Home » समाचार » अच्छे दिनों में फिर गिरी जीडीपी ! और कितना गिरेगी ?

अच्छे दिनों में फिर गिरी जीडीपी ! और कितना गिरेगी ?

अच्छे दिनों में फिर गिरी जीडीपी ! और कितना गिरेगी ?

जीडीपी दर गिरकर हुई 7.1 प्रतिशत

GDP rate falls to 7.1 percent

नई दिल्ली, 30 नवंबर। देश की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) दर में जुलाई-सितंबर की अवधि में गिरावट दर्ज की गई है, जोकि 7.1 प्रतिशत रही, जबकि इसकी पिछली तिमाही में यह 8.2 प्रतिशत थी। इस गिरावट का मुख्य कारण डॉलर के मुकाबले रुपये के मूल्य में आई गिरावट और ग्रामीण मांग में कमी आना माना जा रहा है। इसके साथ ही विनिर्माण और खनन गतिविधियों में गिरावट का भी जीडीपी आंकड़ों पर असर पड़ा है।

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, हालांकि साल-दर-साल आधार जीडीपी दर में तेजी रही। वित्तवर्ष 2017-18 की दूसरी तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर 6.3 प्रतिशत रही थी।

सीएसओ द्वारा जारी चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के अनुमान में कहा गया, "आधार वर्ष 2011-12 के हिसाब से वित्त वर्ष 2018-19 की दूसरी तिमाही में जीडीपी कुल 33.98 लाख करोड़ रुपये रही, जबकि वित्त वर्ष 2017-18 की दूसरी तिमाही में यह 31.72 लाख करोड़ रुपये थी।"

सीएसओ ने कहा, "सकल मूल्य वर्धित (जीवीए) दर जुलाई-सितंबर तिमाही में बढ़कर 6.9 प्रतिशत रही है, जोकि पिछली तिमाही की 8 प्रतिशत की तुलना में कम है। वित्तवर्ष 2017-18 की दूसरी तिमाही में जीवीए की दर 6.1 प्रतिशत रही थी।"

जीवीए में करों को शामिल किया जाता है, लेकिन सब्सिडी को इसमें नहीं जोड़ा जाता है।

आंकड़ों के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में जिन आर्थिक गतिविधियों की रफ्तार साल-दर-साल आधार पर 7 प्रतिशत से अधिक रही, उसमें 'विनिर्माण', 'बिजली', 'गैस', 'पानी की आपूर्ति और अन्य उपभोक्ता सेवाएं', 'निर्माण' और 'जन प्रशासन, रक्षा और अन्य सेवाओं' का क्षेत्र शामिल है।

सीएसओ ने अनुमान दस्तावेजों में कहा, "समीक्षाधीन अवधि में 'कृषि, वानिकी और मछली पालन', 'व्यापार, होटल्स और ट्रांस, संचार और ब्रॉडकास्टिंग सेवाएं' और वित्तीय, रियल एस्टेट और पेशेवर सेवाओं की वृद्धि दर क्रमश: 3.8 प्रतिशत, (-)2.4 प्रतिशत, 6.8 प्रतिशत, और 6.3 प्रतिशत रही।"

सेक्टर के हिसाब से, 'कृषि, वानिकी और मछली पालन' की साल-दर-साल तिमाही जीवीए चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 3.8 प्रतिशत रही, जबकि एक साल पहले समान तिमाही में यह 2.6 प्रतिशत थी। 'विनिर्माण' क्षेत्र बढ़कर 7.4 प्रतिशत रहा, जबकि एक साल पहले समान तिमाही में यह 7.1 प्रतिशत था।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

<iframe width="1347" height="489" src="https://www.youtube.com/embed/HqTLqhrqBsA" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>

 

About हस्तक्षेप

Check Also

media

82 हजार अखबार व 300 चैनल फिर भी मीडिया से दलित गायब!

मीडिया के लिये भी बने कानून- उर्मिलेश 82 thousand newspapers and 300 channels, yet Dalit …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: