क्या कैंसर से सेप्सिस होने का खतरा है?

Prevent Infections that can lead to Sepsis

सितंबर सेप्सिस अवेयरनेस मंथ है। सितंबर 2011 में, सेप्सिस अलायंस ने पहली बार सेप्सिस अवेयरनेस मंथ की घोषणा की। इसके लिए सितंबर का ही महीना क्यों चुना गया ? समझा जाता है कि  SEPsis और SEPtember दोनों में SEP कॉमन होने की वजह से सितंबर में सेप्सिस जागरुकता माह का चयन किया गया। विश्व सेप्सिस दिवस हर साल 13 सितंबर को आयोजित किया जाता है और दुनिया भर के लोगों के लिए सेप्सिस के खिलाफ लड़ाई में एकजुट होने का अवसर है।

सेप्सिस अवेयरनेस मंथ के दौरान सेप्सिस की रोकथाम और मान्यता के बारे में जागरुकता फैलाएं। यह एक जीवन बचा सकता है। सेप्सिस से संबंधित जानकारियां (Sepsis in HIndi) जो हमारी साइट पर http://www.hastakshep.com/old?s=Sepsis लिंक पर उपलब्ध हैं, शेयर करें।

अमेरिकी स्वास्थ्य नियंत्रण और मानव सेवा विभाग से संबद्ध रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (Centers for Disease Control and Prevention affiliated to U.S. Department of Health & Human Services) पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक सेप्सिस से संबंधित कुछ सामान्य प्रश्नों क उत्तर दिए गए हैं

क्या कैंसर से मुझे सेप्सिस होने का खतरा है? Does cancer put me at risk for sepsis?

जी हाँ, कैंसर और कैंसर का उपचार, जैसे कीमोथेरेपी दोनों से ही आपको इंफेक्शन का खतरा हो सकता है और इंफेक्शन सेप्सिस में परिवर्तित हो सकता है।

कीमोथेरेपी आपके शरीर में सबसे तेजी से बढ़ती कोशिकाओं (अच्छी और बुरी दोनों) को मारकर काम करती है। इसका मतलब यह है कि कैंसर कोशिकाओं को मारने के साथ-साथ कीमो आपके संक्रमण से लड़ने वाली श्वेत रक्त कोशिकाओं को भी मारता है।

मुझे संक्रमण होने की संभावना कब है? When am I more likely to get an infection?

संक्रमण या सेप्सिस किसी भी समय हो सकता है। हालांकि, जब आपके शरीर में एक निश्चित प्रकार की श्वेत रक्त कोशिका (न्यूट्रोफिल) का स्तर बहुत कम होता है, जिससे आपके संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। यह स्थिति न्यूट्रोपेनिया (neutropenia) नामक रसायन का एक सामान्य दुष्प्रभाव है।

मुझे कैसे पता चलेगा कि मुझे न्यूट्रोपेनिया है? How will I know if I have neutropenia?

आपका डॉक्टर आपकी श्वेत रक्त कोशिकाओं के स्तर की जाँच करके न्यूट्रोपेनिया का नियमित परीक्षण करेगा।

संक्रमण रोकने के उपाय Ways to prevent infection.

अपने हाथों को अक्सर धोएं और अपने आसपास के अन्य लोगों को भी ऐसा करने के लिए कहें।

भीड़ वाली जगहों पर जाने और ऐसे लोगों से बचें जो बीमार हैं।

फ्लू शॉट या अन्य टीकाकरण कराने (flu shot or other vaccinations) के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

हर दिन स्नान या शॉवर लें (जब तक कि अन्यथा न बताया जाए)।

अपनी त्वचा को सूखने या चटकने से बचाने के लिए एक अनसेंटेड लोशन (unscented lotion) का प्रयोग करें।

अपने दांतों और मसूड़ों को मुलायम टूथब्रश से साफ करें।

मुंह के घावों को रोकने के लिए माउथवॉश का उपयोग करें (यदि आपका डॉक्टर ऐसी सलाह देता है)।

टूथब्रश जैसे भोजन, पेय कप, बर्तन या अन्य व्यक्तिगत वस्तुओं को साझा न करें।

किसी भी रोगाणु को मारने के लिए सभी तरह के मांस और अंडे पकाएं।

कच्चे फलों और सब्जियों को ध्यान से धोएं।

अपनी त्वचा को पालतू जानवरों के अपशिष्ट (मूत्र या मल) के सीधे संपर्क से बचाएं।

दस्ताने पहनने के बाद भी किसी जानवर को छूने या कचरे को हटाने के तुरंत बाद अपने हाथ धो लें।

बागवानी के लिए दस्ताने का उपयोग करें।

नोट – यह समाचार किसी भी हालत में चिकित्सकीय परामर्श नहीं है। यह समाचारों में उपलब्ध सामग्री के अध्ययन के आधार पर जागरूकता के उद्देश्य से तैयार की गई अव्यावसायिक रिपोर्ट मात्र है। आप इस समाचार के आधार पर कोई निर्णय कतई नहीं ले सकते। स्वयं डॉक्टर न बनें किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें।)