Home » Tag Archives: घटिया राजनीति

Tag Archives: घटिया राजनीति

भाजपा को हराने और केंद्र में वैकल्पिक धर्मनिरपेक्ष सरकार बनाने के लिए वोट देने की माकपा ने की अपील

CPIM भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी), Communist Party of India (Marxist)

रायपुर, 12 अप्रैल 2019. मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी { Communist Party of India (Marxist)} ने छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की आम जनता से पिछले 15 सालों के राज्य में रमन सरकार और 5 सालों से केंद्र में जारी भाजपाई शासन के जनविरोधी-जनतंत्रविरोधी रिकॉर्ड को ध्यान में रखते हुए भाजपा की पराजय सुनिश्चित करने और केंद्र में एक वैकल्पिक धर्मनिरपेक्ष सरकार (Secular government) के …

Read More »

कोहली ने रद्द किया अपना पुरस्कार समारोह, कारण भी जानेंगे आप ?

नई दिल्ली, 16 फरवरी। भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket team) के कप्तान (Captain) विराट कोहली (Virat Kohli) ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले (attack on convoy of CRPF in Pulwama) के कारण अपनी फाउंडेशन के तहत शनिवार को अयोजित होने वाले पुरस्कार समारोह (award ceremony) को रद्द कर दिया है। कोहली ने हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ …

Read More »

राहुल गांधी की बातों पर भाजपा की बौखलाहट उसकी घटिया मानसिकता का परिचायक

राहुल गांधी की बातों पर भाजपा की बौखलाहट उसकी घटिया मानसिकता का परिचायक जगदीश्वर चतुर्वेदी राहुल गांधी ने पिछले दिनों कई महत्वपूर्ण भाषण विदेशों में दिए, जिस पर भाजपा-बौखलाई हुई है और वे तर्क दे रहे हैं कि राहुल गांधी विदेशों में देश की निंदा कर रहे हैं। इस प्रसंग में पहली बात यह कि भारत के सामयिक राजनीतिक परिदृश्य …

Read More »

अटल जी के नाम पर भाजपा की घटिया राजनीति से उनकी भतीजी क्षुब्ध और व्यथित

अटल जी के नाम पर भाजपा की घटिया राजनीति से उनकी भतीजी क्षुब्ध और व्यथित अटल जी को पिछले दस वर्षों में रमन सिंह ने कितने बार याद किया अडवानी का जैसा अपमान हो रहा है वह भाजपा की मानसिकता की परिचायक : करुणा शुक्ला रायपुर/21 अगस्त 2018। वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री और स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला …

Read More »

सम्पूर्ण राष्ट्र की गंवई राजनीति में फैली अराजकता का एक नग्न दस्तावेज़ है ‘मदारीपुर जंक्शन’

समस्त विद्रूपताओं का सम्मिलन-स्थल 'मदारीपुर जंक्शन' बालेन्दु द्विवेदी द्वारा लिखित औऱ वाणी प्रकाशन से प्रकाशित  'मदारीपुर जंक्शन' उपन्यास अपने ग्रामीण कलेवर में कथा के प्रवाह के साथ विविध जाति-धर्मों के ठेकेदारों की चुटकी लेता और उनके पिछवाड़े में चिंगोटी काटता चलता है।वस्तुतः उपन्यास के कथानक के केंद्र में पूर्वी उत्तर प्रदेश का मदारीपुर-जंक्शन नामक एक गाँव है जिसमें एक ओर यदि मदारीमिज़ाज …

Read More »

नीतीश को भाजपा में जाना है तो जल्दी जाएं पर सच बताएं भाजपा से क्या सौदा हुआ ?

जगदीश्वर चतुर्वेदी नीतीश कुमार और उनके साथी नेताओं ने राजद के खिलाफ मोर्चा खोलकर साफ कर दिया है कि उनकी भाजपा से लड़ने में कोई गहरी दिलचस्पी नहीं है। कम से कम नीतीश बाबू पर साम्प्रदायिकता के खिलाफ संघर्ष में कोई भरोसा नहीं किया जा सकता। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा विपक्ष को खत्म करने की दीर्घकालीन रणनीति पर …

Read More »

कोविन्द, दलित राजनीति और हिन्दू राष्ट्रवाद : आरएसएस की राजनीति भारतीय राष्ट्रवाद की विरोधी है

–राम पुनियानी रामनाथ कोविन्द को राष्ट्रपति पद का अपना उम्मीदवार घोषित कर, भाजपा ने एक बार फिर प्रतिकात्मक राजनीति का दांव खेला है। कोविन्द केवल नाम के लिए दलित हैं। असल में वे एक खालिस हिन्दू राष्ट्रवादी हैं। मोदी सरकार के पिछले तीन सालों के कार्यकाल में मुसलमानों और अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों के साथ-साथ दलितों के खिलाफ हिंसा में भी …

Read More »

बंदूकों के साये में मज़बूत होती क़लम

तल्हा मन्नान "गर फिरदौस बर रूए ज़मीं अस्त, हमीं अस्त ओ हमीं अस्त ओ हमीं अस्त।" अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध कश्मीर के विषय में यह शेर अमीर खुसरो ने यूँ ही नहीं कहा था। कश्मीर को क़रीब से देखने पर आप भी इसे ईश्वर का वरदान ही कहेंगे। बर्फीली वादियों में लहलहाते हरे भरे पेड़ …

Read More »

पदोन्नति में आरक्षण बिल : भाजपा देश को जातीय संघर्ष में झोंक रही है- डॉ. राकेश सिंह राना

पदोन्नति में आरक्षण बिल : भाजपा देश को जातीय संघर्ष में झोंक रही है- डॉ. राकेश सिंह राना सिकन्दराराऊ (हाथरस)। समाजवादी पार्टी के पूर्व विधान परिषद सदस्य डॉ. राकेश सिंह राना ने पदोन्नति में आरक्षण के सम्बन्ध में 117 वां संविधान संशोधन बिल पर भारतीय जनता पार्टी की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि सवर्ण और अन्य पिछड़ा वर्ग की गर्दन पर …

Read More »

समाजवादी पार्टी – ताश के पत्तों का महल एक न एक दिन ढहना ही है, आज नहीं तो कल

समाजवादी पार्टी – ताश के पत्तों का महल एक न एक दिन ढहना ही है, आज नहीं तो कल शमशाद इलाही शम्स मैं पहलवान मुलायम सिंह का न कभी प्रशंसक रहा न कभी उसके साईकिल छाप समाजवाद का वकील। बहुत दिनों से सैफई में कब्बड्डी का मैच देशभर का मनोरंजन कर रहा है उसे मैं भी देख रहा हूँ। मुलायम …

Read More »