Home » RSS & Terrorism: Reconfirmation by Aseemanand

RSS & Terrorism: Reconfirmation by Aseemanand

Shamsul Islam
A senior RSS whole-timer, Aseemanand who is behind bars for organizing a spate of bombings against Muslims in India has spilled more beans about Hindutva terrorist nexus. In an interview published in The Caravan English magazine he told that current RSS chief and other functionaries blessed his activities. Though he later denied any interview but the magazine has uploaded the sound track of the interview proving existence of this interview.
It is not first time that RSS is found to be involved in terrorist activities starting from the murder of father of Nation, Gandhi. This article gives details of other terrorist activities of RSS.
The most shocking part of the story is that Indian intelligence agencies do not bother to question the top brass of RSS even after these disclosures. Mind it if such disclosures were made about Jehadi, Khalistani or Maoist activities the Indian intelligence agencies would have dug localities and villages to find out the ‘terrorists’. In case of Hindutva terrorism Indian state turns into a deaf & blind entity.
(Please read Hindi article in Shukrawar Weekly on the subject by clicking on the following link:
https://www.academia.edu/6056216/Sangh_RSS_phir_aayaa_shakk_ke_dayere_maen_RSS_and_Terrorism_ )

About the author

Shamsul Islam is well-known political scientist. He is associate Professor, Department of Political Science, Satyawati College, University of Delhi. He is respected columnist of hastakshep.com/old

About हस्तक्षेप

Check Also

भारत में 25 साल में दोगुने हो गए पक्षाघात और दिल की बीमारियों के मरीज

25 वर्षों में 50 फीसदी बढ़ गईं पक्षाघात और दिल की बीमांरियां. कुल मौतों में से 17.8 प्रतिशत हृदय रोग और 7.1 प्रतिशत पक्षाघात के कारण. Cardiovascular diseases, paralysis, heart beams, heart disease,

Bharatendu Harishchandra

अपने समय से बहुत ही आगे थे भारतेंदु, साहित्य में भी और राजनीतिक विचार में भी

विशेष आलेख गुलामी की पीड़ा : भारतेंदु हरिश्चंद्र की प्रासंगिकता मनोज कुमार झा/वीणा भाटिया “आवहु …

राष्ट्रीय संस्थाओं पर कब्जा: चिंतन प्रक्रिया पर हावी होने की साजिश

राष्ट्रीय संस्थाओं पर कब्जा : चिंतन प्रक्रिया पर हावी होने की साजिश Occupy national institutions : …

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

अच्छे नहीं, अंधेरे दिनों की आहट

मोदी सरकार के सत्ता में आते ही संघ परिवार बड़ी मुस्तैदी से अपने उन एजेंडों के साथ सामने आ रहा है, जो काफी विवादित रहे हैं, इनका सम्बन्ध इतिहास, संस्कृति, नृतत्वशास्त्र, धर्मनिरपेक्षता तथा अकादमिक जगत में खास विचारधारा से लैस लोगों की तैनाती से है।

National News

ऐसे हुई पहाड़ की एक नदी की मौत

शिप्रा नदी : पहाड़ के परम्परागत जलस्रोत ख़त्म हो रहे हैं और जंगल की कटाई के साथ अंधाधुंध निर्माण इसकी बड़ी वजह है। इस वजह से छोटी नदियों पर खतरा मंडरा रहा है।

Ganga

गंगा-एक कारपोरेट एजेंडा

जल वस्तु है, तो फिर गंगा मां कैसे हो सकती है ? गंगा रही होगी कभी स्वर्ग में ले जाने वाली धारा, साझी संस्कृति, अस्मिता और समृद्धि की प्रतीक, भारतीय पानी-पर्यावरण की नियंता, मां, वगैरह, वगैरह। ये शब्द अब पुराने पड़ चुके। गंगा, अब सिर्फ बिजली पैदा करने और पानी सेवा उद्योग का कच्चा माल है। मैला ढोने वाली मालगाड़ी है। कॉमन कमोडिटी मात्र !!

Entertainment news

Veda BF (वेडा बीएफ) पूर्ण वीडियो | Prem Kahani – Full Video

प्रेम कहानी - पूर्ण वीडियो | वेदा BF | अल्ताफ शेख, सोनम कांबले, तनवीर पटेल और दत्ता धर्मे. Prem Kahani - Full Video | Veda BF | Altaf Shaikh, Sonam Kamble, Tanveer Patel & Datta Dharme

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: