Home » समाचार » हर हर मोदी : डेढ़ साल में ढह गया ‘स्वच्छ भारत मिशन’ का शौचालय

हर हर मोदी : डेढ़ साल में ढह गया ‘स्वच्छ भारत मिशन’ का शौचालय

मुरादाबाद, 5 फरवरी (एजेंसी) । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) द्वारा चलाए जा रहे एक अहम मिशन important mission को उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद (Uttar Pradesh's Moradabad) में पलीता लगाया जा रहा है। इस तरह स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) योजना Swachh Bharat Mission (Rural) scheme के तहत बने शौचालय निर्माण (Toilets construction) में घटिया सामग्री लगाकर लोगों की जान से खिलवाड़ किया गया है।

करीब डेढ़ साल पहले इस योजना के तहत बनाए गए एक शौचालय की छत अचानक गिर जाने से उसके मलबे में दबकर एक बुजुर्ग घायल हो गया। इस मामले में डीपीआरओ को मिली शिकायत के आधार पर ब्लाक स्तर से जांच शुरू कर दी गई है।

बीते शुक्रवार को स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) योजना के तहत बना एक शौचालय अचानक ढह गया था, जिसके बाद उसके मलबे में दबकर 80 साल के बुजुर्ग जीवन राम घायल हो गए थे। हादसे के समय जीवन राम सिंह उसके अंदर ही मौजूद थे, तभी शौचालय भरभरा कर गिर पड़ा। आनन फानन में उन्हें मुरादाबाद के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनका उपचार किया जा रहा है। इस हादसे के बाद पूरे देश में इस योजना के तहत चल रहे शौचालय निर्माण की गुणवत्ता को लेकर सवालिया निशान खड़े हो गए हैं।

घायल बुजुर्ग जीवन राम सिंह की पोती ने बताया,

"डेढ़ वर्ष पूर्व इस मिशन के तहत ग्राम प्रधान और सेक्रेटरी द्वारा उनका शौचालय बनवाया गया था। इसके निर्माण में घटिया सामग्री लगा कर ग्राम प्रधान और सेक्रेटरी ने पैसे खा लिए हैं। इस तरह निर्माण यदि हो रहा है तो यह चिंता का विषय है और ऐसा हादसा किसी के साथ भी हो सकता है इसके लिए पूरी तरह से जांच होनी चाहिए और जिम्मेदार लोगों पर कार्यवाही होनी चाहिए।"

इस मामले में सोमवार को उपनिदेशक (पंचायत) महेंद्र सिंह ने कहा,

"इसके लिए हम कड़े कदम उठा रहे हैं। डीपीआरओ को मिली शिकायत के आधार पर इसके लिए जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।"

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

<iframe width="853" height="480" src="https://www.youtube.com/embed/SQLqe45HmYE" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>

 

About हस्तक्षेप

Check Also

media

82 हजार अखबार व 300 चैनल फिर भी मीडिया से दलित गायब!

मीडिया के लिये भी बने कानून- उर्मिलेश 82 thousand newspapers and 300 channels, yet Dalit …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: