Home » Tag Archives: ईस्ट इंडिया कंपनी

Tag Archives: ईस्ट इंडिया कंपनी

टीपू सुल्तान : नायक या खलनायक?

Tipu Sultan

हाल में कर्नाटक में दलबदल और विधायकों की खरीद-फरोख्त (Change of party and purchase of MLAs in Karnataka) का खुला खेल हुआ जिसके फलस्वरूप,  कांग्रेस-जेडीएस सरकार गिर गई और भाजपा ने राज्य में सत्ता संभाली। सत्ता में आने के बाद, भाजपा सरकार ने जो सबसे पहला निर्णय लिया वह यह था कि राज्य में टीपू सुल्तान की जयंती (Tipu Sultan’s …

Read More »

जब सन् 47 में निहत्थे ख़ुदाई खि़दमतगार अपने हिन्दू, सिख भाइयों की जान बचाने सड़कों पर निकले

Things you should know सामान्य ज्ञान general knowledge

साम्राज्यवादी अंग्रेज़ों (Imperialist English) को न तो मुसलमानों से कोई मोहब्बत (Love with Muslims) थी, न हिन्दुओं से कोई नफ़रत (No hate to Hindus)। उनको तो बस अपने सियासी और आर्थिक लाभ से मतलब था। अमृत पाल सिंह का यह आलेख “सूबा सरहद में ब्रिटिश हुकूमत द्वारा इस्लाम का प्रयोग” (The use of Islam by the British rule in the …

Read More »

जलियाँवाला बाग़ जनसंहार से हो गयी थी अंग्रेजी राज के पतन की शुरूआत

Jallianwala Bagh जालियांवाला बाग़

जलियाँवाला बाग़ जनसंहार (Jallianwala Bagh Massacre) से हो गयी थी अंग्रेजी राज के पतन की शुरूआत इंदौर 24 अप्रैल, 2019 (मृगेन्द्र सिंह). 13 अप्रैल 1919 की तारीख हमें अंग्रेजों के दमन के साथ ही ब्रिटिश शासन की हैवानियत (brutality of British rule) का घिनौना स्वरूप दिखाती है। जलियांवाला बाग हत्या काण्ड (Jallianwala Bagh massacre) को सौ साल पूरे हो चुके …

Read More »

राजा नारायण सिंह : ब्रिटिश राज के प्रथम विद्रोही

India news in Hindi

राजा नारायण सिंह : ब्रिटिश राज के प्रथम विद्रोही  आंचलिक पत्रकारिता (Regional journalism) के क्षेत्र में कृष्ण किसलय ने कई मीलस्तंभ कार्य किया है, जिनमें में से एक है ब्रिटिश राज का भारत में सबसे पहले विरोध करने वाले बिहार के विद्रोही राजा नारायण सिंह (Bihar’s rebel king Narayan Singh) के गुमनाम इतिहास को सामने लाना। राजा नारायण सिंह के …

Read More »

कारपोरेट प्रायोजित युद्धोन्माद : हम परमाणु विध्वंस का रास्ता चुन रहे

Palash Biswas पलाश विश्वास पलाश विश्वास। लेखक वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं । आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की आवाज बनना ही पलाश विश्वास का परिचय है। हिंदी में पत्रकारिता करते हैं, अंग्रेजी के लोकप्रिय ब्लॉगर हैं। “अमेरिका से सावधान “उपन्यास के लेखक। अमर उजाला समेत कई अखबारों से होते हुए अब जनसत्ता कोलकाता में ठिकाना

अभी से बढ़ गयी बेतहाशा महंगाई और लाल निशान पर घूम फिर रहे अर्थव्यवस्था के तमाम संकेतों को नजर अंदाज करके कारपोरेट प्रायोजित युद्धोन्माद में निष्णात हम भारतीय नागरिक आत्म ध्वंस परमाणु विध्वंस का रास्ता चुन रहे हैं और यह हमारे इतिहास और भूगोल का सबसे बड़ा संकट है।

Read More »