Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र » भगत सिंह और सावरकर एक साथ : फासीवादी गन्दी चाल!
Shaheed E Azam Bhagat Singh

भगत सिंह और सावरकर एक साथ : फासीवादी गन्दी चाल!

भगत सिंह (Shaheed E Azam Bhagat Singh) एक विचारक थे, जिनका आधार मार्क्सवाद था. लेनिन की क्रांति को सही मानते थे, और साथ देने की बात करते थे! उनकी अंतिम इक्छा लेनिन से मिलने की थी!

हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन, जिसके कमांडर चन्द्र शेखर आजाद थे, की संरचना एक मजदूर वर्ग के राज्य की स्थापना थी, जिसका खात्मा काँग्रेस और बाद में आरएसएस ने किया।

सावरकर ने तो अंग्रेजों से माफ़ी मांगी और अपनी सजा ख़त्म करवा ली और बाकी की जिंदगी, जब तक अंग्रेज रहे, उनकी सेवा में बितायी, 1942 के भारत छोड़ो आन्दोलन के विरुद्ध काम किया।

कुछ युवा गाँधी का विरोध करते हैं। एक फैशन सा है पर उसने सावरकर की तरह गद्दारी नहीं की। हाँ, भारत स्वतंत्र होने पर काँग्रेस का साथ दिया, जिसने नेहरु, पटेल के नेतृत्व में भारत को पूंजीवाद की गोद में ठेल दिया। भगत सिंह केवल माला पहनने के लिए रह गये। यह काम तो आज “आप” भी कर रहा है।

साथियों, आप अगर भगत सिंह की विचारधारा के खिलाफ हैं, पूंजीवाद को अमरता देने के लिए कटिबद्ध हैं, तो यह आपकी समझ है, पर उन्हें और उनके साथियों को गद्दारों की पांति में न लायें। नीचे के पोस्ट के धूर्तता को समझें और ऐसे पोस्ट को भेजने वालों के खिलाफ आवाज बुलंद करें!

मंगल पांडे को फाँसी❓

तात्या टोपे को फाँसी❓

रानी लक्ष्मीबाई को अंग्रेज सेना ने घेर कर मारा❓

भगत सिंह को फाँसी❓

सुखदेव को फाँसी❓

राजगुरु को फाँसी❓

चंद्रशेखर आजाद का एनकाउंटर अंग्रेज पुलिस द्वारा❓

सुभाषचन्द्र बोस को गायब करा दिया गया❓

भगवती चरण वोहरा बम विस्फोट में मृत्यु❓

रामप्रसाद बिस्मिल को फाँसी❓

अशफाकउल्लाह खान को फाँसी❓

रोशन सिंह को फाँसी❓

लाला लाजपत राय की लाठीचार्ज में मृत्यु❓

वीर सावरकर को कालापानी की सजा❓

चाफेकर बंधू (३ भाई) को फाँसी❓

मास्टर सूर्यसेन को फाँसी❓

ये तो कुछ ही नाम है जिन्होंने स्वतन्त्रता संग्राम और इस देश की आजादी में अपना सर्वोच्च बलिदान दिया❓

कई वीर ऐसे है हम और आप जिनका नाम तक नहीं जानते ❓

एक बात समझ में आज तक नही आई कि भगवान ने गांधी और नेहरु को ऐसे कौन से कवच-कुण्डंल दिये थे❓

जिसकी वजह से अग्रेंजो ने इन दोनो को फाँसी तो दूर, कभी एक लाठी तक नही मारी…❓

उपर से यह दोनों भारत के बापू और चाचा बन गए और इनकी पीढ़ियाँ आज भी पूरे देश के उपर अपना पेंटेंट समझती है❓

गहराई से सोचिए❓❓

जिसने भी मुझे यह संदेश भेजा है,उसको धन्यवाद।कृपया आप भी आगे भेजें।

 

Gp Capt KK Singh

About हस्तक्षेप

Check Also

Ajit Pawar after oath as Deputy CM

जनतंत्र के काल में महलों के षड़यंत्रों वाली दमनकारी राजशाही है फासीवाद, महाराष्ट्र ने साबित किया

जनतंत्र के काल में महलों के षड़यंत्रों वाली दमनकारी राजशाही है फासीवाद, महाराष्ट्र ने साबित …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: