Home » Tag Archives: जुमलेबाजी

Tag Archives: जुमलेबाजी

दो टूक : जुमलेबाजी और डंडे से नहीं स्वेच्छा से ही घटेगा प्लास्टिक का उपयोग

Just in, Breaking News.

केन्द्र सरकार द्वारा प्रदूषण पर रोकथाम तथा स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए अभी ‘सिंगल यूज प्लास्टिक’ (एकल उपयोग वाली प्लास्टिक) पर पूर्ण प्रतिबंध न लगाते हुए प्लास्टिक के खिलाफ जन-जागरूकता अभियान छेड़ने का आव्हान किया गया है, ताकि लोग स्वेच्छा से इससे दूरी बनाएं। फिलहाल सरकार पॉलीथीन बैग के उत्पादन, भण्डारण तथा उपयोग के नियमों को लागू करने के …

Read More »

भाजपा को विधानसभा चुनाव में उतने वोट भी नहीं मिले जितने सदस्य होने का दावा था – कांग्रेस

bjp vs congress

फर्जी आंकड़ों के मायाजाल से देश को गुमराह करती है भाजपा गिनीज बुक, भाजपा से विश्व का सबसे बड़ी दल होने का खिताब वापस ले रायपुर/12 जुलाई 2019। केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने मिसकॉल से सदस्य बनाने की भाजपा के सदस्यता अभियान की शुरुआत की। कांग्रेस ने इसे भाजपा का फर्जीवाड़ा सदस्यता अभियान करार दिया है और छत्तीसगढ़ की जनता …

Read More »

शर्म करो ! नवरात्र में शक्ति के धाम में अमित शाह को झूठ नहीं बोलना था

Shailesh Nitin Trivedi

रायपुर/12 अप्रैल 2019। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Bharatiya Janata Party national president Amit Shah) के डोंगरगढ़ की सभा के भाषण पर पलटवार करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि श्री शाह जनता को गुमराह करने के बजाय छत्तीसगढ़ में पूर्व की भाजपा सरकार द्वारा राजपत्र …

Read More »

मोदी जी हैं तो जुमलेबाजी मुमकिन है, पर अब उनका प्रधानमंत्री नहीं बन पाना मुमकिन है

JaiShankar Gupta जय शंकर गुप्ता वरिष्ठ पत्रकार हैं।

सोशल मीडिया पर एक नया नारा (A new slogan on social media) चला है, ‘मोदी है तो मुमकिन है.’ (Modi hai to Mumkin hai). हमारे पत्रकार मित्र संजय सिंह के अनुसार यह नारा स्वयं मोदी जी ने ही दिया है। न चाहते हुए भी एक अन्य पत्रकार मित्र की वाल पर हमने जो तात्कालिक प्रतिक्रिया दी, उसे यहां भी संलग्न …

Read More »

चौकीदार-चोर-पेटकटवा गिरोह की विदाई जनता तय कर रही है

बाराबंकी। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की राज्य परिषद सदस्य रणधीर सिंह सुमन ने कहा है कि चौकीदार-चोर-पेटकटवा गिरोह ने बैंक, बीमा-बिजली-सरकारी कर्मचारी, संविदा कर्मचारी, आशा बहू, शिक्षामित्र, आंगनबाड़ी, पंचायत मित्र सहित संगठित और अंसगठित मजदूरों की तनख्वाहों में बढोत्तरी न करके कटौती की है, इस तरह से आम जनता को भरपूर रोटी न मिल सके जिससे न वह जिन्दा रह सके …

Read More »

याद आयी आधी रात को.. –हेलो हेलो हेलो नागपुर.. मिल गया विकास

याद आयी आधी रात को.. –हेलो हेलो हेलो नागपुर.. मिल गया विकास राजीव मित्तल –हेलो हेलो हेलो नागपुर.. –हेलो क्या हुआ.. –बड़ी गड़बड़ी हो गयी भैया जी.. –क्या हुआ क्यों नींद खराब कर रहे हो?   –भैया जी नाराज न होइये.. पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हैं.. –हाँ, हैं तो !! –भैया जी..विकास का तो हमें याद ही न रहा.. …

Read More »

क्या सरकार उत्तराखंड के बाजगियों को राज्य आन्दोलनकारी होने का आधिकारिक दर्जा देगी ?

क्या सरकार उत्तराखंड के बाजगियों को राज्य आन्दोलनकारी होने का आधिकारिक दर्जा देगी ? उत्तराखंड का स्थापना दिवस Establishment day of Uttarakhand विद्या भूषण रावत आज उत्तराखंड का 18 वां स्थापना दिवस है। राज्य गठन के इतने वर्षो के बाद भी बदलाव के बावजूद बहुत से सवालों पे उत्तराखंड की तमाम सरकारों का रुख शर्मनाक रहा है। उत्तराखंड प्रकृति की …

Read More »

सीबीआई में गैंगवार : सरदार पटेल के सपनों की एजेंसी को तहस-नहस कर रही है मोदी सरकार

सीबीआई में गैंगवार : सरदार पटेल के सपनों की एजेंसी को तहस-नहस कर रही है मोदी सरकार सीबीआई विवाद : उच्चतम न्यायालय समुचित व्यवस्था देकर भरोसा बहाल करे नई दिल्ली, 29 अक्तूबर। “केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के भीतर जो कुछ हुआ और हो रहा है, वह मध्यकाल में होने वाले षड्यंत्रों या गेंगवार की याद दिलाता है। राजनैतिक इस्तेमाल के …

Read More »

गटर में दिखता ‘विकास’ : हर पांचवे दिन गटर में मर रहा है एक सफाईकर्मी

गटर में दिखता ‘विकास’ : हर पांचवें दिन गटर में मर रहा है एक सफाईकर्मी विद्या भूषण रावत दिल्ली में कुछ दिनों पहले पांच सफाईकर्मियों की सेफ्टिक टैंक साफ़ करते हुए मौत हो गयी। उस एक हफ्ते में शायद ग्यारह से ज्यादा लोग सफाई के कार्य करते हुए शहीद हुए हैं, लेकिन मजाल क्या कि हमारे ‘स्वच्छ भारत’ के मालिक …

Read More »

भूपेश बघेल ने दी रमन सिंह को विकास और नज़रिए पर खुली बहस की चुनौती

भूपेश बघेल ने दी रमन सिंह को विकास और नज़रिए पर खुली बहस की चुनौती विकास का आपका नज़रिया आपको मुबारक रमन सिंह जी : भूपेश बघेल रायपुर/08 सितंबर 2018। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने मुख्यमंत्री रमन सिंह के बयान पर विकास की उनके नज़रिए पर सवाल उठाए हैं और चुनौती दी है कि वे किसी भी खुले मंच …

Read More »

न्यूनतम समर्थन मूल्य : घोषणा शरारतपूर्ण, चुनावी चालबाजी और किसानों के साथ धोखाधड़ी

न्यूनतम समर्थन मूल्य : घोषणा शरारतपूर्ण, चुनावी चालबाजी और किसानों के साथ धोखाधड़ी रायपुर, 06 जुलाई। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न फसलों के लिए की गई न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा को शरारतपूर्ण, चुनावी चालबाजी और किसानों के साथ धोखाधड़ी करार दिया है. माकपा ने कहा है कि इसके खिलाफ विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर वह किसानों …

Read More »

सेना में संसाधनों की कमी : राहुल गांधी ने साधा मोदी पर निशाना

नई दिल्ली, 05 जून। सशस्त्र सेनाओं में संसाधनों की कमी से संबंधित खबरों को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आज निशाना साधते हुए कहा कि उनके शासन में हालात यह हो गए हैं कि सैनिकों को खुद अपनी वर्दी और जूते खरीदने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया “देश …

Read More »

जुमलेबाजी से भरपूर खोखला बजट

जुमलेबाजी से भरपूर खोखला बजट आर्थिक सर्वेक्षण एवं बजट समीक्षा जब तक सरकार की नीतियाँ कोर्पोरेट्स के लिए ही बनी हुई हैं तब तक ऐसे किसी भी बजट से गाँव तथा किसान के जीवन पर कोई सीधा प्रभाव नहीं पड़ने वाला है आशुतोष राय       बजट केवल सरकार के वार्षिक आय व्यय का लेखा जोखा भर नहीं होता बल्कि एक …

Read More »

दक्षिण एशिया में जाति की समस्या और बाबा साहेब आंबेडकर

मज़हबी राज्यसत्ता कभी भी दलितों और वंचितों के साथ न्याय नहीं कर पायेगी विद्या भूषण रावत सर्वप्रथम मैं सर गंगा राम हेरिटेज फाउंडेशन का धन्यवाद करना चाहता हूँ कि उन्होंने बाबा साहेब आंबेडकर और जाति उन्मूलन कि सिद्धांत पर यहाँ ये कार्यक्रम आयोजित किया। लगभग 82 वर्ष पहले जात पात तोड़क मंडल, लाहौर ने डाक्टर आंबेडकर को जातियों का सम्पूर्ण …

Read More »

मोदी सरकार का दावा ! मनमोहन सिंह के कार्यकाल में गोदामों में खाद्यान्न सड़ने की ख़बरें थीं जुमलेबाजी !

नई दिल्ली। जब 2010 में कांग्रेस सरकार थी और डॉ. मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे तब देश भर में स्थित एफसीआई के गोदामों में बड़ी मात्रा में खाद्यान्न अनाज सड़ने की ख़बरें आई थीं। एक आरटीआई कानून के तहत इसका खुलासा हुआ था। इस साल पहली जनवरी को एफसीआई के गोदामों में 10,688 लाख टन अनाज सड़ा हुआ पाया गया। ख़बरें …

Read More »

जीत-हार के चुनावी सबक… नहीं चलेगी जुमलेबाजी

पी. के. खुराना हिमाचल प्रदेश और गुजरात के चुनाव अपने आप में अनोखे रहे। पहली बार ऐसा हुआ कि चुनाव के दौरान और चुनाव के बाद हम सबको गहराई से सोचने पर विवश किया। बहुत से विश्लेषण हुए और विद्वजनों ने अपनी-अपनी राय रखी। सच तो यह है कि हिमाचल प्रदेश और गुजरात विधानसभा के चुनाव परिणामों में मतदाताओं ने …

Read More »

जुमलेबाजी की सरकार ने देश को मंदी में धकेला : बादल सरोज

सीपीआई(एम) का 22वां दो दिवसीय जिला सम्मेलन शुरू लखनऊ। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) की 22 वें जिला सम्मेलन के अवसर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसका विषय था ‘जुमलेबाजी की सरकार और जनता के बुनियादी सवाल’। संगोष्ठी को मुख्य वक्ता के रूप में सीपीआई(एम) के केन्द्रीय कमेटी सदस्य कामरेड बादल सरोज ने संबोधित किया। कामरेड बादल सरोज ने …

Read More »

मनरेगा मजदूरी से जीएसटी काटने वाले पहले पीएम बने मोदी

जब छत्तीसगढ़ सूखे और कृषि संकट से जूझ रहा है, किसान आत्महत्या और पलायन कर रहे हैं और रमन-मोदी सरकार केवल ‘जुमलेबाजी’ कर रही है मनरेगा मजदूरी से जीएसटी काटने का फैसला वापस ले केंद्र सरकार –- माकपा रायपुर। मार्क्सवादी मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने मनरेगा मजदूरी से जीएसटी काटे जाने के केंद्र सरकार के आदेश की तीखी निंदा की है …

Read More »

तीन साल, गंगा बदहाल : राजनीति ज्यादा, आस्था कम

अरुण तिवारी कहते हैं कि प्रधानमंत्री श्री मोदी जी जब बोलते हैं, तो उनकी बोली में संकल्प दिखाई देता है। गंगा को लेकर कहे उनके शब्दों को सामने रखें। स्वयं से सवाल पूछें कि गंगा को लेकर यह बात कितनी सत्य है ? गौर कीजिए कि मोदी जी ने इस संकल्प की पूर्ति के लिए जल मंत्रालय के साथ 'गंगा …

Read More »

हे राम! यह सैन्य राष्ट्र में कारपोरेट नरबलि का समय !

#AyodhyaBack #Beefgate #MilitaryState पलाश विश्वास हम इसे कतई देख नहीं पा रहे हैं कि भारत की आजादी के लिए लड़ने वाले और अपनी जान कुर्बान करने वाले हमारे पूर्वजों के सपनों का भारत कैसे ब्रिटिश हुकूमत के औपनिवेशिक दमन उत्पीड़न के मुकाबले समता और न्याय के खिलाफ, नागरिक मानवाधिकारों के खिलाफ, मनुष्य और प्रकृति के खिलाफ होता जा रहा है। …

Read More »

जुमलेबाजी के तीन साल : जश्न के शोर में कहीं सच फिर से दब न जाए?

बशिष्ठ नारायण सिंह केंद्र सरकार अपने कार्यकाल का तीन साल पूरा करने जा रही हैं। भारतीय जनता ने जिस उम्मीद और आकांक्षा के साथ भारतीय जनता पार्टी को सत्ता सौंपी थी,आज जरूरत है कि इस संदर्भ में सरकार के क्रिया-कलाप,कार्य-शैली और उपलब्धियों का मूल्यांकन हो। 'लोकतन्त्र' का दायित्व केवल सत्ता में जन भागीदारी मात्र तक नहीं है,वरन सत्ता की नाकामियों …

Read More »

नोटबंदी का अगर कोई सच है, तो वह है गरीब जनता की तबाही

गरीबपरस्ती का स्वांग, अमीरपरस्ती का काम नोटबंदी का अगर कोई सच है, तो वह है गरीब जनता की तबाही 0 राजेंद्र शर्मा नोटबंदी की प्रधानमंत्री द्वारा घोषित पचास दिन की अवधि के आखिर तक आते-आते, इसके बड़े पैसे वालों के खिलाफ किसी तरह का हमला होने का मुखौटा भी आखिरकार पूरी तरह से उतर गया है। बेशक, अपने इस विनाशकारी …

Read More »

संघ का लाठीधारी देशभक्त, बैंकों में लाठी खाकर जान देने वाला देशद्रोही ?

संघ का लाठीधारी देशभक्त, बैंकों में लाठी खाकर जान देने वाला देशद्रोही ? मो. हफीज पठान क्या अजब तमाशा इन दिनों देश में संघ की शाखा में लाठी भांजने वालों ने कर रखा है ! भाई भक्त हो तो ऐसा लाठीबाज जिन्हें आज तक देशवासियों की दुर्दशा का नजारा ही नहीं किया है। खुली आँखों से दिखने वाले नजारे भी …

Read More »

मोदी की जुमलेबाजी नहीं चलने वाली, जो धन्नासेठों का संरक्षक व हितैषी है वह व्यक्ति फकीर कैसे हो सकता है?

मोदी की जुमलेबाजी नहीं चलने वाली, जो धन्नासेठों का संरक्षक व हितैषी है वह व्यक्ति फकीर कैसे हो सकता है? लखनऊ 03 दिसंबर। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष, सांसद (राज्यसभा) व पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश सुश्री मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बलते हुए कहा है कि जो व्यक्ति बड़े-बड़े पूँजीपतियों व धन्नासेठों का संरक्षक व हितैषी है …

Read More »

हमें किसी सहारे की जरूरत नहीं, जो कमजोर हैं उन्हें चाहिए सहारा-मायावती

हमें किसी सहारे की जरूरत नहीं, जो कमजोर हैं उन्हें चाहिए सहारा-मायावती यूपी में कामयाब नहीं होगा महागठबंधन: मायावती लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन की कवायद में जुटी समाजवादी पार्टी और कांग्रेस को बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने आड़े हाथों लेते हुए कहा है हमारी पार्टी को किसी सहारे की जरूरत नहीं, जो कमजोर होते …

Read More »

मुझे प्रधानमंत्री बना दो, चाय भी बनाता हूं, हर नागरिक के खाते में 25-25 लाख रुपये भिजवा दूंगा-आजम खां

आजम खां बोले-मुझे प्रधानमंत्री बना दो, चाय भी बनाता हूं, देश के हर नागरिक के खाते में 25-25 लाख रुपये भिजवा दूंगा नई दिल्ली, 18 अक्टूबर। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आज़म खां ने एक बार फिर नाम लिए बिना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा है “भाई मुझे चाय बनानी आती है और तो और मुझे …

Read More »

भारत-पाक तनाव : किसके हाथों खेल रहे हैं मोदी

भारत-पाक तनाव :  किसके हाथों खेल रहे हैं मोदी मनोज कुमार झा भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव लगातार बढ़ता ही चला जा रहा है और लगता है कि किसी छोटे-मोटे युद्ध की परिस्थितियाँ बन रही हैं। अगर युद्ध होता है तो यह दोनों देशों के शासकों के लिए संजीवनी का काम करेगा। पाकिस्तान के साथ भारत के रिश्ते कभी …

Read More »

क्यों मोदी जी? अब अराजकता बनेगा सत्ता का हथियार!

अराजकता बनेगा सत्ता का हथियार!  महेंद्र मिश्र क्या कोई शासक अपने राज में अराजकता चाहता है? पहली नज़र में इस सवाल का उत्तर न है। लेकिन मोदी साहब दुनिया के शायद पहले शासक होंगे, जो चाहते हैं कि देश अराजकता की आग में डूब जाए। दरअसल इसके पीछे एक दूर की कौड़ी है। दो साल के शासन में क्या कभी …

Read More »

हिंदुत्व के आतंक का दौर

जब भी आप इन प्रश्नों का उत्तर ढूंढने का प्रयास करेंगे तो हमें एक अख़लाक़ की लाश मिलेगी मोदी के सत्ता सँभालने पर हिंदुत्व के महारथी अब खुलकर गालीगलौज पर उत्तर आये हैं  मुसलमान इस वक़त ब्राह्मणवाद को बचाने और बनाने के लिए सबसे बड़ा हथियार हैं। विद्या भूषण रावत उत्तर प्रदेश में पिछले बीस वर्षो में नोएडा सभी सरकारों …

Read More »

पूर्व सैनिकों के साथ भी जुमलेबाजी!

15 अगस्त के दिन जब हम सब आजादी की 69 वी वर्षगांठ के जश्न व जयकारों में मशगूल थे, उस वक्त देश के दो अहम हिस्सों में दो घटनाएं (एक ही बिरादरी के नागरिकों द्वारा) अंगड़ाई ले रही थीं, जो हो सकता है आजादी के जश्न में आपकी नजर से छुपी रह गई हों या जयकारों के बीच उनकी गूंज …

Read More »

सिर्फ ग्रेकस बदला है नीति नहीं…

पहली बार मोदी की अगुवाई में किसी राजनीतिक दल ने उजागर और घोषित रूप से पूंजीपतियों के लिए, पूंजीपतियों की मदद से चुनाव लड़ा 2014 के 16वीं लोकसभा के गठन के लिए हुए आम चुनाव से इस मामले में भिन्न हैं कि भारत में पहली बार किसी राजनीतिक दल ने उजागर और घोषित रूप से पूंजीपतियों के लिए, पूंजीपतियों की …

Read More »

दक्षिणपंथ की ओर “आप” ?

आप लीडरशिप ने पार्टी में सवाल उठाने वाले एक खेमे को पुरानी पार्टियों के उन्हीं तौर- तरीकों को और बेहतर तरीके से इस्तेमाल करते निपटाया है जिनकी वह आलोचना करके थकती नहीं थी। सारे दावे जुमलेबाजी और संभावनायें क्षीण साबित हुई हैं। जनता से स्वराज्य और सत्ता के विकेंद्रीकरण का वादा करने वाली पार्टी इन्हें अपने अन्दर ही स्थापित करने …

Read More »

क़िस्सा बादशाह के इत्र और जुमलेबाजी का

क़िस्सा बादशाह के इत्र और जुमलेबाजी का ”””””””””””””””””””””””””””’ एक बादशाह के दरबार में इत्रफरोश इत्र बेचने आया। उसने कई क़िस्म के इत्र बादशाह को दिखलाये। इत्र देखते बादशाह से एक शीशी फ़र्श पर गिर गई और इत्र छलक गया। बादशाह हुज़ूर ने इत्र की एक बूँद को उंगली से लगाकर मूँछों पर लगा लिया। सारे दरबारी हक्के बक्के। यह क्या …

Read More »

बर्बर पूँजीवादी लूट को छिपाने के लिये भ्रष्टाचार के मुद्दे का इस्तेमाल

‘आप’ के उभार के मायने-3 अभिनव सिन्हा ‘आप’ पूरी पूँजीवादी व्यवस्था को कभी कठघरे में खड़ा नहीं करती। केजरीवाल ने एक कॉरपोरेट घराने के ‘काम करने के तरीकों’ पर सवाल उठाना शुरू किया था, लेकिन इस मुद्दे पर जल्द ही वह चुप्पी साध गये। बाकी कॉरपोरेट घरानों पर केजरीवाल ने कभी मुँह तक नहीं खोला। उल्टे पूँजीपति वर्ग को भी वह …

Read More »

मौजूदा विधानसभा चुनाव- मुद्दे मुक़ामी, कहीं नहीं कोई लहर

शेष नारायण सिंह पाँच राज्यों में चल रहे विधानसभा चुनावों के नतीजे आठ दिसम्बर को आ जायेंगे और पता लग जायेगा कि मिजोरम, दिल्ली, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में किसी सरकारें बनेंगी, लेकिन इसी के साथ यह भी अँदाज़ लग जायेगा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में दोनों बड़ी पार्टियों में से किसका पलड़ा भारी पडेगा। मुख्य रूप से 2014 …

Read More »

राजनीति का हिंदुत्वीकरण या हिंदुत्व की राजनीति

विद्या भूषण रावत अंबेडकरवादी मानवाधिकार कार्यकर्ता हैं और देश के अहम सवालों पर बहुत साफ नज़र रखते हैं। अपने इस विचारोत्तेजक विश्लेषण में वह कह रहे हैं कि कांग्रेस आज की जरूरत है क्योंकि देश में दलित आदिवासियों मजदूरों की अभी कोई एक जुट आवाज नहीं दिखती जो हिंदुत्व को हरा सके। देश का यह कर्तव्य है कि हिंदुत्व की …

Read More »

चुनावी मोड में मोदी : अब उनकी गांठ में झूठ और कुछ और जुमलों के अलावा कुछ बचा नहीं

Election Mode Modi chunavi mod men Arun Maheshwari चुनावी मोड में मोदी : अब उनकी गांठ में झूठ और कुछ और जुमलों के अलावा कुछ बचा नहीं

चुनावी मोड में मोदी : अब उनकी गांठ में झूठ और कुछ और जुमलों के अलावा कुछ बचा नहीं ‘चुनावी मोड‘ में जनतंत्र-प्रेमियों का दायित्व —अरुण माहेश्वरी कल ही ‘एबीपी न्यूज‘ (ABP News) चैनल पर पुण्य प्रसून वाजपेयी (Punya Prasoon Bajpai) कह रहे थे — मोदी अब चुनावी मोड में आ चुके हैं। इसे सही रूप में कहा जाए तो …

Read More »

जिग्नेश मेवानी को राहुल गाँधी से बहुत कुछ सीखने की जरूरत, जिनके सकारात्मक रवैये से आज सरकार परेशान

21वीं सदी में अम्बेडकरवाद की जीत का उत्सव जिग्नेश मेवानी के भारी मतों से चुनाव जीतने पर दो तरह की अतिवादी प्रतिक्रियाये सामने आ रही हैं. एक जो उनके ऊपर बहुजन आन्दोलन को कमजोर करने के आरोप लगा रहे हे और दूसरे वो जो उनको सबसे बड़ा क्रन्तिकारी होने का सर्टिफिकेट बाँट रहे हे. हकीकत ये है कि भारत में …

Read More »

मोदी-शाह-भाजपा-आरएसएस चौकड़ी को जीवन भर याद रहेगा अगस्त का यह आखिरी हफ्ता

पिछले एक हफ्ते के सारे घटनाक्रम से ऐसा लगता है जैसे अब भारतीय राजनीति का यह ‘गाय, गोबर, गोमूत्र, बीफ, बाबावाद, लव जेहाद, लींचिग और ‘देशभक्ति’ के शोर के युग के सारे लक्षण बिल्कुल प्रकट रोग के रूप में सामने आने लगे हैं और राष्ट्र के अस्तित्व के लिये ही इनका यथाशीघ्र इलाज करना जरूरी ही नहीं शुरू भी हो …

Read More »

निरंकुश जनसंहार ही राष्ट्रवाद की नई संस्कृति, वतन सेना के हवाले! UP-बंगाल में भी हालात तेजी से कश्मीर जैसे बन रहे

Palash Biswas पलाश विश्वास पलाश विश्वास। लेखक वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं । आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की आवाज बनना ही पलाश विश्वास का परिचय है। हिंदी में पत्रकारिता करते हैं, अंग्रेजी के लोकप्रिय ब्लॉगर हैं। “अमेरिका से सावधान “उपन्यास के लेखक। अमर उजाला समेत कई अखबारों से होते हुए अब जनसत्ता कोलकाता में ठिकाना

किसी रक्षा मंत्री को सांसदों के खिलाफ, संसद के खिलाफ यह वक्तव्य शायद लोकतंत्र के इतिहास में बेनजीर है कि रक्षामंत्री जेटली ने कहा कि सैन्य समाधान, सैन्य अधिकारी ही मुहैया करवाते हैं। युद्ध जैसे क्षैत्र में आप हों तो स्थिति से कैसे निपटे, हमें अधिकारियों को निर्णय लेने की अनुपति देनी चाहिए।

Read More »