Home » समाचार » तकनीक व विज्ञान » क्या आप मैकुलर एडिमा के बारे में जानते हैं ?
Facts About Macular Edema

क्या आप मैकुलर एडिमा के बारे में जानते हैं ?

मैक्युलर एडिमा क्या है? What is macular edema?

मैक्युलर एडिमा, आंख के रेटिना के केंद्र में एक क्षेत्र मैक्युला में एक तरल पदार्थ का निर्माण है। रेटिना आंख के पीछे प्रकाश के प्रति संवेदनशील ऊतक है और मैक्युला तेज, सीधे-आगे की दृष्टि के लिए जिम्मेदार रेटिना का हिस्सा है। तरल पदार्थ का निर्माण मैक्युला में सूजन और गाढ़ा करने का कारण बनता है, जो दृष्टि को विकऋत करता है।

मैक्युलर एडिमा का कारण What causes macular edema?

मैक्युलर एडिमा तब होती है जब रेटिना के आस-पास में क्षतिग्रस्त रक्त वाहिकाओं से मैक्युला में असामान्य रिसाव और द्रव का संचय होता है। मैक्युलर एडिमा तब होती है जब आस-पास के रेटिना में क्षतिग्रस्त रक्त वाहिकाओं से मैक्युला में असामान्य रिसाव और द्रव का संचय होता है।

मैक्यूलर एडिमा का एक सामान्य कारण मधुमेह रेटिनोपैथी (diabetic retinopathy) है, एक बीमारी जो मधुमेह वाले लोगों को हो सकती है।

आंखों की सर्जरी के बाद, उम्र से संबंधित धब्बेदार अध: पतन के साथ या आंख को प्रभावित करने वाली सूजन संबंधी बीमारियों के परिणामस्वरूप भी मैक्युलर एडिमा हो सकती है। रेटिना में रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचाने वाली कोई भी बीमारी मैक्यूलर एडिमा का कारण बन सकती है।

मैक्युलर एडिमा के लक्षण क्या हैं? What are the symptoms of macular edema?

मैक्युलर एडिमा का प्राथमिक लक्षण है आपके दृष्टि क्षेत्र के केंद्र में धुंधला या लहरदार दृष्टि (blurry or wavy vision) होना।

रंग भी धुले-धुले या फीके-फीके दिखाई दे सकते हैं।

यदि आपकी एक आंख में ही मैक्युलर एडिमा है तो हो सकता है आपको काफी समय तक इसका एहसास न हो जब तक यह बीमारी गंभीर न हो जाए।

मैक्युलर एडिमा के प्रकार

आँख की शल्य चिकित्सा से उपजी मैक्युलर एडिमा

मैक्युलर एडिमा आंख की किसी भी प्रकार की सर्जरी के बाद विकसित हो सकती है, जिसमें मोतियाबिंद, ग्लूकोमा या रेटिना की बीमारी के लिए सर्जरी शामिल है। कम संख्या में लोग जिन्हें मोतियाबिंद की सर्जरी होती है (विशेषज्ञों का अनुमान केवल 1-3 प्रतिशत है) में सर्जरी के बाद कुछ हफ्तों के भीतर मैकुलर एडिमा विकसित हो सकता है। अगर एक आंख प्रभावित होती है, तो 50 प्रतिशत संभावना है कि दूसरी आंख भी प्रभावित होगी। नेत्र शल्य चिकित्सा के बाद मैक्यूलर एडिमा आमतौर पर हल्के, कम-स्थायी होते हैं, और आंखों की सूजन का इलाज करने वाली दवा की बूंदों से ठीक हो सकते हैं।

उम्र से संबंधित धब्बेदार अध: पतन (मैक्युलर एडिमा) Age-related macular degeneration

आयु से संबंधित धब्बेदार अध: पतन (एएमडी) एक बीमारी है जिसकी विशेषता मैक्युला का बिगड़ना या टूटन है, जो तेज, केंद्रीय दृष्टि के लिए जिम्मेदार है।

रेटिना की रक्त वाहिकाओं में रुकावट से उपजी मैक्युलर एडिमा

जब रेटिना की नसें अवरुद्ध हो जाती हैं (रेटिना नस रोड़ा-(retinal vein occlusion), रक्त ठीक से नहीं निकलता है और यह रेटिना में लीक हो जाता है। यदि यह रक्त मैक्युला में लीक हो जाता है, तो यह मैक्यूलर एडिमा पैदा करता है।

नसों के ब्लॉकेज से रक्त का रिसना बिगड़ जाता है और यह इस पर निर्भर करता है कि कितनी नसें अवरुद्ध हैं और उनके अंदर दबाव कितना है।

रेटिना नस का रोड़ा (Retinal vein occlusion) अधिकतर उम्र से संबंधित एथेरोस्क्लेरोसिस, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और आंखों की स्थिति जैसे कि ग्लूकोमा या सूजन से जुड़ा होता है।

डायबिटिक मैक्युलर एडिमा (DME)-Diabetic macular edema (DME)

डायबिटिक मैकुलर एडिमा (डीएमई) मधुमेह की जटिलता के कारण डायबिटिक रेटिनोपैथी से होता है। मधुमेह संबंधी रेटिनोपैथी सबसे आम मधुमेह नेत्र रोग है और काम करने वाले अमेरिकियों में अपरिवर्तनीय अंधापन का प्रमुख कारण है। डायबिटिक रेटिनोपैथी आमतौर पर दोनों आंखों को प्रभावित करती है।

( नोट – यह समाचार किसी भी हालत में चिकित्सकीय परामर्श नहीं है। यह समाचारों में उपलब्ध सामग्री के अध्ययन के आधार पर जागरूकता के उद्देश्य से तैयार की गई अव्यावसायिक रिपोर्ट मात्र है। आप इस समाचार के आधार पर कोई निर्णय कतई नहीं ले सकते। स्वयं डॉक्टर न बनें किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें।)

स्रोतThe National Eye Institute (NEI) is part of the National Institutes of Health (NIH) of Department of Health and Human Services USA. Govt.

About हस्तक्षेप

Check Also

Entertainment news

Veda BF (वेडा बीएफ) पूर्ण वीडियो | Prem Kahani – Full Video

प्रेम कहानी - पूर्ण वीडियो | वेदा BF | अल्ताफ शेख, सोनम कांबले, तनवीर पटेल और दत्ता धर्मे. Prem Kahani - Full Video | Veda BF | Altaf Shaikh, Sonam Kamble, Tanveer Patel & Datta Dharme

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: