Home » समाचार » छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव : पहले चरण में हुआ अच्छा मतदान, रमन को कड़ी टक्कर

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव : पहले चरण में हुआ अच्छा मतदान, रमन को कड़ी टक्कर

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव : पहले चरण में हुआ अच्छा मतदान, रमन को कड़ी टक्कर

Chhattisgarh Legislative Assembly election, 2018

रायपुर, 13 नवंबर।। नक्सलवादियों की चुनाव बहिष्कार की कथित धमकियों को अंगूठा दिखाते हुए छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के पहले चरण में कल 12 नवंबर को 70 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग करने की खबर है।

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के पहले चरण में नक्सल प्रभावित 18 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान संपन्न हुआ।

निर्वाचन आयोग के मुताबिक मतदान के अंतिम आंकड़ों में वृद्धि हो सकती है, क्योंकि कुछ जगहों से अभी आंकड़े संग्रहित किए जा रहे हैं।

मीडिया को वरिष्ठ उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने बताया,

"70 फीसदी से ज्यादा मतदाताओं ने मतदान किया है। अंतिम आंकड़ा आने पर यह बढ़कर पिछले चुनाव के 75 फीसदी तक हो सकता है क्योंकि कुछ जगहों से अभी आंकड़े प्राप्त किए जा रहे हैं।"

इन विधानसभा क्षेत्रों में हुआ चुनाव

छत्तीसगढ़ में जिन विधानसभा क्षेत्रों में मतदान हुए उनमें नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोंटा, मोहला-मानपुर, अंतगढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोंडागांव, डोंगरगांव, खुजी, बस्तर, जगदलपुर और चित्रकूट शामिल हैं।

2013 में यहां भाजपा को 18 में से 12 सीटें गंवानी पड़ी थीं।

प्रथम चरण में चुनाव मैदान में उतरे प्रमुख चेहरों में मुख्यमंत्री रमन सिंह भी शामिल हैं, जिनको उनके अपने ही गृह क्षेत्र राजनंदगांव में कांग्रेस की उम्मीदवार करुणा शुक्ला से कड़ी टक्कर मिल रही है।

करुणा शुक्ला दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी हैं जो 2014 में भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुई थीं।

Districts of chhattisgarh election in 12 nov

नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोंटा, मोहला-मानपुर, अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल और कोंडागांव में मतदान सुबह सात बजे आरंभ हुआ और दोहपर तीन बजे समाप्त हुआ।

खरागढ़, डोंगरगढ़, राजनंदगांव, डोंगरगांव, खुजी, बस्तर, जगदलपुर और चित्रकूट में मतदान एक घंटा विलंब से आरंभ हुआ और शाम पांच बजे संपन्न हुआ।

उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत की। उन्होंने बिलासपुर में चुनावी जनसभा को संबोधित किया।

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के साथ गठबंधन में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) भी प्रदेश में चुनाव लड़ रही है। जबकि मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने इस तीसरे गठबंधन को वोटकटवा बताते हुए सिर्फ तीन सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे।

"Free and fair election in Chhattisgarh ?"

कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि 12 नवंबर को होने वाले मतदान के दौरान फ़र्ज़ी मतदान करने के लिए पुलिसकर्मियों और सुरक्षाबलों पर दबाव डाला जा रहा है।

कांग्रेस ने कहा था कि चुनाव हार रही भाजपा आखिरी हथकंडे के रूप में मतदान में धांधली करने की कोशिश कर रही है और कांग्रेस की नज़र इस पर रहेगी।

पार्टी ने पुलिसकर्मियों से अपील की थी कि वे लोकतंत्र का साथ दें और भ्रष्ट और दमनकारी भाजपा का साथ न दें। अब ये चुनाव परिणाम आने पर स्पष्ट होगा कि मतदान प्रक्रिया कितनी निष्पक्ष और स्वतंत्र रही।

20 नवंबर को होगा दूसरे चरण का मतदान

प्रदेश में 18 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए और एक अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित है।

छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण का मतदान 20 नवंबर को होगा और मतों की गिनती 11 दिसंबर को होगी।

वर्ष 2013 के चुनाव में कांग्रेस को 40.3 फीसदी मतों के साथ 39 सीटों पर जीत मिली थी। वहीं, भाजपा को 41.04 फीसदी मतों के साथ 49 सीटें मिली थीं।

पांच राज्यों में इस साल हो रहे विधानसभा चुनावों को अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जाता है।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

<iframe width="600" height="538" src="https://www.youtube.com/embed/JMQPhfMGX0M" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>

About हस्तक्षेप

Check Also

media

82 हजार अखबार व 300 चैनल फिर भी मीडिया से दलित गायब!

मीडिया के लिये भी बने कानून- उर्मिलेश 82 thousand newspapers and 300 channels, yet Dalit …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: