Home » हस्तक्षेप

हस्तक्षेप

Guest writers views devoted to commentary, feature articles, etc..
अतिथि लेखक की टिप्पणी, फीचर लेख आदि.
Critical News of Journalism – The Fourth Pillar of Democracy, Opinion, and Media Education
लोकतंत्र का चौथा खंभा पत्रकारिता जगत की आलोचनात्मक खबरें, ओपिनियन, और मीडिया शिक्षा.
article, piece, item, story, report, account, write-up, feature, review, notice, editorial, etc. of our columnist.
साहित्य का कोना। कहानी, व्यंग्य, कविता व आलोचना
Literature Corner. Story, satire, poetry and criticism.

जनतंत्र के काल में महलों के षड़यंत्रों वाली दमनकारी राजशाही है फासीवाद, महाराष्ट्र ने साबित किया

Ajit Pawar after oath as Deputy CM

जनतंत्र के काल में महलों के षड़यंत्रों वाली दमनकारी राजशाही है फासीवाद, महाराष्ट्र ने साबित किया महाराष्ट्र के वर्तमान घटना-क्रम के खास सबक  Special lessons of current events of Maharashtra फासीवाद जनतंत्र के काल में महलों के षड़यंत्रों वाली दमनकारी राजशाही है, महाराष्ट्र में यह सत्य फिर एक बार नग्न रूप में सामने आया है। ऐसा साफ लगता है कि …

Read More »

तो नाकारा विपक्ष को भूलकर तैयार करना होगा नया नेतृत्व

Amit Shah Narendtra Modi

तो नाकारा विपक्ष को भूलकर तैयार करना होगा नया नेतृत्व नई दिल्ली। कुछ भी हो महाराष्ट्र में जिस तरह से देवेन्द्र फडनवीस ने मुख्यमंत्री और अजित पवार ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली (Devendra Fadnavis sworn in as Chief Minister and Ajit Pawar as Deputy Chief Minister in Maharashtra), उससे यह तो स्पष्ट हो गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी …

Read More »

मोदी के गुब्बारे में सुई चुभो दी शिव सेना ने – महाराष्ट्र में भारतीय राजनीति का टूटता हुआ गतिरोध 

uddhav thackeray

मोदी के गुब्बारे में सुई चुभो दी शिव सेना ने – महाराष्ट्र में भारतीय राजनीति का टूटता हुआ गतिरोध  महाराष्ट्र में कांग्रेस तथा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेताओं के बीच पिछले कुछ दिनों से चल रहे बैठक के दौर के बाद शिव सेना के साथ गठबंधन सरकार बनने के आसार बढ गए हैं। आज इस संबंध में घोषणा की …

Read More »

तो फिर देश का भी निजीकरण करके बेच दो मोदी जी

Modi in UNGA

तो फिर देश का भी निजीकरण करके बेच दो मोदी जी लोकतंत्र में सरकारें क्यों बनती हैं Why governments are formed in a democracy लोकतंत्र में सरकारें इसलिए बनती हैं कि देश को संविधान के दायरे में रहकर एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया के साथ चलाया जा सके। देश को चलाने में सरकारी विभागों के साथ ही सरकारी कंपनियों को सुचारू रूप …

Read More »

जिन्होंने कानूनों का मखौल बनाते हुए मस्जिद गिराई, उनकी इच्छा पूरी की उच्चतम न्यायालय ने ?

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

जिन्होंने कानूनों का मखौल बनाते हुए मस्जिद गिराई, उनकी इच्छा पूरी की उच्चतम न्यायालय ने ? राज्य की देखरेख में बनेगा रामजन्मभूमि मंदिर छह दिसंबर 1992 की तरह, 9 नवम्बर 2019 भी भारत के इतिहास में एक मील का पत्थर बन गया है. छह दिसंबर को दिन-दहाड़े जो मस्जिद गिरा दी गयी उसकी रक्षा करने का लिखित आश्वासन भाजपा नेता …

Read More »

अयोध्या विवाद : सर्वोच्च न्यायालय ने देश को गृह युद्ध की स्थिति से तो बचा लिया लेकिन…

The Supreme Court of India. (File Photo: IANS)

अयोध्या विवाद : सर्वोच्च न्यायालय ने देश को गृह युद्ध की स्थिति से तो बचा लिया लेकिन… मुसलमानों में अलग-थलग पड़ जाने का एहसास देश के लिए घातक है The feeling of isolation among Muslims is fatal for the country भारत की राजनीति और समाजी ताने बाने को घुन की तरह चाट रहे अयोध्या के बाबरी मस्जिद राम मंदिर विवाद में …

Read More »

मरजाने चाँद के सदके… मेरे कोठे दिया बारियाँ…

Chand Kavita

….कार्तिक पूर्णिमा की शाम से.. वो गंगा के तट पर है… मौजों में परछावे डालता.. सिरते दीप को निहारता.. सुर्ख़ आँखों वाला चाँद.. कच्ची नींद का जागा झींका.. माथे पर ढेर सी रोलियों का टीका… मन्नतों के धागे सँवारे.. आरतियाँ सर से वारे… धुआं-धुआं अगरबत्तियों की ख़ुशबू में गुम.. दौनों में तरते फूलों को चूम… अर्घ्य के छिड़के जल से …

Read More »

संकीर्णता ने हिंदी साहित्य को बंजर और साम्यवाद को मध्यमवर्गीय बना दिया

Jan Sahitya parv

संकीर्णता ने हिंदी साहित्य को बंजर और साम्यवाद को मध्यमवर्गीय बना दिया जयपुर, 16 नवंबर 2019. जनवादी लेखक संघ और जनसंस्कृति मंच द्वारा देराश्री शिक्षक सदन, राजस्थान विश्वविद्यालय में आयोजित किये जा रहे जन साहित्य पर्व के दूसरे दिन आज ‘सिनेमा के रास्ते’,’साहित्य के रास्ते’ और ‘सियासत के रास्ते’ पर सत्र हुए. पहला सत्र – सिनेमा के रास्ते पहले सत्र …

Read More »

गोदी मीडिया को नेशनल प्रेस डे पर जस्टिस काटजू ने दी ऐसे बधाई, सुलग जाएगी गोदी मीडिया की

Justice Markandey Katju

गोदी मीडिया को नेशनल प्रेस डे पर जस्टिस काटजू ने दी ऐसे बधाई, सुलग जाएगी गोदी मीडिया की नई दिल्ली, 16 नवंबर 2016. आज राष्ट्रीय प्रेस दिवस है (Today is national press day)। सर्वोच्च न्यायालय के अवकाशप्राप्त न्यायाधीश जस्टिस मार्कंडेय काटजू (Justice Markandey Katju, retired judge of the Supreme Court) ने इस मौके पर गोदी मीडिया को जिस तरह बधाई …

Read More »

आज की तारीख में काला दिवस के रूप में मने प्रेस दिवस

national press day राष्ट्रीय प्रेस दिवस

आज की तारीख में काला दिवस के रूप में मने प्रेस दिवस आज राष्ट्रीय प्रेस दिवस है (Today is national press day)। मेरे कई साथी जो मीडिया समूह में मालिकान और संपादकों की चाटुकारिता करते हुए मीडिया की जिम्मेदारियों से मुंह मोड़ रहे हैं, उनमें से काफी मुझे नकारात्मक सोच का व्यक्ति बताने लगे हैं। मैं उनसे ही पूछता हूं …

Read More »