हिजाब पर हंसिया-हथौड़ा : माओ ने कहा था, कम्युनिस्टों को पानी में मछली की तरह जीना है.

माओ ने कहा था, कम्युनिस्टों को पानी में मछली की तरह जीना है.

उज्ज्वल भट्टाचार्या

कामरेड सुहाद अल खतीब इराक की पहली स्त्री सांसद हैं, कम्युनिस्ट हैं. लाल हिजाब पहने उनकी एक तस्वीर आई है, जिस पर हंसिया-हथौड़े का बड़ा सा निशान बना हुआ है. हिजाब पर हंसिया-हथौड़ा देखकर बहुतेरे मुल्ले जल भुन रहे होंगे, लेकिन उनके हिजाब पहनने की वजह से नास्तिकों पर तंज़ भी किया जा रहा है.

मुझे एक पुरानी बात याद आ गई. इंदिरा गांधी अमरीका की यात्रा पर गई थीं. सरकारी पार्टी में अमरीकी राष्ट्रपति जॉनसन ने उन्हें डांस के लिये आमंत्रित किया. यह पश्चिमी तहज़ीब के अनुरूप ही था, लेकिन इंदिरा ने मना कर दिया. उन्होंने कहा कि भारत की आम जनता इसे पसंद नहीं करेगी कि उनकी प्रधान मंत्री किसी के गले में हाथ डालकर डांस कर रही है.

कामरेड सुहाद बेशक जीन्स पहनकर बाहर निकल सकती है. लेकिन उन्हें अपने मतदाताओं के बीच उनकी तरह जीना है. जीन्स पहनने से कोई सामाजिक क्रांति नहीं हो जाएगी, सिर्फ़ उनकी स्वीकारणीयता घटेगी. हां, अगर वह आगे बढ़कर हिजाब की वकालत करती तो एक अलग़ बात होती.

माओ ने कहा था, कम्युनिस्टों को पानी में मछली की तरह जीना है.