Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र » देश नशे में है .. अफीम की खेती ही फूलेगी फलेगी…तमाशा ख़त्म हुआ ..चलो बजाओ…ताली…
kavita Arora डॉ. कविता अरोरा
डॉ. कविता अरोरा

देश नशे में है .. अफीम की खेती ही फूलेगी फलेगी…तमाशा ख़त्म हुआ ..चलो बजाओ…ताली…

महीनों से चल रहा मेला उखड़ने लगा..

खर्चे-वर्चे, हिसाब-विसाब, नफ़े-नुक़सान के कुछ क़िस्से

कौन सा घाट किसके हिस्से…

अब बस यही फ़ैसला होगा…

बंदर बाट होगी

काट छाँट होगी…

बस कुछ दिन और चलेगा…

पान की दुकानों पर बातें…

लोगों की आपस में चंद मुलाक़ातें…

उसके बाद सब सब कुछ भूल जायेंगे..

गली-गली के मुहाने लगे..

चुनावी चेहरों के पोस्टर धूल खायेंगे…

डुगडुगियाँ थक गयीं…

वापस झोले में जाने को है…

खूब जुटा मजमा ..

खूब बजी बीन…

बीन पर पूँछ के सहारे खड़े खड़े ..

कुछ साँपों के क़द अचानक से बढ़ गये

अब वो पिटारों में नहीं समायेंगे

देश पर नीले दंश पड़ेंगे, तब मदारी भी नज़र ना आयेंगे ..

गुदड़ी से मैले कुचैले ..

झोले…

वही पुराने मुद्दों के मंत्र… .

क्या ख़ाक प्रजातंत्र….

भांड मिरासियों की तरह गाता बजाता इक शोर ..

गले में घंटियां टाँगे कुछ ढोर…

शहर गाँव चाल ..चौपाल खूब ..

हके…

सबने भांजी अपनी अपनी लाठी….

बन्दर बन्दरियों ने भी मिट्टी में लोट-लोट कर खायी गुलाटी

…कई रंगों ने दीवारों का मुँह साना ..

नौरंगी नार सा ..

सजा शहर पहना नित नया बाना….

खूब हुयी दिलजोई…

खूब दिल बहला ..

चलो उठो वापस घरों को जाओ ..

तुम्हें हमेशा की तरह राशन की क़तारों में खड़े होना है…

वहीं धूप सिंका तन…

वहीं रोटियों का रोना है…

कौन क्यूँ जीता…कौन क्यूँ हारा…

इससे क्या लेना देना ..तुम्हारा…..

राजनीति अब पतंग उड़ाने जैसा है

बाज़ियाँ लगती हैं….

जीत हार के सट्टे…

कुछ पैसे वाले हट्टे कट्टे लोग इक खेल खेलते हैं…

अपने-अपने फ़ायदे की रोटियाँ बेलते हैं…

राष्ट्र, राष्ट्रवाद सबका डब्बा गोल..

चुप जा कविता और मत बोल….

वोट देना भी अब पीछा छुड़ाने जैसा है..

जीतेगा वही जिसके पास पैसा है ..

जिधर की लहर हो…उधर बह लो…

इस कीचड़ भरे…

दलदल में नैतिक मूल्यों की नाव ना चलेगी…

देश नशे में है .. अफीम की खेती ही फूलेगी फलेगी…

तमाशा ख़त्म हुआ ..

चलो बजाओ…ताली…

तोते उड़ गये सारे…

अब तुम्हारे दोनों हाथ है ख़ाली…

जुटो अपने अपने धंधे पानी में ..

क्योंकि तुम्हारी कहानी में ..

कभी कोई नया मोड़ नहीं आने वाला…

चूँकि ..तुम जनता हो ..

तुम्हारी समस्याओं का एक चेहरा नहीं होता…

इसलिये तो कभी तुम्हारे सर सेहरा नहीं होता…

डॉ. कविता अरोरा

About Kavita Arora

नाम – डॉ. कविता अरोरा जन्म कार्तिक पूर्णिमा – बदायूँ (उप्र) शिक्षा – एमए, पीएचडी, प्रयाग संगीत समिति से संगीत में सीनियर डिप्लोमा पीएचडी का विषय – “रूहेलखंड मंडल में संगीत व्यवसाय में कार्यरत व्यक्तियों का समाजशास्त्रीय अध्ययन” लंदन ब्लैकपूल में लगभग दो वर्ष तक कार्य, बरेली के सी बी एस ई इन्टर कालेज की पूर्व चेयरपर्सन , सम्प्रति - स्वतंत्र रचना कर्म, गूगल द्वारा दो बार सम्मानित, देश के सबसे पुराने पोर्टल hastakshep.com की सह संपादिका, Hastakshep के यूट्यूब चैनल के देश के वरिष्ठ सुप्रसिद्ध नवगीतकारो , साहित्यकारों , के आडियो वीडियो कालम “साहित्यिककलरव “का संयोजन सक्रियता – कवयित्री, रंगकर्मी, लोकगायिका, साहित्यिक मंच संचालिका अन्य : देश के सबसे पुराने संगठन ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (बदायूँ) की जिला अध्यक्ष, लगभग 25 वर्ष पुरानी साहित्यिक ,सामाजिक सांस्कृतिक संस्था “सुरकला संगम “की अध्यक्ष देश के सुप्रसिद्ध ओज कवि डॉ. ब्रजेन्द्र अवस्थी, राष्ट्रीय गीतकार डॉ. उर्मिलेश शंखधार , कालजयी गीतों के रचयिता सुप्रसिद्ध फिल्मगीतकार संतोष आनंद जी , प्रसिद्ध शायर डॉ राहत इन्दौरी, सुप्रसिद्ध कवि गीतकार डॉ. कुमार विश्वास, सुप्रसिद्ध शायर नवाज़ देवबंदी , शायर कलीम कैसर, व अन्य कई प्रसिद्ध नामो के साथ मंच पर काव्यपाठ, सुप्रसिद्ध कवि गीतकार डॉ बुद्धिनाथ जी के एकल काव्यपाठ में गीतगागर मंच का संचालन , फिल्मगीतकार संतोष आनंद जी के साथ संस्मरणों के लाइव इंटरव्यू एक हजार से ज्यादा सांस्कृतिक, सामाजिक साहित्यिक कार्यक्रमों का आयोजन नेशनल न्यूज चैनल जे के , से 26 जनवरी 19 को टेलीकास्ट (काव्यपाठ) दस दिवसीय मुंशी प्रेम चंद महोत्सव 19 कार्यक्रम का संचालन व स्मारिका का संपादन कई पत्र पत्रिका में लेख हस्तक्षेप, अमर उजाला काव्य, गीतगागर, संवाद, धर्मयुग पुरस्कार प्राप्त अभिनव प्रयास में रचनाएं प्रकाशित.... अमेरिका, स्पेन, स्काटलैंड,, मलेशिया, इटली, बेल्जियम, जर्मनी, एम्सटडर्म, फ़्रांस, वेनेज़ुएला, लंदन, वेनिस, कोरिया, जापान, एम्सटडर्म, इजिप्ट, बार्सीलोना, चीन, पाकिस्तान, सिंगापुर, यूएई, ईरान, नीदरलैंड आदि दो दर्जन से अधिक देशों की यात्रा। हस्तक्षेप में कई लाइव डाक्यूमेन्टरी। 92.7 बिग एफ बरेली के साथ वेरीयस सोशल ईशूज़ पर मॉर्निंग शो पर डिस्कशन, इंटरव्यू सेशन। बिग एफ एम के कई कार्यक्रम में सिटी जज 92.7 बिग एफएम के बिग मेहमान कार्यक्रम में ख़ास साक्षात्कार कई अन्य संस्थाओं के कार्यक्रम में निर्णायक पद की भूमिका बदायूँ महोत्सव, हिन्दी अख़बार हिन्दुस्तान के कार्यक्रम में महिलाओं के लिये कार्यक्रम में निर्णायक पद की भूमिका , केबिनेट मिनिस्टर लक्ष्मी नारायण जी और देश के सुप्रसिद्ध सिंगर जस्सी गिल द्वारा गीत रिलीज़ 108 वाँ दाऊ जी महोत्सव,पीलीभीत कस्तूरी महोत्सव में काव्यपाठ अखिलभारतीय कवि सम्मेलन में काव्यपाठ कई मंचों पर प्रस्तुति बदायूँ, बरेली के डी.एम. द्वारा सांस्कृतिक साहित्यिक क्षेत्र के लिये सम्मानित। राधेशयाम कथावाचक स्मृति सम्मान, मुंशीप्रेमचंद स्मृति सम्मान, अटल सम्मान, अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में शौर्य सम्मान, संवाद पत्रिका द्वारा सम्मानित व अन्य कई संस्थाओं द्वारा सम्मानित

Check Also

Ajit Pawar after oath as Deputy CM

जनतंत्र के काल में महलों के षड़यंत्रों वाली दमनकारी राजशाही है फासीवाद, महाराष्ट्र ने साबित किया

जनतंत्र के काल में महलों के षड़यंत्रों वाली दमनकारी राजशाही है फासीवाद, महाराष्ट्र ने साबित …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: