Home » Tag Archives: कुत्ते

Tag Archives: कुत्ते

मोदीजी इंदिरा जी कुर्बानी को छिपा नहीं सकते, श्री मती गांधी की कुर्बानी तो देश की फिक्स्ड डिपोजिट है

Indira Gandhi

मोदीजी इंदिरा जी कुर्बानी को छिपा नहीं सकते, श्री मती गांधी की कुर्बानी तो देश की फिक्स्ड डिपोजिट है Modiji cannot hide Indira ji sacrifice कल्पना कीजिए आज के ही दिन श्रीमती इंदिरा गांधी की हत्या (Assassination of indira gandhi) के बजाय किसी आरएसएस सदस्य पीएम की हत्या हुई होती तो क्या आज मोदी सरकार पटेल पटेल जप रही होती …

Read More »

आईएमएफ दंगों की वापसी, पाकिस्तान से इक्वाडोर तक छाई अशांति

IMF riots return, unrest from Pakistan to Ecuador

आईएमएफ (IMF) की नई भाषणबाज़ी मीठी है, लेकिन इसकी नीतियां पहले से कहीं ज़्यादा कठोर हो चली हैं। विजय प्रसाद हर साल अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) का बोर्ड (Board of International Monetary Fund) वाशिंगटन डीसी स्थित अपने मुख्यालय में मिलता है। इस साल यह बोर्ड नई अध्यक्ष क्रिस्टलिना जॉरजिएवा के नेतृत्व में मिलेगा। वर्ल्ड बैंक (World bank) से आईं क्रिस्टलिना …

Read More »

भारत में इस सीईओ के मौत के साथ ही 14.5 करोड़ डॉलर का पासवर्ड चला गया, निवेशकों में हाहाकार

टोरंटो, 7 फरवरी। कनाडा के उद्यमी Canadian entrepreneur और क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज क्वाड्रिगा Canadian crypto exchange QuadrigaCX के सीईओ गेराल्ड कॉटन Gerald Cotten की भारत India के एक अस्पताल में मौत death in hospital हो गई, जिससे उनके हजारों निवेशक उलझन में हैं, क्योंकि उनके जाने से निवेशकों के 14.5 करोड़ डॉलर की रकम का पासवर्ड भी चला गया है। हालांकि …

Read More »

दिल टूटने की वजह से दुनिया के सबसे प्यारे कुत्ते की मौत, फेसबुक पर हैं 16 लाख फॉलोअर्स

सैन फ्रान्सिस्को, 20 जनवरी। दुनिया में सबसे क्यूट दिखने वाले कुत्ते (The most cute looking dog in the world) की हाल ही में मौत हो गई। फेसबुक पर इस कुत्ते के कुल 16 लाख फॉलोअर्स (Boo’s FB page) हैं। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यह कितना प्यारा था और उसके चाहने वाले कितने थे। कुत्ते के मालिक ने …

Read More »

महाराष्ट्र : राजग सहयोगियों में खुलेआम गाली-गलौज, एक ने दूसरे को बताया कलंक तो दूसरे ने पहले को कुत्ता

महाराष्ट्र : राजग सहयोगियों में खुलेआम गाली-गलौज, एक ने दूसरे को बताया कलंक तो दूसरे ने पहले को कुत्ता मुंबई, 15 दिसम्बर। महाराष्ट्र में एक मंत्री सहित राजग के दो प्रमुख सहयोगियों ने जुबानी जंग में सारी मर्यादा लांघते हुए एक-दूसरे को 'कुत्ता' कह डाला। महाराष्ट्र स्वाभिमान पार्टी (एमएसपी) और सत्तारूढ़ गठबंधन सहयोगी शिवसेना के पर्यावरण मंत्री रामदास कदम के …

Read More »

कृष्णमूर्ति का काम वही होगा, जो अरविंद सुब्रह्मण्यन ने किया है — मोदी-जेटली के तुगलकीपन को सर्टिफिकेट देना !

अरविंद सुब्रह्मण्यन के दिमाग की ही उपज रही हैं जेटली की ऊटपटांग दलीलें मोदी-जेटली को प्रमाणपत्र देने के लिए अब एक की जगह दूसरा सुब्रह्मण्यन ! —अरुण माहेश्वरी भारत सरकार के नये आर्थिक सलाहकार नियुक्त किए गए हैं कृष्णमूर्ति सुब्रह्मण्यन। पूर्व सलाहकार अरविंद सुब्रह्मण्यन की जगह अब कृष्णमूर्ति सुब्रह्मण्यन। पिछले जून महीने में अरविंद के चले जाने के छ: महीनों …

Read More »

सीबीआई बनाम सीबीआई विश्लेषण : पूरी तरह से बेपर्द हो गया मोदी का स्वेच्छाचार !

सीबीआई बनाम सीबीआई विश्लेषण : पूरी तरह से बेपर्द हो गया मोदी का स्वेच्छाचार —अरुण माहेश्वरी मोदी सरकार किस प्रकार कानून को धत्ता बताते हुए स्वेच्छाचारी तरीके से चल रही है, इसका एक नमूना सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई बनाम सीबीआई मामले की अब तक की सुनवाई से पूरी तरह से सामने आ चुका है। इस मामले में सब जानते हैं कि …

Read More »

आज लोहिया होते तो गैर भाजपावाद का आह्वान करते

आज लोहिया होते तो गैर भाजपावाद का आह्वान करते रामस्वरूप मंत्री ‘जिंदा कौमें पांच साल इंतजार नहीं करतीं.’ गैर-कांग्रेसवाद के जनक और समाजवादी चिंतक डॉ. राम मनोहर लोहिया का यह कथन आज की सरकारों के लिए भी उतना ही प्रासंगिक है जितना 1960 के दशक में जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी की सरकारों के लिए था. लोहिया युग पुरुष …

Read More »

रणवीर सेना ने दी फारवर्ड प्रेस के हिंदी संपादक को जान मारने की धमकी

नई दिल्ली : मोदीराज में अपराधियों के हौसले हुलंद हैं। हाल ही में एनडीटीवी के एंकर रवीश कुमार को गालियां और जान से मारने की धमकियां सुर्खियों में थीं। रवीश कुमार सेलिब्रिटी हैं और उनके पास एनडीटीवी है, इसलिए ये प्रकरण सारे देश की निगाह में आ गया,लेकिन जो सेलिब्रिटी नहीं हैं और ज़रा भी मुंह खोल रहे हैं उनको …

Read More »

फीफा वर्ल्ड कप के लिए कुत्तों को भूखा मार दिया ममतामयी ममता सरकार ने ?

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के नेता चंद्र कुमार बोस ने आरोप लगाया है कि ममतामयी ममता सरकार ने फीफा वर्ल्ड कप के लिए कुत्तों को भूखा मार दिया। चंद्र कुमार बोस ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा कि फीफा वर्ल्ड कप के कारण पश्चिम बंगाल सरकार ने स्टेडियम में रह रहे कुत्तों को पकड़कर बिना भोजन दिए एकांत …

Read More »

कार्पोरेट राजनीति में कुत्ता-खचेड़

प्रेम सिंह       हरियाणा के एक मंत्री ने फिर एक बार संघी संस्कार प्रकट किया है. कहा है, सौ कुत्ते (विपक्षी नेता) मिल कर एक शेर (नरेंद्र मोदी) को गुजरात में नहीं हरा सकते. पिछले लोकसभा चुनाव का 'पिल्ला प्रकरण' सबको याद ही होगा. पिल्ला कुत्ते के बच्चे को कहते हैं. कार्पोरेट राजनीति एक कुनबा है. इस कुनबे में सबसे …

Read More »

गौरी लंकेश की कुर्बानी जाया नहीं जाएगी

इतिहास में सत्य और न्याय के लिए कुर्बानियां दी जाती रहीं हैं, आगे भी दी जाती रहेंगी… भागलपुर। पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के खिलाफ भागलपुर स्टेशन चौक पर साझा प्रतिवाद-प्रर्दशन व सभा का आयोजन किया गया। प्रतिवाद प्रदर्शन में भारी तादाद में बुद्धिजीवियों, छात्र – नौजवानों व समाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि …

Read More »

इनके बारे में सोचिए लेकिन आप ऐसा नहीं करेंगे — मार्ज पीयर्सी

  इनके बारे में सोचिए लेकिन आप ऐसा नहीं करेंगे — मार्ज पीयर्सी घूँघराले भूरे बालों वाली उस बच्ची के बारे में सोचिए जो पुरानी कार की पिछली सीट पर अपने कुत्ते के साथ सो रही है और उसके माँ-बाप कार चलाते आगे की अस्त-व्यस्त सीट पर जम्हाई ले रहे हैं।   भूरी त्वचा वाले उस बच्चे के बारे में …

Read More »

गोरखपुर जनसंहार और राजनीतिक और प्रशासनिक असंवेदनशीलता

नरेन्द्र यादव               अर्थशास्त्र के जनक एडम स्मिथ ने 1776 में पप्रकाशित अपनी प्रसिद्ध पुस्तक Wealth of Nations  में एक जगह लिखते हैं,  “कि जिस व्यक्ति का सारा जीवन केवल एक ही प्रकार के सरल कार्य को करते हुए व्यतीत होता है उसकी अपनी समझ अथवा बुद्धि के प्रयोग की आदत समाप्त हो जाती है, तथा वह इतना अधिक मूर्ख बन …

Read More »

रवींद्र की चंडालिका में बौद्धमय भारत की गूंज है तो नस्ली रंगभेद के खिलाफ निरंतर जारी चंडाल आंदोलन की आग भी है

  रवींद्र का दलित विमर्श-चार पलाश विश्वास रवींद्र की रचनाधर्मिता सिरे से सामाजिक यथार्थ की जमीन पर आधारित है।वे भारतीय समाज की सबसे बड़ी समस्या असमानता और अन्याय के नस्ली भेदभाव को कमानते रहे हैं और इसीलिए उनका धर्म मनुष्यता का धर्म है और उनका जीवन दर्शन भी मनुष्यता का दर्शन है।रवींद्र की चंडालिका में बौद्धमय भारत की गूंज है …

Read More »

गौ रक्षा या मानव हिंसा, क्या है “मन की बात”

इलिका प्रिय गौ रक्षा के नाम पर होने वाली हिंसा पर प्रधानमंत्री द्वारा कठोर कारवाई करने की बात कहा जाना गौ रक्षा पर फिर से एक नया पृष्ठ जोड़ता है। कभी गौ रक्षा की बात…. फिर बात से लोगों में उत्तेजना…… फिर गौ रक्षा के नाम पर हिंसा…….जब हिंसा कई दिनों तक चालू रही तब सरकार की ओर से कानून …

Read More »

अरुणा शानबाग से निर्भया तक, क्या बदला ?

अरुणा शानबाग की याद में वीणा भाटिया 18 मई, 2015 को 62 साल की अरुणा रामचंद्र शानबाग की 42 वर्षों तक लगातार कोमा में रहने के बाद मृत्यु हो गई थी। वे कोई असाधारण महिला नहीं थीं। पर उनके जीवन और मौत में कुछ तो असाधारणता थी, जिसने संवेदनशील लोगों, बुद्धिजीवियों और महिला अधिकार के लिए लड़ने वाले लोगों के …

Read More »

मोदी राज से योगी राज की ओर…..मीडिया हिन्दुत्व लहर की पूर्ण चपेट में

मुकेश कुमार पांच राज्यों के लोकतांत्रिक जनमत ने प्रमाणित कर दिया है कि वर्तमान 21वीं सदी मोदी व आरएसएस-भाजपा की सदी है। जिसके झंडाबरदार भागवत, शाह व मोदी व योगी जी हैं। कालांतर से आरएसएस-भाजपा पर ये आरोप मढ़े जाते रहे हैं कि ये सैद्धांतिक व मूल रुप में ही दलितों, महिलाओं व मुस्लिमों व अन्य अल्पसंख्यकों के घोर विरोधी …

Read More »

माओवाद की जड़ है धूर्त ब्राह्मण, उद्दंड क्षत्रिय और व्यापार बुद्धि वाला वैश्य – ई.एन.राममोहन, पूर्व महानिदेशक बीएसएफ

आनंद स्वरूप वर्मा सीमा सुरक्षा बल के पूर्व महानिदेशक ई.एन.राममोहन को कश्मीर और उत्तर पूर्व में विद्रोहियों से निपटने का जबर्दस्त अनुभव प्राप्त है। 1965 से ही भारतीय पुलिस सेवा में कार्यरत राममोहन का लंबा समय असम और नगालैंड में बीएसएफ के प्रमुख के रूप में बीता है। अप्रैल 2010  में दंतेवाड़ा में माओवादियों ने जब सीआरपीएफ के 76 जवानों …

Read More »

गौ रक्षा के नाम पर अत्याचार और लूट को रोके सरकार

विद्या भूषण रावत एक अप्रैल को राजस्थान के 'गौभक्तों'' ने अपनी 'देशभक्ति'' का परिचय देते हुए एक निरपराध किसान को राष्ट्रीय राजमार्ग अलवर बहरोड़ रोड में बेरहमी से मार डाला। उसका कसूर सिर्फ इतना के वह गाय पालने वाला मुसलमान था और जयपुर से दो नयी गायें खरीदकर अपने दूध के कारोबार को बढ़ाना चाहता था। मेवात के नूह ब्लॉक …

Read More »

जब अमेरिका डरता है तो शुरू होती है विचारों पर निगरानी

मनोज बोगटी डरपोक अमेरिका डरता है अमेरिका बाँस के जंगलों  में लगी आग से डरता है अमेरिका किसी उत्सव में अम्बर को चीरते   फटने वाले राकेट पटाखे से डरता है अमेरिका एकटुक अंधेरा से डरता है अमेरिका.   जब किसी मजदूर का टिफिनबॉक्स खुलता है और निकलती हैं जली हुई रोटी अमेरिका के होशोहवास उड़ जाते हैं.   रोटी …

Read More »

नाइजीरिया के बारे में हम कितना जानते हैं ! मीडिया ने लोगों को कूपमंडूकबना दिया

आनंद स्वरूप वर्मा हम नाइजीरिया के बारे में क्या जानते हैं? यही न कि वहां के लोग नशीली दवाओं की तस्करी करते हैं, कुत्ते-बिल्ली खाते हैं, अपसंस्कृति फैलाते हैं और हर तरह के समाजविरोधी कामों में लिप्त रहते हैं। हमारे अंदर सदियों से जड़ जमा कर बैठे नस्लवाद को, जो कभी जातीय विद्वेष तो कभी छूत-अछूत के रूप में प्रकट …

Read More »

भूले नहीं कि एक मां गंगा भी है

अरुण तिवारी नया संवत्सर आया है। नवीन रातें आई हैं। नवरात्रों में हम मां के अनेक रूपों को पूजते हैं। मां से अनेक आकांक्षाओं की पूर्ति की अपेक्षा रखते हैं। गो, गंगा, गायत्री, तुलसी, पृथ्वी – भारतीय परंपरा ने पालन-पोषण करने वाली ऐसी कई शक्तियों को मां माना है। क्या कभी हम इन माताओं से भी पूछते हैं कि इनकी …

Read More »

ऐसा पुल, कुत्तों को आत्महत्या करने के लिए करता है मजबूर

डीबी लाइव कभी आपने किसी कुत्ते को आत्महत्या करते हुए देखा है ? अगर हम आपसे ऐसा सवाल करें तो शायद आपको अटपटा लगेगा। लेकिन आज हम आपको ऐसी ही एक सच्ची घटना से रु-ब-रु कराने जा रहे हैं, जिसे देखकर आप भी दंग रह जाएंगे। एक ऐसा पुल, जो इंसान को नहीं बल्कि कुत्तों को आत्महत्या करने के लिए …

Read More »

नोंक पर नौकरशाही

जावेद अनीस भारत में पुलिस और प्रशासन के कामों में राजनेताओं उनसे जुड़े लोगों और संगठनों का दखल कोई नया चलन नहीं है. इसकी वजह से अफसर और नौकरशाह सियासी देवताओं के मोहरे बनने को मजबूर होते हैं ऐसा वे कभी लालच और कभी मजबूरियों की वजह से करते हैं. पुलिस और प्रशासनिक अधकारियों,अफसरों की नियुक्ति व तबादलों में होने …

Read More »

मौलिक मोदी के बेलिबास बोल, देश के लिए कठिन समय और प्रधानमंत्री गैर जिम्मेदार

मौलिक मोदी के बेलिबास बोल, देश के लिए कठिन समय और प्रधानमंत्री गैर जिम्मेदार वीरेन्द्र जैन गत दिवस मुरादाबाद में आयोजित परिवर्तन रैली में मोदी का भाषण (Modi’s speech at Parivartan rally held in Moradabad) सुनने के बाद वह सज्जन भी निराश दिखे, जो उन्हें भाजपा और भारत का एक मात्र उद्धारक मानने लगे थे। उनका कहना था कि असल …

Read More »

मुझे प्रधानमंत्री बना दो, चाय भी बनाता हूं, हर नागरिक के खाते में 25-25 लाख रुपये भिजवा दूंगा-आजम खां

आजम खां बोले-मुझे प्रधानमंत्री बना दो, चाय भी बनाता हूं, देश के हर नागरिक के खाते में 25-25 लाख रुपये भिजवा दूंगा नई दिल्ली, 18 अक्टूबर। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आज़म खां ने एक बार फिर नाम लिए बिना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा है “भाई मुझे चाय बनानी आती है और तो और मुझे …

Read More »

रामसिंगार भूख से मर गया, आइये इस व्यवस्था के लिए एक मिनट का मौन रखें !

रामसिंगार भूख से मर गया, आइये इस व्यवस्था के लिए एक मिनट का मौन रखें ! संध्या नवोदिता यह आज की खबर है। कोई रामसिंगार भूख से मर गया। हालाँकि यह कोई ख़ास खबर नहीं है इसलिए अख़बार ने इसे पेज नम्बर इक्कीस पर छापा है। छापा है यह कोई कम बड़ी बात नहीं है। रामसिंगार गौड़ भूख से मरा …

Read More »

शाह को खुश करने का खट्टर फार्मूला- संसद और विधान सभाएं प्रवचन का केंद्र

शाह को खुश करने का खट्टर फार्मूला- संसद और विधान सभाएं प्रवचन का केंद्र रणधीर सिंह सुमन तो संसद और विधानसभाओं में दस हजार खतरनाक लोग बैठे हैं ? जैन मुनि तरुण सागर ने हरियाणा विधानसभा में प्रवचन दिए और उन्होंने संसद और विधानसभाओं के सदस्यों को खतरनाक व्यक्ति घोषित कर दिया। लोकतंत्र में सभी को अपनी बात कहने की …

Read More »

गाय, गोरक्षा और प्रधानमन्त्री का गुस्सा

डॉ. अनिल मिश्र चार-पांच दिन पहले मेरे एक रिश्तेदार ने देशज कहावत कोट करी। बोले, “वर मरै कि कन्या/बछिया त मिलिन जई।” मैंने फ़ौरन कहा, देखिए! ये ब्राह्मणवादी सोच है। ये कॉमन सेन्स इंसानों के आगे ब्राह्मणों के गोरखधंधों को प्राथमिकता देती है। ये भला कोई बात हुई?” फिर मुझे याद आया कि ब्राह्मण समुदाय में गाय कैसे सामाजिक वर्चस्व …

Read More »

आप यूनिवर्सिटी की कई डिग्रियाँ लेकर भी गधे हो सकते हैं

राजीव नयन बहुगुणा प्रश्न डिग्री का नहीं, वंचना का है। आप यूनिवर्सिटी की कई डिग्रियाँ लेकर भी गधे हो सकते हैं। क़ानून, अर्थशास्त्र, दर्शन आदि का प्रोफेसर रह चुका एक शख़्स वर्षों से भारतीय राजनीति के रंग मंच पर कभी विदूषक, कभी भांड, कभी गधा तो कभी कटखने कुत्ते की भूमिका निभाता चला आ रहा है। दूसरी ओर भारतीय मनीषा …

Read More »

आतंकवाद की पूरी फिलासफी आर्थिक तंत्र से जुड़ी है- राजीव यादव

जब आतंकी घटनाएं होती हैं तो हथियारों का कारोबार बढ़ता है आतंकवाद एक इंटरनेशन प्रोडक्ट है जो कि हमारे बाजार में बेचा जा रहा है अगर आईबी को संसद के प्रति जवाबदेह बना दिया जाए तो एक बड़े स्तर पर घटनाओं  को रोका जा सकता है उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ अखिलेश सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर रिहाई मंच …

Read More »

मोदी का मुखौटा उखड़ रहा है

[button-red url=”#” target=”_self” position=”left”]रणधीर सिंह सुमन[/button-red] यः स्वभावो हि यस्यास्ति स नित्यं दुरतिक्रमः। श्वा यदि क्रियते राजा स किं नाश्रातयुपानहम् ? बनारस व लखनऊ में नरेन्द्र मोदी का जनता के विभिन्न तबकों में काले झंडों व मोदी गो बेक के नारों से स्वागत किया. बनारस में कई बार लाठी चार्ज भी करना पड़ा. वाराणसी में एक ओर पूर्व निर्धारित कार्यक्रम …

Read More »

वाह रे बजरंगी, इतिहास की ऐसी निर्मम खिल्ली… स्वामी दयानंद सरस्वती को मरणोपरांत पद्मभूषण ?

स्वामी दयानंद सरस्वती को मरणोपरांत पद्मभूषण? गोस्वामी तुलसी की अगली बारी या सूर या कबीर या रसखान या मीराबाई की? [button-blue url=”#” target=”_self” position=”left”]अब नेताजी की फाइलों से कुछ बना हो या नहीं, यह नजारा देखना बहुत दिलचस्प होगा कि जिस मजहबी सियासत से सबसे जियादा नफरत नेताजी को थी, उसके हाथों खिलौना बनकर उनकी गति क्या होती है।[/button-blue] यकीन …

Read More »

” मोदी गो बैक ” नारा लगाने वाले छात्रों को रिहाई मंच करेगा सम्मानित

अंबेडकरवादी चेतना ने मोदी को दी चेतावनी ‘मोदी गो बैक’- रिहाई मंच नैतिकता का पाठ पढ़ाकर, रोहित के दोषियों को बचाने की फिराक में मोदी मोदी गो बैक का नारा लगाने वाले छात्रों को रिहाई मंच करेगा सम्मानित मोदी गो बैक कहकर, दलित विरोधी केन्द्र सरकार को धक्का मारा अंबेडकर विश्वविद्यालय के छात्रों ने लखनऊ 22 जनवरी 2016। बाबा साहब …

Read More »

संघियों का असली चेहरा दलित-पिछड़ा विरोधी है, वह सामने आ रहा है

जाति ने फिर जातिवाद किया जबरदस्ती बदल रहे हैं जाति [button-red url=”#” target=”_self” position=”left”]रणधीर सिंह सुमन[/button-red] भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने हैदराबाद यूनिवर्सिटी के दलित छात्र रोहित वेमुला की खुदकुशी के मामले में विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों की तुलना कुत्तों से की है। स्वामी ने फिर  अपनी जाति को पहचान कर जातिवाद किया और अपनी जाति को बढ़ाने का …

Read More »

पुस्तक प्रकाशन बनाम कुत्ते की हड्डी

पुस्तक प्रकाशन से लेकर पुस्तक मेले तक छद्म ही छद्म फैला हुआ है लेखक बढ़ रहे हैं और पाठक कम हो रहे हैं वीरेन्द्र जैन             यह, वह कठिन समय है जब लेखक बढ़ रहे हैं और पाठक कम हो रहे हैं। पुस्तकें समुचित संख्या में छप रही है किंतु उनके खरीददार कम होते जाते हैं। पुस्तक मेलों में काफी …

Read More »

मनुष्यता को इस कुत्ते का आभार मानना चाहिए

किसी इंसान को कुत्ता कहकर इंसानियत की तौहीन न करें प्लीज! पलाश विश्वास आज सवेरे उठते ही सविता बाबू ने बांग्ला दैनिक एई समय का पन्ना खोलकर दिखाते हुए कहा कि कुत्ते भी इंसान हैं लेकिन इंसान कुत्ता भी नहीं है। मां बाप ने अपने जिस जिगर के टुकड़े , नन्हीं सी जान को ट्रेन में लावारिस छोड़ दिया और …

Read More »

संसदीय सहमति बिना देश को जो ग्लोबल युद्ध में झोंक रहे, वे ही असली राष्ट्रद्रोही हैं

अंध राष्ट्रवाद के आवाहन के लिए जनादेश के बिना, संसदीय सहमति के बिना देश को जो ग्लोबल कारगिल युद्ध में झोंक रहे हैं, वे ही दरअसल राष्ट्रद्रोही हैं, कोई और नहीं। महामहिम के विचारों के रंग भी शायद बदलने लगे हैं, यह खतरनाक है। पलाश विश्वास यह आलेख लिखने से पहले जो महामहिम राष्ट्र को बार-बार संबोधित करके देश में …

Read More »

मोदी जी, बिहार की खिल्ली मत उड़ाईये। क्यों हुआ शाह और बादशाह की गुजराती केमेस्ट्री का यह हश्र

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव में शर्मनाक पराजय के बाद हुयी भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में आर एस एस प्रमुख मोहन भागवत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को क्लीनचिट दे दी गयी है, वे हार की वजह नहीं हैं, उन्हें उत्तरदायी नहीं ठहराया जा सकता है। हार का मुख्य कारण महागठबंधन के समर्थक वोटों का एक दूसरे को ट्रांसफर हो …

Read More »

हिंदुत्व के पुनरुत्थान के साथ भारत अमेरिकी उपनिवेश में तब्दील, हिटलर जैसे हारा, वैसे हमारा लाड़ला झूठा तानाशाह भी हारेगा

ब्लेअर बाबू ने मान लिया युद्ध अपराध माफी भी मांग ली, हम किस किसको माफ करेंगे? गधोंं को चरने की आजादी है और पालतू कुत्तों को खुशहाल जिंदगी जीने की इजाजत है! तय करें कि गधा बनेंगे कि कुत्ता या इंसान! लाल नील एका के बिना कयामत का यह मंजर नहीं बदलेगा और अधर्म अपकर्म के अपराधी राष्ट्र और धर्म …

Read More »

धन्यवाद वीके सिंह, मंत्री महाशय, यह सच खोलने के लिए कि हम आखिरकार कुत्ते हैं

धन्यवाद वीके सिंह, मंत्री महाशय, यह सच खोलने के लिए कि हम आखिरकार कुत्ते हैं और हमें कुत्तों की मौत मार दिया जाये तो सत्ता को कोई ऐतराज नहीं है। हम यह समझा नहीं पा रहे थे। हमीं लाल हैं। हमीं फिर नील हैं। बाकी हिंदुत्व महागठबंधन का फासिज्म है। अगर हम प्रभुवर्ग के गुलाम वफादार कुत्ते नहीं हैं तो …

Read More »

जो वी. के. सिंह बोला, वहीं भाजपा का मूल विचार है- लालू

देश के लिए घातक है गुजरात का ‘विनाशकारी मॉडल’ : लालू नई दिल्ली, 23 अक्टूबर। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के गुजरात मॉडल को नकारते हुए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कहा है कि गुजरात का मॉडल विनाशकारी मॉडल है। गुजरात के मॉडल को विनाशकारी बताते हुए लालू ने ट्वीट किया, “गुजरात का विनाशकारी मॉडल देश की …

Read More »

दलित अत्याचारों व वीके सिंह के “कुत्ता” के विरुद्ध जयपुर में प्रदर्शन

दलित अत्याचारों व वीके सिंह के “कुत्ता” के विरुद्ध जयपुर में सांकेतिक आक्रोश प्रदर्शन जयपुर। हरियाणा में दलित परिवार के दो मासूम बच्चों के जिन्दा जलाये जाने और इसके बाद इस हृदय विदारक घटना के सम्बन्ध में पूर्व सेनाध्यक्ष और भाजपा की नरेंद्र मोदी सरकार में रक्षा राज्य मंत्री वी के सिंह के निंदनीय मनुवादी बयान के विरुद्ध सांकेतिक आक्रोश …

Read More »

साहित्यकारों और सामाजिक कार्यों से जुड़े लोगों ने की मांग- वी के सिंह को तुरंत बर्खास्त करो

प्रधानमंत्री केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री वी के सिंह को तुरंत बर्खास्त करें- साहित्यकारों और सामाजिक कार्यों से जुड़े लोगों ने की मांग  रायपुर। साहित्य और सामाजिक कार्यों से जुड़े 15 से अधिक लोगों ने केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री वी के सिंह के गुरूवार को दिए गए उस बयान की घोर भर्त्सना की है, जिसमें केंद्रीय राज्यमंत्री ने हरियाणा के सुनपेड़ गाँव …

Read More »

कोलकाता में वी.के. सिंह को दिखाए गए काले झंडे

कोलकाता, 25 अक्टूबर। केंद्रीय मंत्री और पूर्व सेना प्रमुख वी.के. सिंह का आज कोलकाता में काले झंडे दिखाकर भव्य स्वागत किया गया। अपनी आत्मकथा के हिंदी संस्करण का विमोचन करने पहुंचे वी.के. सिंह को उनके “कुत्ता” बयान से नाराज़ मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के कार्यकर्ताओं ने काले झंडे दिखाए। प्रतिष्ठित समाचारपत्र देशबन्धु में प्रकाशित खबर के मुताबिक उन्हें हवाईअड्डे पर …

Read More »

आदमी को जानवर बनाने की प्रयोगशाला है नागपुरी मुख्यालय

संघ का महान राष्ट्र वोट तुम्हारा सत्ता हमारी जलने के लिए तैयार रहो. राष्ट्र और राष्ट्रवाद का ठेका राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पास है. आज एक तरफ कल्पित रावण मर रहा था तो दूसरी तरफ 1925 दशहरे के दिन नया रावण जन्म ले रहा था. जन्म लेने के बाद जैसे वह युवा अवस्था में पहुंचा और फिर ताकतवर हुआ, …

Read More »

वी के सिंह के “कुत्ता” बयान पर उप्र के डीजीपी को राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग नोटिस

नयी दिल्ली, 23 अक्टूबर। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने फरीदबाद में एक दलित परिवार को जलाये जाने की घटना पर केंद्रीय मंत्री वी के सिंह के आपत्तिजनक बयान को गंभीरता से लेते हुए गाजियाबाद पुलिस और उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक को नोटिस भेजकर पूछा है कि उन्होंने इस मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए केस दर्ज क्यों नहीं किया। …

Read More »

अभी हमें बहुत कुछ देखना है, जो हमने 1984 या 2002 में नहीं देखा था।

1990 के दशक के अंत व उसके बाद वाले वर्षों में बर्लिन के हुम्बोल्ट विश्वविद्यालय में प्रो. युंग हुआ करते थे। भारतविद्या के प्रोफ़ेसर, जर्मन बुद्धिजीवियों के बीच भाजपा के प्रति सहानुभूति रखनेवाले एक विरल अपवाद। 2002 के बाद एक संगोष्ठी में हम आमने-सामने थे। मेरा कहना था कि गुजरात के नरसंहार में भारतीय लोकतंत्र का संकट प्रतिबिम्बित हुआ है। …

Read More »

दादरी मामले में साम्प्रदायिक रंग पहले से ही है माठारा सिंह जी

दादरी मामले में राजनाथ सिंह व महेश शर्मा के बयान जो मामले को साम्प्रदायिक रंग देने को मना करने के हैं वो हास्यास्पद व खीझ पैदा करने वाले लगते हैं। जिस तरह से खबरों में बार-बार आ रहा है, उस तरह से तो ये बात साफ़ है कि मामले को साम्प्रदायिक रंग दिया नहीं जा रहा, बल्कि इसकी बुनियाद ही …

Read More »

जब हद से बढ़ जाए डर तो बन जाता है फोबिया

फोबिया-मानसिक विकार डर तब तक फोबिया नहीं है जब तक वह बच्चों की सामाजिक गतिविधियों, स्कूल में उसके प्रदर्शन या नींद को नहीं प्रभावित कर रहा है। डर, हंसने या रोने की ही तरह एक स्वाभाविक क्रिया है। डर सबको लगता है लेकिन यही डर अगर इतना गहरा जाए कि सामान्य जीवन क्रिया को प्रभावित करने लगे तो उसे फोबिया …

Read More »

तार्किकता का गला घोंटने का प्रयास कलबुर्गी की हत्या

कलबुर्गी की हत्या तार्किकता का गला घोंटने का प्रयास गत 30 अगस्त 2015 को प्रोफेसर मलीशप्पा माधीवलप्पा कलबुर्गी की हत्या से देश के उन सभी लोगों को गहरा सदमा पहुंचा है जो उदारवादी समाज के हामी हैं, तार्किकता के मूल्यों का आदर करते हैं और अंधश्रद्धा के खिलाफ हैं। प्रोफेसर कलबुर्गी, जानेमाने विद्वान थे और उन्होंने 100 से भी अधिक …

Read More »

डॉ. एमएम कलबुर्गी की हत्‍या के विरोध में एकजुट हों

”पहले यूआर अनंतमूर्ति थे, अब एमएम कलबुर्गी हैं। हिंदुत्व का मज़ाक उड़ाओ और कुत्ते की मौत मरो। डियर, केएस भगवान अब आपकी बारी है।’’ बजरंग दल के एक प्रमुख नेता भुवित शेट्टी द्वारा किया गया यह ट्वीट है। यह ट्वीट काफी है यह दर्शाने को कि पिछले एक साल में हमें लोकतंत्र के किस अंधे गलियारे में फेंक दिया गया …

Read More »

अपने हिंदू होने पर गर्व है तो राम को कातिल कतई न बनाइये

किसी कलबुर्गी और तमाम कलबुर्गियों के खून से प्लीज रामचरितमानस को खून से सराबोर करने से बाज आइये। अपने हिंदू होने पर गर्व है तो हिंदुत्व की लोकतांत्रिक धर्मनिरपेक्ष लोक के रामचरित को बचाइये और राम को कातिल कतई न बनाइये। वैसे सनद रहे कि इतिहास में हत्याओं का नतीजा हमेशा तानाशाह का काम तमाम है। कहीं ऐसा न हो …

Read More »

ये गलियों के आवारा कुत्ते बनाम पशुप्रेमियों का अतिवाद

ये फैज़ की गज़ल के गलियों के वो आवारा, बेकार कुत्ते नहीं हैं जिन्हें ज़ौक-ए-गदाई बख्शा गया है या जिनका सरमाया ज़माने की फटकार और जिनकी कमाई जहां भर की दुत्कार है, ये अपने इलाके के दबंग, बेखौफ और दादा किस्म के कुत्ते हैं जो हर गली, हर मोड़, चौराहे और बाज़ार में आपको किसी संगठित गिरोह की शक्ल में …

Read More »

जनाब केजरीवाल, सत्ता के अहंकार में झूमते बड़े-बड़े सूरमाओं को इतिहास में दफ्न होते देखा है

सारे महीने कड़ी मेहनत करने के बाद कुल जमा “दो कौड़ी” की औकात हो पाती है एक सिपाही की। उसे आप चाहे ठुल्ला कहिये…गंवार कहिये… चिरकुट कहिये या अपनी मनमाफिक कुछ और… केजरीवाल साहब पुराने नौकर शाह हैं। इन जैसों ने बंद कमरों में सालों से जो किया और चार किताबें पढ़ कर बरसों से जो छवि बनाई एक ‘मामूली’ …

Read More »

मुहब्बत में हर जंग जायज और फिर भी न लड़ सकें हम

जो जैसे हांक लें, चूंकि हम हुए ढोर डंगर, नागरिक नहीं मेरी महजबीं, माफ करना कि पहली सी मुहब्बत नहीं है। न दिल में, न दिमाग में। न वो जुनून है। न मजनूं बनकर फिरने का जिगर है और न फरहाद हैं हम और न रांझा। मुहब्बत के लिए कोई जंग नहीं लड़ सकें हम। मुहब्बत में हर जंग जायज …

Read More »

इस महा भूकंप के लिए सबसे बड़ा अपराधी है मुक्तबाजारी हिंदू साम्राज्यवाद

नेपाल में फिर भूकंप-कांप गये दिल्ली और कोलकाता के हुक्मरान भी मुक्तबाजारी हिंदू साम्राज्यवाद इस महाभूकंप के लिए सबसे बड़ा अपराधी है। धर्म, पर्यटन और विकास के नाम पर हिमालय से लगातार लगाता छेड़छाड़ का नतीजा यह है, इसे जितनी जल्दी हम समझें, उतनी ही सुरक्षित रहेगी यह पृथ्वी। अब तो दोस्तों, कुछ इस पृथ्वी और सभ्यता को बचाने के …

Read More »

बलिहारी उनकी भी, जो नहीं समझते कि हिंदू साम्राज्यवाद क्या है!

नेपाल भूकंप की आड़ में हिंदू साम्राज्यवादी एजेंडा का हम लोग लगातार पर्दाफाश कर रहे हैं। लेकिन भारत के लोगों को मालूम ही नहीं पड़ रहा है कि यह हिंदू साम्राज्यवाद क्या बला है। भारत के गृहमंत्री एकदा प्रधानमंत्रित्व के मजबूत उम्मीदवार राजनाथ सिंह मोदी ममता युगलबंदी से टैगोर के भूगोल को केसरिया बनने के दिन ही अयोध्या में गये …

Read More »

फासीवाद के साहित्यिक-सांस्‍कृतिक प्रतिरोध्‍य के ऐतिहासिक अनुभव, उनका वैच‍ारिक पक्ष और समका‍लीन सन्‍दर्भ

 फासीवाद – उभार प्रतिरोध्‍य है, यदि हम अतीत की राख में दबी चिनगारियों को हवा दे सकें! अध्‍यक्ष मण्‍डल और साथियो, अपने अंधकारमय समय की सबसे प्रत्‍यक्ष, सबसे आसन्‍न ख़तरे की चुनौती से प्रेरित होकर हमने इस विचार गोष्‍ठी का विषय तय किया है। बेर्टोल्‍ट ब्रेष्‍ट के प्रसिद्ध नाटक ‘आर्तुरो उई का प्रतिरोध्‍य उत्‍थान’ (रेजिस्टिबुल राइज़ ऑफ आर्तुरो उई) से …

Read More »

अंबानी अडानी एस्सार को मुबारक कि डाउ कैमिकल्स का बजट लीक और नंगा सरेबाजार कारपोरेट राज!

अमेरिकी हुकूमत और अली बाबा चालीस लाख चोरों के राज में हमने लोकतंत्र के हजार टुकड़े कर दिये हैं ( बजट लीक ) महामहिम से निवेदन कि सत्र से पहले बेमतलब बजट सत्र का कर दें सत्रावसान (बजट लीक)। …और हो सके तो बसरा से बुलवा लें मियां मुस्तफा को, हज्जार टुकड़ों में कटी-फटी जम्हूरियत की लाश सिलकर दफीना का …

Read More »

अब भी जारी है धर्म के नाम पर स्वतंत्रता को बाँधने का अनैतिक सिलसिला

भारत का संविधान हमें स्वतंत्रता का मूल अधिकार देता है। संविधान के अनुच्छेद 21 के अनुसार, “किसी व्यक्ति को उसके प्राण अथवा दैहिक स्वतंत्रता से विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया के अनुसार ही वंचित किया जाएगा, अन्यथा नहीं।“ इस मूल अधिकार को माननीय उच्चतम न्यायालय ने अपने बहुत से निर्णयों में अति महत्त्वपूर्ण माना है एवं समय-समय पर सरकार को इसकी …

Read More »

क्या पगला गए हैं हिंदुत्ववादी नेता?

क्या हिन्दूवादी नेता पगला गये हैं? या उन्हें लग रहा है कि इस बार के बाद दिल्लीके तख्त पर फिर उन्हें फिर मौका मिलने वाला नहीं है? इसलिए जितनी आग लगानी हो, अभी लगा लो. पहले घर वापसी का तमाशा. अरे भाई, घर तो घर होता है, रोटी, कपड़ा और मकान, सामान्य जीवन जीने की व्यवस्था. सम्प्रदाय किसी का घर …

Read More »

सम्मोहन भागवत जी! हमें हिन्दू राष्ट्र नहीं, शोषण विहीन समतामूलक राष्ट्र चाहिए

बजाओ रे रणसिंघे कि धर्मक्षेत्र भारतदेश कुरुक्षेत्र है अब! घर वापसी न हुई तो मारे जाओगे और बचेगा नहीं कोई म्लेच्छ अब कहीं! अल्हा उदल गाओ रे भइये, आज के रोजनामचे के लिए सबसे पहले कुछ जरुरी बातें। इसी सिलसिले में हमारे गुरुजी ताराचंद्र त्रिपाठी का लिखा यह मंतव्य भी गौर तलब हैः- मोहन भागवत जी! तुम न मोदी को …

Read More »

भारतीय राजनीति में “श्वान भावबोध”

राजनीति में मनुष्य बनना दुर्लभ है, पशुवत आचरण करना आसान है! कल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जब संसद में घृणा भाषण शिरोमणि साध्वी मंत्री की हिमायत में बोल रहे थे तो विलक्षण आयरनी व्यक्त कर रहे थे, इस आयरनी को ‘श्वान’ भावबोध कहते हैं। इस भावबोध की खूबी है कि जो कुत्ता जिस गली-मुहल्ले या इलाक़े में रहता है वह वहीं …

Read More »

गन्ने की छूँछी भर रह गयी है हिंदी मीडिया

नट और नटी विवाह का वार्षिकोत्सव मनाने जैसलमेर रवाना हो चुके हैं.……छछूंदर दम्पति घर पर काबिज हो चुकी है…….. छछून्दरी की हथेलियों में चमेली का तेल है और छछूँदर का सर उसकी गोद में…….. दरी …….. हमको ये बताओ …… ये ससुरी हिंदी मीडिया का कल्याण कब होगा दर.……बुलडोजर चलाने से दरी.…नासपीटे … मैं तुझसे रोग का इलाज पूछ रही …

Read More »

दिल्ली में कुत्तों का सम्मेलन

भारतीय वांग्मय में कुत्तों की महिमा का बखान भरा पड़ा है। कुत्तों पर कहावतों, मुहावरों और नीतिकथाओं की तो भरमार है ही, गालियाँ और वक्त्रोक्तियाँ भी कम नहीं हैं। प्राचीन काल से आज तक, भारतीय सहित्य और समाज में, कुत्तों को दुत्कार और प्रतिष्ठा दोनों ही इतनी भरपूर मिली है कि कई बार आदमी नामक प्राणी उनसे इर्ष्या करने लगता …

Read More »

यही है हीरक चतुर्भुज पुरुष तंत्र साम्राज्यवादी

स्त्री मुक्ति के लिए जाति धर्म मनुस्मृति अनुशासन का यह सामंती तिलिस्म तोड़़ना अनिवार्य है और उसके लिए अब एक ही जनम नाकाफी है मुख्य सड़क पर सात छुट्टे कटखने निरंकुश कुत्तों का राज यह मेरा भारत महान है। पलाश विश्वास कल जो रोजनामचा लिखा, वह दरअसल अधूरा रह गया है। हमारे घर में दो छोटे बच्चे भी हैं। निन्नी …

Read More »

अब यह अमन चैन और वतन रिलायंस के हवाले लोगों

मुक्त बाजार का युद्धक अर्थव्यवस्था में कायाकल्प ही मेकिंग इन अमेरिका कारपोरेट हित में भारत पाक युद्ध और सीमा आर पार जनविरोधी कट्टरपंथ का आयोजन यह पलाश विश्वास कारपोरेट हित में भारत पाक युद्ध और सीमा आर पार जनविरोधी कट्टरपंथ का आयोजन यह। अब यह अमन चैन और वतन रिलायंस के हवाले लोगों। मुक्त बाजार का युद्धक अर्थव्यवस्था में कायाकल्प …

Read More »

भारतीय मुसलमानों को मोदी का प्रमाणपत्र

तनवीर जाफ़री  अलक़ायदा प्रमुख एमन-अल-जवाहिरी द्वारा पिछले दिनों जारी किए गए अपने एक वीडियो सन्देश में कश्मीर व गुजरात के मुसलमानों के प्रति हमदर्दी जताते हुए उन्हें अपने साथ जोड़ऩे की कोशिश की गई थी। जवाहिरी द्वारा यह संदेश क्यों जारी किया गया? क्या वह वास्तव में भारत में अलकायदा का विस्तार करना चाहता है? क्या वह भारतीय मुसलमानों को …

Read More »

‘मैं सत्याग्रह में शामिल हुआ, जेल गया, लाठियां खायीं लेकिन आजादी मिली तो मलाई कुत्ते खा रहे हैं।’

‘वक्त के उखड़ने और सूखने की दास्तां : गर्म हवा ’  शाहनवाज आलम   अगर थोड़ी देर के लिये इस बात को नजरअंदाज कर दिया जाये कि 1973 में एमएस सथ्यू द्वारा निदेर्शित फिल्म गर्म हवा को अंतराष्ट्रीय एकेडमी अवार्ड के लिये या केंस फिल्म महोत्सव के प्रतिष्ठित गोल्डेन पाल्म अवार्ड के लिये नामित किया गया था, या भारत में उसे …

Read More »

मार्क्सवाद की एक अनौपचारिक क्लास – मोहल्ला अस्सी

bollywood news hindi today, bollywood news in hindi latest, bollywood masala news in hindi, bollywood news in hindi latest, bollywood news in hindi box office, bollywood gossip in hindi, bollywood box office news today, बॉलीवुड समाचार, बॉक्स ऑफिस रिपोर्ट, Hindi Movies Box Office Report, bollywood news in hindi box office,

काशीनाथ सिंह हिन्दी के सुपरिचित कथाकार हैं। उन्होंने कभी हंस में धारावाहिक रूप से बनारस के संस्मरण लिखे थे जिनका संकलन ‘काशी के अस्सी’ (assi of Kashi) नाम से प्रकाशित हुआ था। यह पुस्तक मध्य प्रदेश के पाठक मंच में भी खरीदी गयी थी और हजारों लोगों द्वारा पढी व सराही गयी थी।

Read More »

ठग ऑ‍फ हिंदुस्‍तान से पहले ‘कुत्ते की दुम’

bollywood news hindi today, bollywood news in hindi latest, bollywood masala news in hindi, bollywood news in hindi latest, bollywood news in hindi box office, bollywood gossip in hindi, bollywood box office news today, बॉलीवुड समाचार, बॉक्स ऑफिस रिपोर्ट, Hindi Movies Box Office Report, bollywood news in hindi box office,

फिल्‍म ‘कुत्ते की दुम’ में लीड रोल में ललित सिंह राव, तान्या डांग, रज रहमान अली, जसबीर रणधावा और जस बोपराई नजर आयेंगे।

Read More »

वर्ल्ड हिन्दू कांग्रेस : आरएसएस हिन्दुओं का प्रतिनिधि संगठन नहीं है

वर्ल्ड हिन्दू कांग्रेस : आरएसएस हिन्दुओं का प्रतिनिधि संगठन नहीं है बढ़ते हुए वैश्विक संप्रदायवाद का मुकाबला आवश्यक – राम पुनियानी दुनिया के सभी क्षेत्रों और धर्मों की तरह, भारत से भी बड़ी संख्या में हिन्दू दूसरे देशों में जाते रहे हैं। इसका एक बड़ा कारण है वहां, विशेषकर पश्चिमी देशों में रोजगार के बेहतर अवसरों की उपलब्धता और अपेक्षाकृत …

Read More »

क्या है रचनात्मक विपक्ष की भूमिका और उसमें क्या हैं अड़चनें

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

पक्ष, विपक्ष और जनता पी. के. खुराना What is the role of creative opposition चुनाव होते हैं, कोई राजनीतिक दल जीत जाता है,कोई हार जाता है। विजयी दल का नेता इसे जनता की जीत बताता है और वायदा करता है कि उनका दल महंगाई पर काबू पायेगा, भ्रष्टाचार पर रोक लगाएगा और साफ-सुथरा प्रशासन देगा। इसी तरह पराजित दल का …

Read More »

कुत्ते की मूर्ति लिये कुत्तों की लड़ रहे हैं लोग !!

National News

-भंवर मेघवंशी इक्कीसवीं सदी का हिन्दू समाज (Twenty first century Hindu society) किस दिशा में आगे जा रहा है, इसकी एक छोटी सी बानगी इन दिनों राजस्थान में देखी जा सकती है, जहां पर एक श्वान प्रतिमा (कुत्ते की मूर्ति ) को लेकर हिन्दू समुदाय आपस मे ही गुत्थमगुत्था है, स्थिति इतनी बदतर हो चली है कि स्थानीय ग्राम पंचायत …

Read More »

बंदूकबाज़ की धाँय-धाँय और सेंसरबोर्ड के फैसलों के बीच की कहानी में विलेन हम दर्शकों को ही  ढूँढना होगा

bollywood news hindi today, bollywood news in hindi latest, bollywood masala news in hindi, bollywood news in hindi latest, bollywood news in hindi box office, bollywood gossip in hindi, bollywood box office news today, बॉलीवुड समाचार, बॉक्स ऑफिस रिपोर्ट, Hindi Movies Box Office Report, bollywood news in hindi box office,

“नाम-राहुल, पूरा नाम राहुल चटोपाध्याय, बाप का नाम अमित चटोपाध्याय, माँ का नाम रेखा चटोपाध्याय, कुत्ते का नाम टामी बीप... उम्र आठ साल, दो महीने, तीन हफ्ते, तभी उसकी माँ आती है तब वो कहता है कि ये सिनेमा हॉल है तुम्हारे बाप का घर नहीं, जब तक बैठने को कहा न जाए तब तक मत बैठना” फिर फेड इन में थप्पड़ की आवाज़।

Read More »

मीडिया उद्यमियों की मुठ्ठी में, पत्रकार सच्ची रिपोर्टिग करने के लिए स्वतंत्र नहीं – शरद यादव

media

मीडिया की भूमिका (role of media) पर सवाल उठाते हुए गुरुवार को राज्यसभा में विभिन्न राजनीतिक दलों के सदस्यों ने संसद की कार्यवाही के सकारा त्मक पक्ष की रिपोर्टिग न करने को लेकर मीडिया की आलोचना की। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता नरेश अग्रवाल ने यह मुद्दा उठाया।

Read More »

क्या डॉ. आंबेडकर भी देशद्रोही थे?

Baba Saheb Ambedkar The biggest hero of the social revolution in India बाबा साहेब अंबेडकर : भारत में सामाजिक क्रांति के सबसे बड़े नायक

बाबा साहेब आंबेडकर स्वतंत्रता के उतने ही इच्छुक थे, जितना कोई और देशभक्त। परन्तु उन्हें शिकायत थी तो केवल इतनी थी कि वे हिन्दुओं के इतिहास तथा अछूतों के प्रति अमानवीय व्यवहार, उनके धर्म की पैदा की हुयी घृणा और असमानता को सामने रखते हुए जानना चाहते थे कि स्वतंत्र भारत में सत्ता किस वर्ग तथा किन जातियों के हाथ में होगी और अछूतों का उसमें क्या स्थान होगा? वे अछूतों को हिन्दुओं के रहम पर नहीं छोड़ना चाहते थे।

Read More »