। कई लोगों ने कहा कि वे …

Read More »

क्या आतंकवाद को धर्म से जोड़ा जाना चाहिए?

dr. ram puniyani

यूरोप और अमरीका की तुलना में पश्चिम एशिया में अधिक संख्या में लोग आतंकवाद के शिकार हुए हैं। दुनिया में मुसलमानों की सबसे बड़ी आबादी इंडोनेशिया में है परंतु वहां आतंकवाद का नामोनिशां तक नहीं है।

Read More »

नेहरू जेल में भगत सिंह से मिले थे या नहीं, इससे आपको क्या लेना-देना मि. मोदी ?

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

हाल में संपन्न कर्नाटक विधानसभा चुनाव (Karnataka Assembly Elections) के प्रचार के दौरान, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कई ऐसे वक्तव्य दिए, जो न केवल असत्य थे, बल्कि जिनका एकमात्र उद्देश्य उनके विरोधियों के विरुद्ध जनभावनाएं भड़काना था। कर्नाटक के बीदर में एक आमसभा को संबोधित करते हुए श्री मोदी ने एक सफ़ेद झूठ बोला। उन्होंने कहा, “जब शहीद भगत सिंह, …

Read More »

हामिद अंसारी, जिन्ना की तस्वीर और एएमयू में हंगामा

dr. ram puniyani

हाल (मई 2018) में भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी (Former Vice President of India Hamid Ansari) को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय छात्रसंघ (एएमयूएसयू) की आजीवन सदस्यता {Life Membership of Aligarh Muslim University Students’ Union (AMUSU)} प्रदान कर सम्मानित करने हेतु विश्वविद्यालय में आमंत्रित किया गया था। यद्यपि उन्हें पर्याप्त सुरक्षा प्रदान की गई थी परंतु हिन्दू युवा वाहिनी एवं एबीव्हीपी …

Read More »

फेल हो गई भाजपा की पटेल को बड़ा दिखाने के लिए नेहरू को छोटा करने की साजिश

BJP’s conspiracy to make Nehru smaller to make Patel bigger has failed पिछले कुछ वर्षों से 31 अक्टूबर के आसपास, संघ परिवार, सरदार वल्लभभाई पटेल का महिमामंडन करने वाले बयानों की झड़ी लगा देता है। सन 2017 का अक्टूबर भी इसका अपवाद नहीं था। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘मैं भाजपा से हूं और सरदार पटेल कांग्रेस में थे परंतु मैं …

Read More »

सरदार सरोवर बांध का सच : मोदी की संवेदनहीनता की पराकाष्ठा, बांध में मंदिरों ने पैसा नहीं लगाया

सरदार सरोवर बांध ऐसे विकास का प्रतीक है जो न्याय और टिकाऊ विकास की अवधारण पर आधारित नहीं है Truth of Sardar Sarovar Dam: Modi’s insensitivity, temples did not invest money in the dam प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 67वें जन्मदिन के मौके पर 17 सितंबर को सरदार सरोवर बांध का उद्घाटन किया. उन्होंने इस बांध के तीन दशक से …

Read More »

क्या है आरएसएस का शिक्षा एजेंडा?

dr. ram puniyani

आरएसएस से जुड़ी संस्था ‘‘शिक्षा संस्कृति उत्थान’’ ने हाल में राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) को अपनी अनुशंसाओं में अंग्रेज़ी, उर्दू और अरबी शब्दों के अतिरिक्त, रवीन्द्रनाथ टैगोर के विचारों, एमएफ हुसैन की आत्मकथा के अंशों, मुगल बादशाहों को उदार शासक बताए जाने संबंधी पंक्तियों, भाजपा को ‘‘हिन्दू पार्टी बताए जाने, 1984 के दंगों के लिए पूर्व प्रधानमंत्री …

Read More »

बाबरी मस्ज़िद-राममंदिर विवाद : मी लॉर्ड, अगर अदालत ही समझौते की बात करने लगेगी तो न्याय कहां से होगा

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

एक लंबे इंतज़ार के बाद, उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति जेएस खेहर ने कहा है कि काफी समय से लंबित रामजन्मभूमि बाबरी मस्ज़िद विवाद का हल न्यायालय के बाहर निकाला जाना चाहिए। उन्होंने इस मसले को सुलझाने के लिए मध्यस्थ की भूमिका निभाने का प्रस्ताव भी दिया। संघ परिवार के अधिकांश सदस्यों ने खेहर के इस कदम की प्रशंसा …

Read More »

जनसंख्या वृद्धि का सांप्रदायिकीकरण : जनसांख्यकीय आंकड़ों को समझने की ज़रूरत

dr. ram puniyani

किरण रिजुजू का ट्वीट भारत में हिन्दू आबादी घट रही है क्योंकि सांप्रदायिक ताकतों द्वारा धर्मपरिवर्तन व जनसंख्या वृद्धि के संबंध में पूर्वाग्रहों और गलत धारणाओं का लंबे समय से समाज को बांटने के लिए प्रयोग किया जा रहा है। इसी कड़ी में केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजुजू ने एक ट्वीट कर कहा कि भारत में हिन्दू आबादी घट रही …

Read More »