मोदीजी इंदिरा जी कुर्बानी को छिपा नहीं सकते, श्री मती गांधी की कुर्बानी तो देश की फिक्स्ड डिपोजिट है

Indira Gandhi

मोदीजी इंदिरा जी कुर्बानी को छिपा नहीं सकते, श्री मती गांधी की कुर्बानी तो देश की फिक्स्ड डिपोजिट है

Modiji cannot hide Indira ji sacrifice

कल्पना कीजिए आज के ही दिन श्रीमती इंदिरा गांधी की हत्या (Assassination of indira gandhi) के बजाय किसी आरएसएस सदस्य पीएम की हत्या हुई होती तो क्या आज मोदी सरकार पटेल पटेल जप रही होती ?

मोदी सरकार से अपील है कम से कम पूर्व पीएम की शहादत की उपेक्षा न करे। हम लगातार यह नीचतापूर्ण हरकत देख रहे हैं कि पालतू कुत्ते की तरह मीडिया और सरकारी तंत्र श्रीमती इंदिरा गांधी की शहादत को उतना महत्व नहीं दे रहा जितना देना चाहिए।

मोदी सरकार जान ले शहादत बेकार नहीं जाती, कुर्बानी को छिपा नहीं सकते। श्री मती गांधी की कुर्बानी तो देश की फिक्स्ड डिपोजिट है।

श्रीमती इंदिरा गांधी की योजना जिस विचारधारा ने बनायी थी उसी विचारधारा ने सिख जनसंहार की भी योजना बनायी थी। गांधी की हत्या और -सिख नरसंहार एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। दोनों ही हत्याएं निंदनीय हैं।

जगदीश्वर चतुर्वेदी