Home » समाचार » साइटोकिन का स्तर इम्यूनोथेरेपी की समस्याओं को पहले ही बता सकता है

साइटोकिन का स्तर इम्यूनोथेरेपी की समस्याओं को पहले ही बता सकता है

साइटोकिन का स्तर इम्यूनोथेरेपी की समस्याओं को पहले ही बता सकता है

Cytokine levels could predict immunotherapy problems.

इम्यूनोथेरेपी का विकास, जो कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए शरीर की अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को जोड़ता है, कैंसर के उपचार में सबसे बड़ी प्रगति में से एक है, लेकिन कुछ रोगियों में इम्यूनोथेरेपी स्वस्थ ऊतक को नुकसान पहुंचा सकती है।

यूटी साउथवेस्टर्न के शोधकर्ताओं ने रक्त-आधारित बायोमाकर्स की पहचान की है जो इलाज से ऑटोम्यून्यून दुष्प्रभावों के विकास के सबसे बड़े जोखिम पर उन मरीजों की पहचान करने में मदद कर सकते हैं।

शोधकर्ताओं ने पाया कि कुछ साइटोकिन्स के स्तर – अणु, जो प्रतिरक्षा प्रणाली के हिस्सों को रैंप करने के संकेत देते हैं – विशेष रूप से प्रतिरक्षा से संबंधित प्रतिकूल घटनाओं वाले मरीजों में उपचार से पहले कम थे। इसके अलावा, मरीजों की तुलना में उपचार शुरू होने के तुरंत बाद इन मरीजों ने साइटोकिन के स्तर में अधिक वृद्धि देखी, जिनमें इन समस्याओं का विकास नहीं हुआ।

ब्रिटिश जर्नल ऑफ कैंसर में प्रकाशित इस अध्ययन के निष्कर्ष सुझाव देते हैं कि इम्यूनोथेरेपी से जटिलताओं के लिए हाई रिस्क पर मरीजों में पहले से ही  प्रतिरक्षा-विनियमन समस्याएं (pre-existing immune-regulation problems) हो सकती हैं। 

विस्तृत ख़बर इस लिंक पर पढ़ें – http://www.hastakshep.com/oldenglishnews/cytokine-levels-could-predict-immunotherapy-problems-19271

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

<iframe width="853" height="480" src="https://www.youtube.com/embed/5X71DBfi2AM" frameborder="0" allow="autoplay; encrypted-media" allowfullscreen></iframe>

How is it complex Regulating the immune system

Topics – Immunology and Internal Medicine, immune dysregulation, autoimmune toxicities, cytokines, What is immunotherapy, melanoma, lung cancer, kidney cancer, certain gastrointestinal cancers, liver cancer, lymphoma, childhood leukemia,

 

About हस्तक्षेप

Check Also

media

82 हजार अखबार व 300 चैनल फिर भी मीडिया से दलित गायब!

मीडिया के लिये भी बने कानून- उर्मिलेश 82 thousand newspapers and 300 channels, yet Dalit …

One comment

  1. Pingback: कीमोथेरेपी में मिलाने पर ये दवा फेफड़ों के कैंसर के रोगी की उम्र दोगुना बढ़ा देती है ! | HASTAKSHEP

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: