बचना चाहते हैं मधुमेह diabetes से, तो ये न करें और ये करें

author-image
hastakshep
20 Oct 2018
बचना चाहते हैं मधुमेह diabetes से, तो ये न करें और ये करें

बचना चाहते हैं मधुमेह diabetes से, तो ये न करें और ये करें

इंसुलिन क्या है

नई दिल्ली, 19 अक्तूबर। इंसुलिन एक हार्मोन है, जो शरीर को ग्लूकोज अवशोषित करने में सहायता करता है, जिससे शरीर में रक्त शर्करा का स्तर का संतुलन बना रहता है। इंसुलिन प्रतिरोध ग्लूकोज को अवशोषित करने में अवरोध उत्पन्न करता है।

इंसुलिन प्रतिरोध (insulin resistance ) क्या है

इंसुलिन प्रतिरोध (insulin resistance ) से मांसपेशियों, वसा और यकृत के लिए समस्याएं होती हैं, क्योंकि उन्हें ग्लूकोज (चीनी) की आवश्यकता होती है। समय के साथ इंसुलिन प्रतिरोध रक्त शर्करा के उच्च स्तर और कोशिकाओं की क्षति का कारण बन सकता है।

इंसुलिन प्रतिरोध, टाइप 2 मधुमेह (type 2 diabetes) का कारण बन सकता है। इंसुलिन प्रतिरोध वाले लोगों में अकसर पूर्व मधुमेह डायग्नोज़ किया जाता है। ऐसे लोगों को अतिरिक्त जांच और सावधानी की आवश्यकता होती है कि कहीं उनमें मधुमेह तो विकसित नहीं हो रहा।

आहार और जीवन शैली इंसुलिन प्रतिरोध से संबंधित खतरों को बढ़ा सकते हैं। खानपान में परिवर्तन करके इंसुलिन असंवेदनशीलता को कम किया जा सकता है। इससे टाइप 2 मधुमेह का खतरा कम हो जाता है।

कैसे बढ़ाएं इंसुलिन संवेदनशीलता

  1. क्या खाएं

निम्नलिखित खाद्य पदार्थ इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाते हैं -

गैर-स्टार्च वाली सब्जियां, जैसे ब्रोकोली और मिर्च

उच्च फाइबर खाद्य पदार्थ, जैसे सेम और पूरे अनाज

प्रोटीन समृद्ध खाद्य पदार्थ, पतला मांस (lean meats), मछली, और नट्स

ओमेगा -3 फैटी एसिड से समृद्ध खाद्य पदार्थ, जैसे सैल्मन

एंटीऑक्सीडेंट खाद्य पदार्थ, जैसे जामुन

मीठे आलू, जिनमें अन्य आलू की तुलना में कम जीआई हैं

पानी, विशेष रूप से मीठे पेय के लिए एक विकल्प के रूप में

फीकी चाय

  1.  क्या न खाएं

कुछ खाद्य पदार्थों से रक्त शर्करा बढ़ने का खतरा रहता है। जहां तक हो सके इनसे बचें या इनका सेवन कम करें।

फलों के रस, सोडा, और फव्वारा पेय (fountain drinks) सहित मीठे पेय पदार्थ...

शराब, विशेष रूप से बियर और अनाज से बनी शराब, (खासकर से अधिक मात्रा में)...

अनाज, चाहे परिष्कृत या पूरे, कुछ लोगों में इंसुलिन संवेदनशीलता को खराब कर सकते हैं ...

आलू, कद्दू, मक्का, और याम जैसे स्टार्च से भरपूर सब्जियां...

संसाधित स्नैक्स और डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ...

सफेद ब्रेड, चावल, पास्ता और आटा, जिसमें पूरे अनाज की तुलना में फाइबर कम है...

डेयरी उत्पाद खासकर दूध..

तला-भुना भोजन,

चॉकलेट, मक्खन, पोर्क, तथा उच्च वसा संतृप्त भोजन

(नोट – यह समाचार चिकित्सकीय परामर्श नहीं हैयह आम जनता में जागरूकता के उद्देश्य से किए गए अध्ययन का सार है। आप इसके आधार पर कोई निर्णय नहीं ले सकतेचिकित्सक से परामर्श करें। )

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

स्रोत – मेडिकल न्यूज़ टुडे

 

Subscribe