Home » समाचार » देश » मोदी को अम्बानी-अडानी के बैंक बैलेंस की चिंता, रोहित और नजीब की मां की नहीं- मो. शुऐब
Rihai Manch, रिहाई मंच,
File Photo

मोदी को अम्बानी-अडानी के बैंक बैलेंस की चिंता, रोहित और नजीब की मां की नहीं- मो. शुऐब

Modi is concerned about Ambani-Adani’s bank balance, not Rohit and Najeeb’s mother- Mohd. shoaeb

नजीब-रोहित की माँ की लड़ाई देश के हर बेटे के इंसाफ की लड़ाई है- राजीव यादव

नजीब अहमद और रोहित वेमुला के इन्साफ के लिये रिहाई मंच ने मोहम्मदी खीरी के किला ग्राउंड में की एक विशाल जनसभा

नजीब के साथ हिंसा करने वाले एबीवीपी कार्यकर्ताओं और जेएनयू प्रशासन व दिल्ली पुलिस के खिलाफ हो कार्यवाही- रिहाई मंच
नजीब अहमद और रोहित वेमुला के इंसाफ के लिए निकाला मार्च, राष्ट्रपति के सम्बोधित 7 सूत्री ज्ञापन सौंपा।

रिहाई मंच लखीमपुर ने नजीब को वापस लाने और रोहित वेमुला के इंसाफ के लिये किला ग्रांउड मोहम्मदी में जनसभा कर तहसील तक मार्च निकालकर 7 सूत्री ज्ञापन राष्ट्रपति के नाम सौंपा

मोहम्मदी खीरी। जनसभा को सम्बोधित करते हुये रिहाई मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष एड0 शुऐब ने कहा कि जनता का ध्यान उसके मूलभूत मुद्दों से हटाने की राजनीति की जा रही है। मोदी सरकार अपने चहेते अडानी, अम्बानी, जिंदल को कितना लाभ पहुचा चुकी है, लेकिन नजीब की मां के सवालों को हल करने का समय उनके पास नहीं है। काला धन के नाम पर नोटो की बंदी करने वाले मोदी को बताना चाहिए कि उन्होंने खुद अपने कपड़ों पर 70 करोड़ रू खर्च किये, वह कहाँ से आये।

रिहाई मंच के महासचिव राजीव यादव ने कहा नजीब को किसने गायब कर दिया, रोहित वेमुला को इंसाफ क्यों नहीं मिला, ये सवाल तब तक उठते रहेंगे जब तक जवाब नहीं मिल जाता। क्योंकि ये सवाल सिर्फ दो इंसानों या परिवारों के सवाल नहीं है ये पूरे मुल्क और जम्हूरियत के सवाल हैं। अगर इनके जवाब सरकार नहीं दे पाती तो फिर उसे यह कहने का कोई हक नहीं है कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है।

उन्होंने कहा कि आज जब किसी नजीब की माँ को दिल्ली पुलिस इंसाफ मांगने पर घसीटती है या रोहित वेमुला की माँ को दर-दर भटकना पड़ रहा है तो ऐसे में इन माँ, बहनो की लड़ाई में हम बेटों को मज़बूती से खड़ा होना पड़ेगा।

रिहाई मंच प्रवक्ता मो0 आसिफ (शीबू) ने कि जो दिल्ली पुलिस जेएनयू के छात्रों के पाकिस्तानी आतंकियों से सम्बंध होने की फर्जी खबरें चलवाती है वही दिल्ली पुलिस नजीब का पता लगाने में इतनी आलस क्यों दिखा रही है। क्या पुलिस का व्यवहार ऐसा सिर्फ इसलिए है कि नजीब मुसलमान है

रिहाई मंच जिला अध्यक्ष मोनिस अंसारी ने कहा कि रिहाई मंच की इंसाफ की इस जंग को प्रतीकात्मक विरोध न माना जाए। नजीब का सवाल मोहम्मदी का भी सवाल है क्योंकि हमारे जैसे छोटे भाई यहां से उच्च शिक्षा के लिए जेएनयू और हैदराबाद विश्वविद्यालय में पढ़ने जा सकें इसके लिए जरूरी है कि रोहित वेमुला के हत्यारों और नजीब को गायब करने वालों को सजा दी जाए। आज इस एतिहासिक किला ग्राउंड में इकठ्ठा होकर हमने ये संकेत दे दिया है कि जुल्म को जनता अब और बर्दाश्त नहीं करने जा रही है।

 कार्यक्रम में रिहाई मंच महासाचिव राजीव यादव मुख्य अतिथि थे और अध्यक्षता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष एड. शुएब ने की। इस मौके पर विशिष्ट अतिथि के रूप में बरबर नगर पंचायत चेयरमैन संजय शर्मा, वामपंथी नेता क्रांती कुमार सिंह, इरशाद कुरैशी, गौहर व मोनिस अंसारी जिला अध्यक्ष रिहाई मंच मोहम्मदी लखीमपुर खीरी, प्रवक्ता मो0 आसिफ ( शीबू), सचिव सिद्दीक यार खान, कुशाग्र गुप्ता नगर अध्यक्ष, विधान सभा अध्यक्ष शहनवाज़ खान उर्फ शानू, खालिद हुसैन एड0, शारिक सिद्दीकी एड0, अज़ीज़ सिद्दीकी एड0, सभासद नासिर व तमाम गणमान्य नागरिक मौजूद रहे। सभा का संचालन आरिफ सिद्दीकी ने किया।

About हस्तक्षेप

Check Also

Entertainment news

Veda BF (वेडा बीएफ) पूर्ण वीडियो | Prem Kahani – Full Video

प्रेम कहानी - पूर्ण वीडियो | वेदा BF | अल्ताफ शेख, सोनम कांबले, तनवीर पटेल और दत्ता धर्मे. Prem Kahani - Full Video | Veda BF | Altaf Shaikh, Sonam Kamble, Tanveer Patel & Datta Dharme

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: